Hindi News »Haryana »Ambala» जेल में बैठे-बैठे दंपती ने नशा बेचकर बनाई करोड़ों की प्रॉपर्टी

जेल में बैठे-बैठे दंपती ने नशा बेचकर बनाई करोड़ों की प्रॉपर्टी

भास्कर न्यूज | अम्बाला/मोहाली अम्बाला पुलिस की सजायाफ्ता कैदी शालीमार कॉलोनी निवासी स्वीटी से माेहाली पुलिस ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 03, 2018, 02:05 AM IST

भास्कर न्यूज | अम्बाला/मोहाली

अम्बाला पुलिस की सजायाफ्ता कैदी शालीमार कॉलोनी निवासी स्वीटी से माेहाली पुलिस ने पूछताछ में बड़ा खुलासा किया। स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) ने उसके अम्बाला जैन कॉलेज रोड स्थित एसबीआई के लॉकर तक खंगाल डाले, इसमें जांच टीम को 117 ग्राम अफीम, 707.47 ग्राम सोने के आभूषण और बिस्किट, 1 लाख 91 हजार 331 रुपए और 12 प्रॉपर्टियों की रजिस्ट्रियां समेत बयाने के दस्तावेज मिले हैं। इसे पुलिस ने सील कर केस के साथ अटैच कर दिया है। सभी प्रॉपर्टी तस्कर दंपती के नाम हैं।

अम्बाला सिटी की शालीमार कॉलोनी में रहने वाली स्वीटी की मोहाली पुलिस को लंबे समय से तलाश थी। वहां की स्पेशल टॉस्क फोर्स ने 6 दिसंबर को इसे 327 ग्राम हेरोइन समेत काबू किया, जिसे कोर्ट कार्रवाई के बाद जेल भेज दिया था। अब दोबारा प्रोडक्शन वारंट लगाकर रिमांड पर लिया, क्योंकि पुलिस उसके अम्बाला सिटी जैन कॉलेज रोड स्थित एसबीआई के लॉकर तक पहुंचना चाहती थी, लेकिन स्वीटी ने चाबी गुम होने की बात कही। पुलिस को लॉकर तुड़वाना पड़ा। करीब 3 घंटे तक चली कार्रवाई के दौरान टीम को लॉकर से अफीम समेत काफी सामान बरामद हुआ। पुलिस का कहना है कि स्वीटी इतनी शातिर थी कि जब भी वह अम्बाला से मोहाली या चंडीगढ़ आती थी तो हमेशा अपने पास हेरोइन रखती थी, मगर वह किसी को दिखती नहीं थी, क्योंकि स्वीटी उसे शरीर के सेंसिटिव पार्ट में पुड़िया बनाकर बांध लेती थी।

बताना जरूरी है कि स्वीटी पर अम्बाला में एनडीपीएस के कई मुकदमे दर्ज हैं। एक में उसे तीन साल की सजा भी हो चुकी है। एसआई हरभजन सिंह ने स्वीटी को दोबारा कोर्ट में पेश किया। उसके लॉकर से मिली अफीम व अन्य सामान कोर्ट में पेश किया गया। साथ ही याचिका दायर कर कहा कि इनकी तमाम प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्त पर रोक लगाई जाए।

सजायाफ्ता स्वीटी के एसबीआई ब्रांच के लॉकर से 117 ग्राम अफीम, 4 करोड़ की 12 प्रॉपर्टी के दस्तावेज बरामद

जेल से ही मामू और बलदेव ने शुरू कराया धंधा

स्वीटी के पति बलदेव पर अम्बाला व पंजाब में एनडीपीएस के कई मामले दर्ज हैं। एक में उसे 10 साल की सजा हो चुकी है। जेल में बंदी रहते हुए बलदेव की मुलाकात मनोज उर्फ मामू से हुई जो मोहाली में हेरोइन समेत पकड़ा था। दोनों ने जेल में बैठकर कारोबार को आगे बढ़ाने का फैसला लिया। मामू दिल्ली में बैठे नाइजीरियन से हेरोइन मंगवाता है। फिर इसे दिल्ली बाईपास पर स्वीटी के हवाले कर दिया जाता है, जिसकी पेमेंट स्वीटी का साथी धनौर निवासी गुरप्रीत करता है।

पुलिस गिरफ्त में आरोपी स्वीटी।

लॉकर तोड़ने के लिए बुलाया एक्सपर्ट

करीब पौने चार बजे पुलिस आई थी। तीन घंटे तक यह कार्रवाई चली। लॉकर की चाबी नहीं थी, इसलिए उसे चंडीगढ़ के एक्सपर्ट की मदद से तुड़वाना पड़ा। कोर्ट के आर्डर देखने के बाद ही यह कार्रवाई हुई। पुलिस सारा सामान अपने साथ ले गई है। -तरसेम सिंह, मैनेजर, एसबीआई मंडी ब्रांच अम्बाला।

मामले में कई जानकारियां हाथ लगने के बाद स्वीटी को प्रोडक्शन वारंट लगाकर रिमांड पर लिया गया। लाॅकर तोड़ा तो उसमें से अफीम सहित अन्य सामान बरामद हुआ। अभी जांच चल रही है। राजिंद्र सिंह सोहल, एसपी, एसटीएफ मोहाली।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ambala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×