--Advertisement--

दम घुटने से हुई थी प्रेमी- प्रेमिका की मौत, कार समेत जमीन से मिली थी दो शव

। पोस्टमार्टम के बाद शव फैमिली को सौंप दिए गए। दोनों के शवों का गांव के ही श्मशानघाट में अंतिम संस्कार किया गया।

Danik Bhaskar | Jan 23, 2018, 04:54 AM IST

यमुनानगर। गांव कोत्तरखाना गांव के रहने वाले नरेश और अंजू के शवों का मुलाना मेडिकल कॉलेज में पोस्टमार्टम कराया गया। दोनों की शुरुआती पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह दम घुटना आया है। हालांकि दोनों के शवों का बिसरा जांच के लिए भेजा गया है, ताकि मौत के हर पहलू की जांच हो सके। पोस्टमार्टम के बाद शव फैमिली को सौंप दिए गए। दोनों के शवों का गांव के ही श्मशानघाट में अंतिम संस्कार किया गया। गांव में पसरा अजीब सन्नाटा

- इस घटना के बाद गांव में अजीब का सन्नाटा छाया हुआ है। हर कोई इस घटना पर दुख जता रहा है।

- वहीं अंजू के बेटे का कहना है कि उन्हें इंसाफ नहीं मिला। उसकी मां को नरेश जबरदस्ती घर से उठाकर ले गया था।

- उधर, पुलिस का कहना है कि दोनों पक्षों में किसी ने कोई शिकायत नहीं दी और न ही कोई आरोप लगाया है। इस मामले में पुलिस ने 174 की कार्रवाई की है।


पुलिस मान रही एक्सीडेंट

- पुलिस के अनुसार यह एक हादसा है। अनुमान लगाया जा रहा है कि रात को दोनों कार में कहीं जा रहे होंगे और कार पुलिया से नीचे गिरकर दलदल में धंस गई होगी।

- रात का समय होने से किसी ने उन्हें नहीं देखा। जहां पर कार गिरी थी वहां पर गांव पिरथी का माजरा का गंदा पानी जमा होता है और काफी दलदल है।

यह है मामला

- गांव कोत्तरखाना के रहने वाले नरेश और अंजू के बीच प्रेम प्रसंग होने की बात कही जा रही है। - अंजू के बेटे ने पुलिस को शिकायत दी थी कि नरेश उसकी मां को जबरदस्ती ले गया था।

- सात अगस्त 2016 को वह लेकर आया था। इसके बाद उनका कुछ पता नहीं चला।

- शनिवार को नरेश की कार पिरथी का माजरा गांव के पास हाइवे किनारे दलदल में दबी मिली थी।

- जब कार खोली तो उसमें नरेश और अंजू के शव थे। नरेश के पास से मिले दस्तावेज और कार नंबर से दोनों की शिनाख्त हुई थी।