• Hindi News
  • Happylife
  • Woman Obsessed With The Color Pink Surrounds Herself With Her Favorite Color Yasmin Charlotte

पिंक रंग में रंगी जिंदगी:स्विटजरलैंड की यास्मीन को पिंक इतना पसंद आया कि कपड़े, घर जूते सब कुछ इसी रंग में रंग दिया, 20 साल से दूसरे रंग के कपड़े नहीं पहने

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • यास्मीन पेशे से एक टीचर हैं और इनके स्टूडेंटस इन्हें मिस पिंक बुलाते हैं
  • अपनी तस्वीरों और लाइफस्टाइल के कारण यास्मीन सोशल मीडिया पर छाई रहती हैं

स्विटजरलैंड की यास्मीन को पिंक कलर इतना पसंद है कि कपड़े, घर, जूते सब कुछ इसी रंग में रंग दिया। यास्मीन पेशे से एक टीचर हैं और स्टूडेंट्स़ उन्हें मिस पिंक बुलाते हैं। अपनी तस्वीरों और लाइफस्टाइल के कारण वह सोशल मीडिया पर छाई रहती हैं।

32 वर्ष की यास्मीन चार्लेट का कहना है कि दुनिया में वे अकेली ऐसी महिला नहीं हैं जो एक ही रंग पसंद करती हैं। कुछ महिलाएं दुनिया में विशेष रंग के कारण ही फेमस हुई हैं।

बचपन से है पसंद
ऐसा नहीं कि दूसरों को देख यास्मीन ने खुद को 'पिंकी' बनाया। जब वह 12 साल की थीं, तब मां ने गुलाबी कार्डिगन और कुछ पतलून खरीदीं। 13 साल की उम्र तक यास्मीन को पिंक कलर और पसंद आने लगा। उम्र बढ़ने के साथ-साथ पिंक के प्रति दीवानगी बढ़ती गई।

16 साल की उम्र से कलेक्शन बनाया
यास्मीन जब 16 साल की हुईं तो पिंक कलेक्शन बनाना शुरू किया। जब मंगेतर के साथ रहने लगीं तो उन्हें भी यास्मीन के पिंकी होने से ऐतराज नहीं था। शादी के बाद यास्मीन के पास पिंक का कलेक्शन और ज्यादा बढ़ा।

सजाया गुलाबी स्वर्ग
2019 में यास्मीन ने खुद का फ्लैट खरीदा और पति के साथ अपना गुलाबी स्वर्ग बनाया। फ्लैट में दीवारें, पर्दे, फर्नीचर, होम डेकोरेशन आइटम, बेडरूम, तौलिए से लेकर क्रॉकरी तक हर चीज का रंग पिंक है। यास्मीन के पास 100 से अधिक गुलाबी शेड्स के शूज की एक पूरी अलमारी है।

खुद से अपने कपड़े डिजाइन किए
टीचर बनने से बनने से पहले यास्मीन ड्रेसमेकर रह चुकी हैं। कुछ कपड़े खुद से डिजाइन किए और ज्यादातर ऑनलाइन खरीदे। 20 सालों से गुलाबी के अलावा दूसरा कलर नहीं पहना।

यास्मीन के मुताबिक, उनकी अलमारियां पिंक शेड्स वाली ड्रेसेस से भरी हैं। स्कूल में भी मुझे पिंक पहनने से कोई रोकता नहीं है। उनके स्टूडेंट उन्हें मिस पिंक कहकर बुलाते हैं। किसी गमी में जाना हो तो उसके अनुसार कपड़े उधार ले लेती हैं।

खबरें और भी हैं...