Hindi News »Haryana »Ambala» छठी कक्षा के विज्ञान प्रश्न पत्र पर मिले 8वीं के सामाजिक के प्रश्न व नक्शे, ई मेल से मंगवाया पेपर त

छठी कक्षा के विज्ञान प्रश्न पत्र पर मिले 8वीं के सामाजिक के प्रश्न व नक्शे, ई मेल से मंगवाया पेपर तो हुई परीक्षा

सरकारी स्कूलों में चल रही छठी कक्षा की मासिक आकलन परीक्षा में शिक्षा विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। विज्ञान...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 04:05 AM IST

सरकारी स्कूलों में चल रही छठी कक्षा की मासिक आकलन परीक्षा में शिक्षा विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। विज्ञान की परीक्षा के प्रश्न पत्र के दूसरे हिस्से पर सामाजिक के प्रश्न व नक्शे छाप दिए गए। इस प्रश्न पत्र को देख कर जहां विद्यार्थी बगले झांकते नजर आए, वहीं अध्यापकों के लिए भी यह परेशानी का सबब बन गया। शिक्षा विभाग के ई-मेल से आए प्रश्न पत्र के बाद प्रिंटआउट निकाल कर परीक्षा करवाई गई है। परीक्षा शुरू होते ही जैसे ही विद्यार्थियों ने प्रश्न को पलटा तो वह हक्के-बक्के रहे गए। दूसरी तरफ सामाजिक के प्रश्न लिखे हुए थे और भारत का नक्शा छपा हुआ था। दिलचस्प बात यह भी है कि सामाजिक के यह प्रश्न भी छठी कक्षा के नहीं हैं। प्रश्न पत्र से 13 प्रश्न गायब देखकर अध्यापक भी सकते में आ गए। यह मामला सबसे बड़ा गांव के स्कूल से शुरू हुआ। स्कूल के मुख्य अध्यापक ने तुरंत दूसरे स्कूलों से संपर्क किया, वहां भी इसी तरह के हालात पाए गए। प्रश्नपत्र लगभग सभी विद्यार्थियों को बांटा जा चुका था। इसी दौरान विभाग के अधिकारियों को पूरे मामले की जानकारी दी गई। विभाग के अधिकारियों के आदेश पर 10 बजकर 15 मिनट पर प्रश्न पत्र विद्यार्थियों से वापस लिया गया। शहजादपुर के सरकारी स्कूल में कक्षा छठी के लिए मासिक पेपर जब बच्चों को वितरित किए गए तो बच्चे प्रश्न पत्र को देखकर इस बात से परेशान हो गए कि पहले पेज पर कक्षा छह के विज्ञान विषय के प्रश्न थे, वहीं दूसरे पेज पर 8वीं कक्षा के सामाजिक विषय के प्रश्न पत्र छपे हुए थे। जिस पर उन्होंने इसकी जानकारी अध्यापक व प्रधानाचार्य को दी। 6 कक्षा के 41 बच्चों ने एक घंटा परीक्षा देने के बाद उनसे दोबारा साढ़े ग्यारह बजे परीक्षा ली गई। प्रधानाचार्य रागनी शर्मा ने बताया कि इसकी जानकारी तुरंत शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों को दी गई। जिसके बाद उन्हें ई-मेल से प्रश्न पत्र मिला। फिर परीक्षा ली गई।

शहजादपुर में गलत प्रिंट हुआ प्रश्न पत्र दिखाते शिक्षक।

छठी कक्षा का साइंस का पेपर था। एक पेज पर साइंस के प्रश्न थे। दूसरे पेज पर सामाजिक के प्रश्न पत्र थे। इसे लेकर उन्होंने सभी बीईओ को पेपर ठीक कराने के लिए कहा था। पेपर को सही कराकर बच्चों की परीक्षा ली गई। गलत प्रश्न अंकित होने के बारे में एसईआरटी डायरेक्टर को अवगत कराया गया। रविंद्र अहलावादी, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी, अम्बाला।

जिला शिक्षा अधिकारी के आदेश पर दोबारा मासिक आकलन परीक्षा करवाई गई है। मेल के माध्यम से प्रश्न पत्र का दूसरा भाग स्कूलों को मिला है। रजनीश शर्मा, खंड शिक्षा अधिकारी नारायणगढ़।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ambala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×