Hindi News »Haryana News »Ambala» Father And Son Murder In Sirsal Village

परिवार की इज्जत के लिए समझौता न करते तो मेरा बेटा और सुहाग दोनों जिंदा होते

Bhaskar News | Last Modified - Nov 06, 2017, 08:16 AM IST

हरियाणा के कैथल जिले के सिरसल गांव में खेत से लौट रहे बाप-बेटे की पड़ोसी युवक ने चाकू से गोदकर हत्या कर दी।
  • परिवार की इज्जत के लिए समझौता न करते तो मेरा बेटा और सुहाग दोनों जिंदा होते
    +3और स्लाइड देखें
    बेटे और पति की मौत के बाद संतोष का रो- रोकर बुरा हाल हो रहा था।
    कैथल। हरियाणा के कैथल जिले के सिरसल गांव में खेत से लौट रहे बाप-बेटे की पड़ोसी युवक ने चाकू से गोदकर हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गया।पति और बेटे को खोने के बाद 52 साल संतोष को हर कोई दिलासा देता, पर वे खुद को काबू नहीं रख पाई और जुबान से दर्द छलकने लगा। संतोष बोली, ‘अगर वे 10 साल पहले बेटी को भगाने पर ही विक्रम के खिलाफ कदम उठाते तो आज उसे अपने बेटे और सिर से सुहाग न खोना पड़ता। हमारे बार-बार समझौते के कारण ही विक्रम के हौसले बुलंद हुए।’पड़ोसी ने दी थी मारपीट की झूठी कंप्लेन..
    - परिवार के लोगों ने बताया कि कई दिन पहले विक्रम ने दलीप व उसके परिवार की मारपीट करने की झूठी शिकायत पूंडरी थाने में दी थी।
    - रविवार को दोपहर करीब 12 बजे दोनों परिवार पूंडरी थाना में आए। उन्होंने करीब सवा दो बजे तक दोनों के बीच समझौता करवा दिया।
    - समझौते के करीब 3 घंटे बाद विक्रम ने हत्या की घटना को अंजाम दे दिया। इससे करीब डेढ़ महीने पहले भी दोनों परिवारों ने लड़ाई-झगड़े की शिकायतें पुलिस को दी थी। इसमें पुलिस ने क्रॉस केस करते हुए विक्रम व अंकित पर केस दर्ज किया था।
    आंखें में डाली मिर्च, छाती पर किए वार
    - परिजनों ने बताया कि उसके खेत गांव के नजदीक ही सरकारी स्कूल के साथ लगते हुए हैं। स्कूल के पास ही विक्रम का प्लॉट है। दोनों जब खेत में गए तो विक्रम अपनी तैयारी करके प्लाट में बैठा इंतजार कर रहा था।
    - खेत से दलीप व अंकित वापस आए तो उसने अचानक ही अपने प्लाट से बाहर निकालकर उसकी आंखों में मिर्च डाल दी और चाकू से दोनों की छाती पर कई वार किए।
    शोर सुनकर स्कूल से बाहर आए तो खून से लथपथ थे दोनों
    - पंच रिंकू ने बताया कि वे रोजाना की तरह शाम को सरकारी स्कूल में वालीबाल खेल रहे थे। करीब साढ़े 5 बजे उन्हें कुछ शोर सुनाया दिया।
    - शोर सुनने के बाद जब वालीबाल खेलने वाले करीब 20 युवक स्कूल से बाहर गए तो उन्होंने देखा कि उनके ही गांव का युवक विक्रम हाथ में खून लगा चाकू लेकर भाग रहा था और दलीप व उसका बेटा अंकित खून से लथपथ सड़क पर पड़े हुए थे।
    उनके पास ही बाइक पड़ी थी। घटना की सूचना उन्होंने घर वालों को दी। जो उन्हें अस्पताल ले गए।
    आगे की स्लाइड्स में देखें, खबर से रिलेटेड औऱ फोटोज
  • परिवार की इज्जत के लिए समझौता न करते तो मेरा बेटा और सुहाग दोनों जिंदा होते
    +3और स्लाइड देखें
    दोनों मृतको का सोमवार को पोस्टमार्टम कराया जाएगा।
  • परिवार की इज्जत के लिए समझौता न करते तो मेरा बेटा और सुहाग दोनों जिंदा होते
    +3और स्लाइड देखें
  • परिवार की इज्जत के लिए समझौता न करते तो मेरा बेटा और सुहाग दोनों जिंदा होते
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Father And Son Murder In Sirsal Village
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Ambala

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×