पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

याद्दाश्त बढ़ाने वाला वर्कआउट:मेमोरी लॉस का खतरा घटाना है तो रोज करें स्क्वाट एक्सरसाइज, यह ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाकर दिमाग के काम करने की क्षमता बढ़ाती है

12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ब्रिटेन की साउथ वेल्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का दावा

एक्सरसाइज दिमाग के लिए दवा से कम नहीं है। ब्रिटेन की साउथ वेल्स यूनिवर्सिटी के प्रो. डेमियन एम बेली ने अपनी हालिया रिसर्च में इसे साबित भी किया है। प्रो. डोमियन कहते हैं, स्क्वाट एक्सरसाइज अल्जाइमर यानी घटती मेमोरी के खतरे को काफी कम कर दिमाग के काम करने की क्षमता को बढ़ाती है।

ऐसे करें स्क्वाट

  • पैरों को एक से डेढ़ फीट की दूरी पर रखते हुए सीधे खड़े हो जाएं। अब दोनों हाथों को सीने के सामने की तरफ कर लें।
  • एड़ियों पर जोर देते हुए हिप्स को नीचे ले जाएं जब तक की ये फर्श के समानांतर न हो जाएं।
  • अब वापस से सीधे खड़े हो जाएं। बेहतर स्क्वाट के लिए डंबल का उपयोग कर सकते हैं।
  • इसे तीन से पांच मिनट तक दोहराएं।
  • सप्ताह में तीन दिन तीन से पांच मिनट स्क्वाट करने से मस्तिष्क पर काफी अच्छा असर पड़ता है।

ऐसे काम करती है एक्सरसाइज
याद्दाश्त और सीखने की क्षमता बढ़ने या घटने के लिए मस्तिष्क का हिस्सा हिप्पोकैम्पस जिम्मेदार होता है। उम्र बढ़ने के साथ यह सिकुड़ता है, जिससे इसमें रक्त प्रवाह घटने लगता है। स्क्वाट से इस हिस्से में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है।

  • स्क्वाट के 4 बड़े फायदे

बॉडी पॉश्चर सुधरता है
ह्यूमन जर्नल काइनेटिक्स में पब्लिश रिसर्च कहती है, रीढ़ की हड्डी और बॉडी पॉश्चर को सुधारने में स्कवाट प्लैंक वर्कआउट के मुकाबले 4 गुना ज्यादा असरदार है। यह शरीर के ऊपरी हिस्से के साथ पैरों को भी मजबूत बनाता है।

हड्डियों को मजबूत बनाता है
स्क्वाट बोन डेंसिटी बढ़ाने के साथ इसे स्ट्रॉन्ग बनाता है। एक रिसर्च के मुताबिक, ऑस्टियोपोरोसिस से जूझने वाली महिलाओं से 12 हफ्ते तक यह एक्सरसाइज कराई गई। रिपोर्ट में इनकी बोन डेंसिटी 2.9 फीसदी बढ़ी हुई पाई गई।

मांसपेशियां स्ट्रॉन्ग होती हैं
शरीर के मांसपेशियों के मजबूत करने के लिए स्क्वॉट बेहतर वर्कआउट है। इससे पैरों के साथ-साथ पूरे शरीर की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है। स्क्वॉट करने के दौरान टेस्‍टोस्‍टेरॉन हार्मोन रिलीज होता है जो शरीर के विकास के लिए जरूरी है।

चर्बी घटती है
स्क्वाट करने से पैर, कमर, पेट, हिप्स की चर्बी घटती है और ये शेप में आते हैं। रोजाना स्कवाट करते हैं तो 600 कैलोरी तक कम कर सकते हैं। इसकी शुरुआत करें तो एक्सपर्ट की देखरेख में ही करें।

खबरें और भी हैं...