• Hindi News
  • Haryana
  • Ambala
  • 4 माह में राज्य के स्कूलों में हिंसा, मर्डर और दुष्कर्म जैसी 35 वारदातें, सवालों में सुरक्षा
--Advertisement--

4 माह में राज्य के स्कूलों में हिंसा, मर्डर और दुष्कर्म जैसी 35 वारदातें, सवालों में सुरक्षा

भास्कर न्यूज | पानीपत/अम्बाला/राज्य के विभिन्न जिलों से हरियाणा में सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में सुरक्षा खुद...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:05 AM IST
4 माह में राज्य के स्कूलों में हिंसा, मर्डर और दुष्कर्म जैसी 35 वारदातें, सवालों में सुरक्षा
भास्कर न्यूज | पानीपत/अम्बाला/राज्य के विभिन्न जिलों से

हरियाणा में सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में सुरक्षा खुद सवालों में है। क्योंकि प्रदेश के स्कूलों में चार महीने में ही हिंसा, मर्डर और दुष्कर्म जैसी 35 वारदातें सामने आ चुकी हैं। हाल ही में छात्र द्वारा प्रिंसिपल की हत्या और अम्बाला के एक स्कूल में चाकू लेकर पहुंचने की लगातार दूसरी घटना ने स्कूल प्रबंधकों और अभिभावकों की चिंता बढ़ा दी है। ऐसे में स्कूलों में सुरक्षा व्यवस्था की जांच को लेकर जिला स्तर पर 3 कमेटियां गठित होने की 31 जनवरी डेडलाइन थी। भास्कर ने प्रदेश के जब स्कूलों का हाल जाना तो पाया कि डेडलाइन खत्म हो गई, ऐसे में सीसीटीवी कैमरा इंस्टालेशन तो दूर की बात रही। कई स्कूलों में कमेटियां तक नहीं बनी। 3690 स्कूलों में से केवल 777 स्कूलों में ही सीसीटीवी लगे मिले। इसके साथ ही केवल 2 फीसदी स्कूलों में ही कमेटियां बन सकी हैं।

वहीं एनसीआरबी द्वारा जारी आकड़ा बच्चों से अपराध के मामले में हरियाणा देश भर में सबसे पीछे रहा है। ऐसा पहली बार हुआ है जब एनसीआरबी ने आंकड़ा जुटाते वक्त पीड़ित का रिश्ता और रेप केस में संलिप्त आरोपी भी लिया है। प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन एगेंस्ट सेक्सुअल ऑफेंस एक्ट (पॉस्को) एक्ट के तहत क्राइम में निकट संबंधी ही सबसे जिम्मेदार नजर आए हैं।

प्रदेश में जिन स्कूलों ने सीसीटीवी लगाए हैं, वह उनका निजी प्रयास ही दिखा है। बच्चों की सुरक्षा से जुड़े मानकों को प्राइवेट स्कूलों द्वारा लागू नहीं किया जाता। स्कूल बस से लेकर ऑटो तक बच्चों की सुरक्षा से खिलवाड़ होता है। प्राइवेट स्कूल प्रिंसिपल का कहना है कि स्कूलों में समय पर बस ड्राइवर को जागरूक किया जाता है। स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे की व्यवस्था भी गई है। वहीं अम्बाला की डीईओ उमा शर्मा ने दावा किया कि सरकारी स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा के लिए कमेटी व सेफ्टी क्लब बना दिये हैं। पहले स्कूल स्तर पर शिकायत निपटाई जाएंगी।

भास्कर पड़ताल

न कमेटी बनी, न कैमरे लगे, डेडलाइन खत्म

बच्चों के साथ रेप

पड़ोसी ही सबसे बड़े िजम्मेदार

संबंध पॉस्को एक्ट प्रतिशत

4 व 6 में केस

पड़ोसी 3149 35.78

नियोक्ता/सहकर्मी 2227 25.30

दादा/पिता/भाई 138 1.56

नजदीकी संबंधी 210 2.38

रिश्तेदार 581 6.60

अन्य 2036 23.13

ज्यादातर दुष्कर्म केस परिवार व रिश्तेदारों द्वारा किए गए

बच्चों से ज्यादातर रेप के केस कार्यस्थल पर

55%

589

तमिलनाडु

24%

166

मध्यप्रदेश

22%

अन्य राज्यों में 500 से ज्यादा केस

49%

542

गुजरात

22%

233

कर्नाटक

312 उत्तर प्रदेश

169

कर्नाटक

पॉस्को एक्ट में क्राइम

154

उत्तर प्रदेश

राज्य बच्चों की जनसंख्या/ 1 लाख केस

मध्यप्रदेश 11.9 1480

छत्तीसगढ़ 11.6 1164

कर्नाटक 7.6 1560

ओड़िशा 6.8 1416

असम 6.1 731

महाराष्ट्र 5.6 1687

ह्यूमन ट्रैफिकिंग से ज्यादा चाइल्ड ट्रैफिकिंग

राज्य ह्यूमन ट्रैफिकिंग चाइल्ड ट्रैफ्रिकिंग %

पश्चिम बंगाल 1255 1119 89

असम 1494 1317 88

बिहार 381 332 87

हरियाणा 275 200 73

भारत में 6877 3490 51

स्रोत: राष्ट्रीय क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो, 2015

125

तमिलनाडु

449 बच्चों को बचाया गया। केवल 251 केस चाइल्ड लेबर एक्ट के तहत दर्ज हुए।

8800

दुष्कर्म के कुल केस

106

गुजरात

96

मध्यप्रदेश

स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लगाने को लेकर अभी तक नहीं उठाए कोई कदम

स्कूल

पानीपत

रोहतक

410 कुल सरकारी स्कूल व 400 निजी स्कूल

सिरसा

भिवानी

743 कुल सरकारी स्कूल हैं जिले में

फतेहाबाद

अम्बाला

50 स्कूलों ने सेफ्टी क्लब बनाने की सूची प्रशासन को दी

422 कुल सरकारी स्कूल व 500 निजी स्कूल हैं

प्राइवेट स्कूलों में सेफ्टी क्लब बने, क्रियान्वित नहीं हुए

स्कूल प्रबंधन कमेटी बनी, इसलिए सेफ्टी क्लब का गठन नहीं

844 कुल सरकारी स्कूल हैं जिले में

स्कूल प्रबंधन समिति या स्कूल मॉनीटरिंग कमेटी का गठन

525 कुल सरकारी स्कूल हैं जिले में

256 कुल स्कूल हैं जिले में

21.06%

सेफ्टी क्लब व कमेटी को लेकर अभी तक यहां कुछ स्पष्ट नहीं

यहां पर केवल दिखावे के लिए बने हैं सेफ्टी क्लब

स्कूलों में ही लगे कैमरे

सीसीटीवी

10 जगह सरकारी व 280 निजी स्कूल में सीसीटीवी कैमरे लगे

41 जगह सरकारी व 360 निजी स्कूल में सीसीटीवी लगे

45 जगह सरकारी स्कूल में सीसीटीवी कैमरे लगे

किसी भी सरकारी स्कूल में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे

26जगह सरकारी स्कूल में सीसीटीवी कैमरे लगे

56स्कूल में सीसीटीवी कैमरे

20%

स्कूलों ने बनाई कमेटियां

X
4 माह में राज्य के स्कूलों में हिंसा, मर्डर और दुष्कर्म जैसी 35 वारदातें, सवालों में सुरक्षा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..