Hindi News »Haryana »Alewa» रात को ही जलघर के ट्यूबवेल की बदल दी सबमर्सिबल मोटर

रात को ही जलघर के ट्यूबवेल की बदल दी सबमर्सिबल मोटर

थुआ गांव के ग्रामीणों द्वारा जलघर होते हुए भी गांव में पीने के पानी को लेकर छातर गांव में सीएम की सभा के दौरान...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 26, 2018, 02:05 AM IST

रात को ही जलघर के ट्यूबवेल की बदल दी सबमर्सिबल मोटर
थुआ गांव के ग्रामीणों द्वारा जलघर होते हुए भी गांव में पीने के पानी को लेकर छातर गांव में सीएम की सभा के दौरान महिलाओं द्वारा मटका फोड़ प्रर्दशन करने को लेकर जिला प्रसाशन को चेताने के बाद जलापूर्ति विभाग के उच्च अधिकारियों ने मामले में संज्ञान लिया। जलापूर्ति विभाग के उच्च अधिकारियों ने कर्मचारियों को तुरंत ग्रामीणों की पीने के पानी की समस्या का निवारण कराने के निर्देश दिए। विभाग के उच्च अधिकारियों की हिदायत के बाद कर्मचारियों ने गुरूवार देर रात को ही ट्रैक्टर वाली मशीन लेकर गांव पहुंचकर जलघर के बोर में खराब सबमर्सिबल मोटर को बदलने का कार्य शुरू किया गया। जलघर के टयूबवेल में खराब सबमर्सिबल मोटर को बदलकर पेजयल सप्लाई बहाल करा दी गई । लगभग तीन सप्ताह के बाद जलघर से पेजयल सप्लाई मिलने के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। ग्रामीणों ने बताया कि दैनिक भास्कर द्वारा मामले में संज्ञान लेने के बाद रात को ही जलापूर्ति विभाग के कई कर्मचारी मशीन लेकर गांव में आ गए थे। उन्होने रात को ही बल्ब आदि की व्यवस्था कर जलघर के ट्यूबवेल में खराब सबमर्सिबल मोटर को बदल दिया। ग्रामीणों द्वारा सुबह जागने के बाद पेयजल सप्लाई बहाल होने पर ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है।

अलेवा. रात को सबमर्सिबल की मोटर को बदलते जनस्वास्थ्य विभाग के कमर्चारी।

ये था मामला

थुआ गांव में जलघर होते हुए भी ग्रामीणों के समक्ष पिछले लगभग तीन सप्ताह से पेयजल संकट गहरा गया था। इससे परेशान गांव के लोगों ने जिला प्रशासन को चेताते हुए कहा था कि अगर पीने के पानी की समस्या का जल्द समाधान नही हुआ तो 26 मई को छातर गांव में सीएम के सामने गांव की महिलांए मटका फोड़ प्रर्दशन करने को मजबूर होगी। उन्होने कहा था कि ग्रामीण महिलाएं व पुरूष लगभग दो किलोमीटर की लंबी दूरी मापकर डाहौला माइनर से बुग्गियों में पानी लाने को विवश हैं। उनका दिन पानी लाने में ही बीत जाता था।

मोटर बदलवा दी गई है

थुआ गांव के लोगों की पीने की पानी की समस्या को लेकर महिलाओं द्वारा मटका फोड़ प्रर्दशन करने के मामले में विभाग के एसई को अवगत कराया गया था। विभाग के एसई ने नरवाना एक्सईएन को पीने के पानी की समस्या का निवारण कराने की हिदायत दी थी। कर्मचारियों ने ग्रामीणों की पीने के पानी की समस्या का समाधान कर दिया है। '' संजय शर्मा, एक्सइएन जलापूर्ति विभाग जींद।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Alewa

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×