--Advertisement--

बदमाशों ने दंपती पर पिस्तौल तानकर की लूटपाट, रहम आने पर पिलाया पानी

एसडी कॉलेज पानीपत के रिटायर्ड प्रिंसिपल एमएल गुप्ता के घर में डकैती की घटना को अंजाम दिया है।

Danik Bhaskar | Jan 07, 2018, 07:21 AM IST

यमुनानगर. यहां हथियारबंद पांच बदमाशों ने एसडी कॉलेज पानीपत के रिटायर्ड प्रिंसिपल एमएल गुप्ता के घर में डकैती की घटना को अंजाम दिया है। रात करीब साढ़े तीन बजे बदमाश रसोई की खिड़की तोड़कर घर में घुसे। घर में एमएल गुप्ता और उनकी पत्नी रिटायर्ड वाइस प्रिंसिपल (तब खानपुर डिग्री कॉलेज, अब महिला विश्व विद्यालय) पत्नी कृष्णा गुप्ता ही थीं। बदमाशों ने दोनों पर पिस्तौल तान दी और हाथ बांध दिए। वहीं मुंह पर कपड़ा बांध दिया ताकि शोर न मचा सकें। बदमाश 20 मिनट तक घर में रहे और उन्होंने एक-एक कमरा खंगाला। घर से हजारों रुपए का कैश और ज्वेलरी लेकर फरार हो गए। बदमाश दंपती के मोबाइल भी ले गए, ताकि वे पुलिस को इसकी सूचना न दे सकें, लेकिन घर में लैंडलाइन फोन था, जिससे उन्होंने इसकी सूचना अपने दामाद और बेटी को दी। उन्होंने पुलिस को सूचित किया। इसके बाद मौके डीएसपी हेड क्वार्टर अनिल कुमार टीम के साथ पहुंचे। पुलिस ने केस दर्ज कर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है। मोबाइल महिला को उनकी बेटी ने पिछले माह जन्मदिन पर गिफ्ट किया था।

हार्ट का मरीज बताया तो दिखाया रहम
हथियारों के दम पर डकैती डालने घर में घुसे बदमाशों ने पहले तो बुजुर्ग दंपती को गोली मारने की धमकी। इससे जब दंपती डर गए। कृष्णा ने बदमाशों काे कहा कि उसके पति एमएल गुप्ता हार्ट के मरीज हैं। इस पर बदमाश डर गए और उन्होंने हमदर्दी दिखाते हुए दोनों बुजुर्ग दंपती को पानी पिलाया। बदमाशों ने एलएम गुप्ता के मुंह से कपड़ा भी हटा दिया, ताकि उन्हें सांस लेने में दिक्कत न आए। दंपती ने बताया कि घर में वे अकेले रहते हैं। उनके पास बेटा नहीं है। बेटी इसी कॉलोनी में रहती है। उनका कहना है कि नौ साल पहले वे पानीपत से यहां पर आकर रहने लगे थे।

अंगूठी नहीं निकली तो एक तेल लेकर निकालने लगा, दूसरा बोला काट दो
कृष्णा गुप्ता ने बताया कि उसने बदमाशों को सोने के कड़े, बालियां दे दी। इसी दौरान बदमाशों की नजर उसकी अंगुली में डली अंगूठी पर पड़ी। एक बदमाश ने उसे भी निकालने के लिए कहा, लेकिन वह कई सालों से पहनी होने की वजह से नहीं निकल पाई। इसी दौरान एक बदमाश तेल लेकर आया और अंगुली पर तेल डालकर अंगूठी निकालने लगा, लेकिन तब भी वह नहीं निकली। इसी दौरान दूसरे बदमाश ने अंगुली काटने की बात कही, लेकिन उसके साथियों ने उसे रोक दिया। दंपती का कहना है कि चार बदमाशों के पास पिस्तौल थी और एक के पास चाकू। चार पंजाबी बोल रहे थे और एक गांव की भाषा बोल रहा था।

पुलिस को शक- जेल में बंद बग्गा का हो सकता है वारदात में हाथ
बुजुर्ग महिला ने बताया कि बदमाशों ने उसकी पहनी सारी ज्वेलरी उतरवा ली। वहीं घर में रखा करीब 40 हजार रुपए का कैश उठा लिया। इसी दौरान बदमाश आपस में बात करने लगे। एक बदमाश बोला कि बग्गा ने तो यहां पर काफी पैसा और माल होने की बात कही थी, लेकिन यहां पर तो बहुत कम मिला। पुलिस को शक है कि एक दर्जन केस में नामजद और इन दिनों जेल में बंद हमीदा निवासी बग्गा का इसमें हाथ हो सकता है। शहर यमुनानगर थाना प्रभारी ओमप्रकाश का कहना है कि बग्गा से पूछताछ की जाएगी।

अंगूठी नहीं निकली तो एक तेल लेकर निकालने लगा, दूसरा बोला काट दो
कृष्णा गुप्ता ने बताया कि उसने बदमाशों को सोने के कड़े, बालियां दे दी। इसी दौरान बदमाशों की नजर उसकी अंगुली में डली अंगूठी पर पड़ी। एक बदमाश ने उसे भी निकालने के लिए कहा, लेकिन वह कई सालों से पहनी होने की वजह से नहीं निकल पाई। इसी दौरान एक बदमाश तेल लेकर आया और अंगुली पर तेल डालकर अंगूठी निकालने लगा, लेकिन तब भी वह नहीं निकली। इसी दौरान दूसरे बदमाश ने अंगुली काटने की बात कही, लेकिन उसके साथियों ने उसे रोक दिया। दंपती का कहना है कि चार बदमाशों के पास पिस्तौल थी और एक के पास चाकू। चार पंजाबी बोल रहे थे और एक गांव की भाषा बोल रहा था।

बदमाश खिड़की तोड़ रहे थे, सोचा हवा के कारण दरवाजा लग रहा है
बुजुर्ग महिला ने बताया कि वह रात करीब सवा तीन बजे वॉशरूम के लिए उठी। जैसे ही वॉशरूम से आकर बेड पर लेटी तो उसे दरवाजा की दीवार से लगने की आवाज आई। उसने सोचा कि ऊपर के कमरे का दरवाजा खुला होगा और हवा के कारण दीवार से लग रहा है। तभी पांच मिनट बाद पांच बदमाश कमरे में आ गए। बदमाश रसोई की खिड़की तोड़कर घर में घुसे थे।