• Hindi News
  • Happylife
  • South Korea World's First Floating City; Check Out OCEANIX Busan Latest Images And Photos

PHOTOS में दुनिया की पहली फ्लोटिंग सिटी:दक्षिण कोरिया में पानी पर तैरते शहर में रहेंगे 1 लाख लोग, 2025 तक होगा तैयार

सियोल2 महीने पहले

पानी पर तैरते शहर के बारे में सुनकर भले ही आपको किसी साइंस-फिक्शन मूवी की याद आए, लेकिन दक्षिण कोरिया में यह एक हकीकत बनने वाला है। दरअसल, बुसान शहर के वैज्ञानिक संयुक्त राष्ट्र (UN) की मदद से इस शहर को खड़ा कर रहे हैं। उनका मानना है कि जल्द ही देश के तटीय क्षेत्रों के समुद्र में समा जाने की वजह से वहां के लोगों को बेघर होना पड़ सकता है।

OCEANIX बुसान नाम का यह प्रोजेक्ट पिछले साल लॉन्च हुआ था, हालांकि वैज्ञानिकों ने हाल ही में इसकी 3D डिजाइन तस्वीरें रिलीज की हैं।

पूरी खबर पढ़ने से पहले आप पोल में हिस्सा लेकर अपनी राय दे सकते हैं...

1,530 करोड़ रुपए में बनेगी फ्लोटिंग सिटी

जानकारी के मुताबिक, फ्लोटिंग सिटी 1,530 करोड़ रुपए में बनकर 2025 तक तैयार हो जाएगी। ये कुल 15.5 एकड़ के एरिया को कवर करेगी। शुरुआत में यहां 12 हजार लोग आराम से रह सकेंगे। इसके बाद शहर को 1 लाख लोगों के रहने लायक बनाया जाएगा। अमेरिकी कंपनी OCEANIX के CEO फिलिप हॉफमैन का कहना है कि समुद्र में पानी का स्तर बढ़ने के बावजूद हम तटीय शहरों में कैसे रह सकते हैं, तैरता हुआ यह शहर इस बात का सबसे अच्छा उदाहरण बनेगा।

7 मंजिला इमारतों तक सीमित होगा शहर

फ्लोटिंग सिटी सुंदर नीले पानी के ऊपर बनाई जाएगी। यह प्लेटफॉर्म और पुलों की मदद से कनेक्टेड रहेगी। कंपनी का कहना है कि इस शहर को कई मोहल्लों में बांटा जाएगा, जिनमें रहने, रिसर्च करने और अस्थाई आवास शामिल होंगे। शहर की सभी इमारतें 7 मंजिल तक ही सीमित होंगी, ताकि उन पर ग्रैविटी और हवा का ज्यादा असर न हो।

वैज्ञानिकों ने क्लाइमेट चेंज का खास ख्याल रखा

बिजनेस इनसाइडर की रिपोर्ट के अनुसार, शहर के हर आइलैंड की कोटिंग कंक्रीट की जगह चूने से की जाएगी, क्योंकि यह कंक्रीट से 3 गुना मजबूत होता है। वहीं प्लेटफॉर्म्स के नीचे जालियां लगाई जाएंगी, जो सीफूड रखने के काम आएंगी। साथ ही, मछलियों के वेस्ट से पेड़-पौधों को फर्टिलाइज किया जाएगा।

OCEANIX का कहना है कि यहां रहने वाले लोगों को मुख्य रूप से प्लांट बेस्ड डाइट ही लेनी होगी। इससे स्पेस, एनर्जी और पानी के संसाधनों पर दबाव कम पड़ेगा। इसके अलावा वैज्ञानिक यहां की जीवनशैली में जीरो वेस्ट और नेट जीरो एनर्जी सिस्टम्स भी शामिल करेंगे। इस शहर में रहने के लिए नागरिकों को कितना पैसा देना होगा, इसके बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है।

समुद्र में बढ़ता जलस्तर करेगा लाखों को बेघर

OCEANIX के मुताबिक, आज दुनिया में हर 5 में से 2 लोग समुद्र तट से 100 किलोमीटर की दूरी पर रहते हैं। ऐसे में उन पर जलस्तर बढ़ने की वजह से बाढ़ आने और बेघर होने का खतरा मंडरा रहा है। प्रोजेक्ट में शामिल आर्किटेक्ट बजर्के इंगल्स कहते हैं कि OCEANIX की फ्लोटिंग सिटी ऐसी कम्युनिटीज के लोगों को रहने की जगह देगी, जो सबसे पहले क्लाइमेट चेंज का असर झेलने वाले हैं।

खबरें और भी हैं...