• Hindi News
  • Haryana News
  • Adampur
  • पेमेंट सीधे किसानों के खाते में डालने, पार्षद को धमकी देने के विरोध में बोली बंद कर हड़ताल पर बैठे व्यापारी
--Advertisement--

पेमेंट सीधे किसानों के खाते में डालने, पार्षद को धमकी देने के विरोध में बोली बंद कर हड़ताल पर बैठे व्यापारी

भास्कर न्यूज | मंडी आदमपुर सिटी सरकार द्वारा गेहूं का भुगतान सीधा किसानों के खाते में करने एवं जिला पार्षद...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:10 AM IST
पेमेंट सीधे किसानों के खाते में डालने, पार्षद को धमकी देने के विरोध में बोली बंद कर हड़ताल पर बैठे व्यापारी
भास्कर न्यूज | मंडी आदमपुर सिटी

सरकार द्वारा गेहूं का भुगतान सीधा किसानों के खाते में करने एवं जिला पार्षद व्यापारी को जान से मारने की धमकी देने के विरोध में सोमवार को व्यापारियों ने मंडी में बोली बंद कर हड़ताल पर बैठ गए।

व्यापार मंडल के बैनर तले शुरू की गई अनिश्चितकालीन हड़ताल का नेतृत्व व्यापार मंडल के प्रधान लीलाधर गर्ग ने किया। सोमवार सुबह सभी व्यापारी अनाज मंडी के शेड के नीचे इकट्ठे हुए और उसके बाद प्रधान के नेतृत्व में अनाज मंडी में जुलूस निकाल कर रोष जताया और सभी व्यापारियों से अपने अपने प्रतिष्ठान बंद रखने की अपील करते हुए अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए। धरने को संबोधित करते हुए व्यापार मंडल के प्रधान लीलाधर ने कहा कि सरकार नित नए-नए कानून बनाकर व्यापारियों को परेशान कर रही हैं।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी व जीएसटी के कारण पहले ही व्यापार मंदी की मार झेल रहे हैं ऊपर से सरकार के व्यापारी विरोधी नियम लागूकर जले पर नमक छिड़कने का काम किया हैं। गर्ग ने कहा कि सरकार किसान और व्यापारी का वर्षों पुराना आपसी भाईचारा समाप्त करने पर तुली हुई हैं, लेकिन व्यापारी वर्ग इस भाईचारे को खत्म नहीं होने देगा। व्यापारियों ने हड़ताल की सूचना व अपनी मांगो का एक मांग पत्र मुख्यमंत्री के नाम मार्केट कमेटी के सचिव जितेंद्र कुमार को भी सौंपा।

अनाज मंडी में व्यापारियों के धरने को समर्थन देने आए पूर्व मंत्री संपत सिंह।

व्यापारी और किसान के भाईचारे को समाप्त करने पर तुली सरकार : संपत सिंह

व्यापारियों को समर्थन देने पहुंचे पूर्व मंत्री प्रोफेसर संपत सिंह ने कहा कि किसान और व्यापारी का चोली दामन का साथ हैं। जब भी किसानों को किसी चीज की जरूरत होती हैं तो वह सीधा आढ़ती के पास आता हैं। लेकिन प्रदेश की नाकारा सरकार उस आपसी प्रेम व भाईचारे को ही समाप्त करने पर तुली हुई हैं। उन्होंने व्यापारी रामप्रसाद को फूड सप्लाई इंस्पेक्टर द्वारा जान से मारने की धमकी देने की कड़े शब्दों में निंदा की व्यापारी को धमकी देने के मामले में जब व्यापारियों ने पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई न करने की बात पूर्व मंत्री को बताई तो उन्होंने जिला पुलिस उपाधिक्षक सिद्धार्थ ढांडा से बात की और दोषी इंस्पेक्टर के खिलाफ कार्रवाई करने व व्यापारी रामप्रसाद को सुरक्षा देने की बात कही।

सरकार ने मानी व्यापारियों की मांग: राजकुमार

व्यापार मंडल सचिव राजकुमार गोयल ने कहा कि किसानों के खाते में गेहूं खरीद की पेमेंट सीधे भेजने के फैसले को सरकार द्वारा वापस ले जाने पर व्यापारियों ने हड़ताल समाप्त कर दी। लेकिन जिला पार्षद व्यापारी को जान से मारने की धमकी देने के विरोध में धरना प्रदर्शन चलता रहेगा। जब तक पुलिस फूड सप्लाई इंस्पेक्टर के खिलाफ मामला दर्ज कर नहीं करती हैं तब तक विरोध जारी रहेगा।

X
पेमेंट सीधे किसानों के खाते में डालने, पार्षद को धमकी देने के विरोध में बोली बंद कर हड़ताल पर बैठे व्यापारी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..