--Advertisement--

4 बदमाशों ने 10 दिन में 6 लूट की, काकौदा में मजदूर के चिल्लाने पर की थी हत्या

मजदूर दिलबाग उर्फ नंदी की हत्या करने वाले गिरोह ने 10 दिन में लूट की छह वारदातों को अंजाम दिया है।

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 04:23 AM IST

पानीपत. इसराना थाना क्षेत्र के काकौदा गांव में हुई मजदूर दिलबाग उर्फ नंदी की हत्या करने वाले गिरोह ने 10 दिन में लूट की छह वारदातों को अंजाम दिया है। नंदी से लूट करने के लिए ही गए थे, जब उससे रुपए छीने तो वह चिल्लाने लगा और भागने लगा। नीचे 10 श्रमिक सोए हुए थे। आरोपियों ने गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। गिरोह के 4 आरोपियों को सीआईए-वन ने शनिवार रात को गिरफ्तार किया। रविवार को न्यायालय में पेश कर हत्या में शामिल तीन आरोपियों को दो दिन की पुलिस रिमांड पर लिया गया। एक को जेल भेज दिया।


सीआईए-वन प्रभारी संदीप ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी धनसौली गांव निवासी 20 वर्षीय सुरेंद्र उर्फ सुंदरी, माहोली निवासी 20 वर्षीय सूरजभान, समालखा के सीताराम कॉलोनी निवासी विनोद उर्फ बौदा और पुगथला निवासी अनुज है। चारों ने मिलकर 10 दिन में हत्या सहित लूट की 6 वारदात की है। शनिवार रात को सूचना पुलिस ने भावना चौक से सुरेंद्र और विनोद को लूट की बाइक के साथ गिरफ्तार किया। बाद में सुरेंद्र और अनुज को काबू किया गया।
अनुज ने रची थी लूट की साजिश
नंदी का अनुज के घर पर आना जाना था। उसने नंदी के पास रुपए देख लिए थे, इसलिए सुरेंद्र और सूरजभान को बताया था। इसके बाद तीनों ने लूट की साजिश बनाई थी। तीनों शुक्रवार रात को लूट के लिए खेत पर बने फार्महाउस पर पहुंचे थे। नीचे सो रहे 10 मजदूरों को कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद पहली मंजिल पर जाकर नंदी से मारपीट करके 21 हजार रुपए लूटे और हत्या कर दी। इसके बाद आरोपियों ने बरसत रोड पर शराब ठेके पर लूटपाट कर दी। शराब ठेके पर लूट में दो हजार रुपए व पिस्तौल बरामद की गई है।


आठ माह पहले ही जेल से आया था आरोपी
गिरोह का सरगना सुरेंद्र है। उसके पर लूट और चोरी के दो मामले दर्ज हैं। आठ माह पहले ही वह जेल से बाहर आया था। वहीं सूरजभान पर आर्म्स एक्ट व मारपीट के दो मामले दर्ज हैं। विनोद भी चोरी के मामले में जेल जा चुका है। तीनों की जेल में मुलाकात हुई थी। बाहर आने पर तीनों ने मिलकर वारदात की। अनुज सरढाना गांव में नाई की दुकान चलाता था। सूरजभान की बहन की पुगथला में शादी हुई है। सूरजभान उसके पास कटिंग शेव का काम सीखने गया था तब से जान पहचान है।


इन वारदातों का खुलासा
1. सुरेंद्र, अनुज व सूरजभान ने 3 जनवरी काे करनाल के बरसत गांव के पास एक युवक से बाइक लूटी।
2. सुरेंद्र, अनुज व सूरजभान ने 3 जनवरी को असंध रोड पुलिस चौकी के पास सरस्वती ट्रेडर्स के मालिक सुभाष चंद बंसल पर पिस्तौल के बल पर 47 हजार रुपए लूटे।
3. सुरेंद्र व सूरजभान ने 7 जनवरी की रात को पचरंगा आचार के मालिक महेंद्र पर पिस्तौल तानकर लूट की कोशिश की।
4. सुरेंद्र व सूरजभान ने 7 जनवरी की रात को अमर भवन चौक के पास मिट्ठन स्वीट्स के मालिक प्रमोद कुमार पर पिस्तौल तानकर 32 हजार रुपए लूटे।
5. सुरेंद्र, सूरजभान व अनुज ने 12 जनवरी की को काकौदा में नंदी की हत्या कर 21 हजार रुपए लूटे।
6. सूरजभान, विनोद, सुरेंद्र ने शनिवार दोपहर को बरसत रोड पिस्तौल के बल पर शराब ठेका पर लूटपाट की।