--Advertisement--

38 लाख से हुआ रेस्ट हाउस का निर्माण

प्रदेश सरकार द्वारा अलेवा अनाज मंडी में फसल बेचने आने वाले किसानों को चाय, नाश्ते व आराम करने के लिए व्यापारियों...

Danik Bhaskar | Jul 02, 2018, 02:05 AM IST
प्रदेश सरकार द्वारा अलेवा अनाज मंडी में फसल बेचने आने वाले किसानों को चाय, नाश्ते व आराम करने के लिए व्यापारियों की दुकानों के भरोसे न रहकर मंडी में रेस्ट हाउस का निर्माण कराया गया है। सरकार ने किसानों की चाय नाश्ते की समस्या को देखते हुए अलेवा अनाज मंडी मे 38 लाख की लागत से कैंटीन, रेस्ट हाउस व महिला व पुरुषों के लिए शौचालयों का निर्माण कराया है। कैंटीन में किचन के अलावा डाइनिंग रूम भी बनाया गया है। सरकार ने कैंटीन व रेस्ट हाउस के निर्माण का कार्य खोखरी को-आॅपरेटिव सोसायटी के ठेकेदार को जून में सौंपा गया था। ठेकेदार द्वारा निर्माण कार्य समय अवधि के दौरान पूरा कर लिया गया है।

सोसायटी के ठेकेदार देवेंद्र जांगड़ा ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा अनाज मंडी में कैंटीन व रेस्ट हाउस के अलावा दो मंजिला शौचालय का निर्माण कराया गया है। सोसायटी के ठेकेदार ने बताया कि कैंटीन के ऊपर दूसरी मंजिल पर सरकार की हिदायत के अनुसार रेस्ट हाउस बनाया गया है।

इस रेस्ट हाउस में किसानों के आराम करने के लिए दो कमरे व साथ में बाथरूम बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि रेस्ट हाउस व कैंटीन के निर्माण के बाद अब किसानों को चाय, नाश्ता व आराम करने के लिए व्यापारियों की दुकानों का सहारा न लेकर कैंटीन मे ही चाय व नाश्ते की सुविधा मिल सकेगी। ठेकेदार द्वारा पानी की सुविधा के लिए टंकी आदि रखकर पाइप लाइन बिछवा दी गई है। शौचालय में टूंटी फिटिंग करा पानी का प्रबंध कर दिया गया है।

सरकार ने खोखरी को-आॅपरेटिव सोसायटी के ठेकेदार के माध्यम से समयावधि में कराया कार्य

अलेवा. अनाज मंडी में प्रदेश सरकार द्वारा ३८ लाख की लागत से बनाया गया रेस्ट हाउस व कैंटीन।