--Advertisement--

जींद में सैनी की रैली का विरोध, पथराव और लाठीचार्ज के बाद 13 जिलों में नेट बंद

26 को सांसद सैनी की है रैली और यशपाल मलिक करेंगे कौशल विकास केंद्र का भूमि पूजन।

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 06:19 AM IST

जींद(अंबाला)। 26 नंबवर को जींद में राजकुमार सैनी और रोहतक के जसिया में जाट नेता यशपाल मलिक की रैली को लेकर हंगामा खड़ा हो गया है। शुक्रवार सांसद सैनी की रैली का विरोध कर रहे आजाद किसान मिशन के संदीप भारती के नेतृत्व में सैकड़ों लोगों ने जींद-कैथल राजमार्ग पर शाहपुर गांव में 3 घंटे जाम लगाया। शाम को पुलिस प्रशासन अमला जाम खुलवाने पहुंचा तो प्रदर्शनकारियों ने पथराव कर दिया। इस पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज कर उन्हें खदेड़ा।

13 जिलों में किया नेट बंद

- सांसद सैनी की रैली और यशपाल मलिक के कार्यक्रम को लेकर बढ़ रहे तनाव को देखते हुए 13 जिलों (जींद, हांसी, भिवानी, हिसार, फतेहाबाद, करनाल, पानीपत, कैथल, सोनीपत, झज्जर, भिवानी और चरखी दादरी) में मोबाइल इंटरनेट तत्काल बंद करने के आदेश दिए हैं। शुक्रवार रात 12 बजे से सेवाएं बंद होना शुरू हो गई। यह 26 नवंबर की रात 12 बजे तक बंद रहेंगी। सीएम के निर्देश पर गृह सचिव एसएस प्रसाद ने यह आदेश जारी किए हैं।

- दो पुलिसकर्मियों समेत 6 लोग घायल हो गए। प्रदर्शनकारियों ने देर शाम जींद-कैथल मार्ग पर ही कंडेला गांव के बस अड्डे पर जाम लगा दिया। पुलिस ने कई प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया है। उधर, मलिक की रैली को लेकर कई गांवों के सरपंच आंदोलन के दौरान जेल में गए युवा रैली स्थल पर ही धरने पर बैठ गए। इससे तनाव पैदा हो गया। -पढ़िएपेज 2 भी


एसपी-डीसी को आई चोटें, तनाव को देखते हुए पुलिस फोर्स मांगी
- पथराव में डीसी अमित खत्री और एसपी डाॅ. अरूण नेहरा को मामूली चोटें आई हैं। तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने सरकार से और पुलिस फोर्स मांगी है। आजाद किसान मिशन के सदस्यों ने चेतावनी दी हुई है कि वे जींद में सांसद सैनी की रैली नहीं होने देंगे।

- जसिया में कौशल विकास केंद्र के भूमि पूजन को लेकर विवाद गहरा गया है। शुक्रवार दोपहर शिलान्यास स्थल पर यशपाल मलिक के विरोधी गुट के लोग भी पहुंच गए। कई गांवों के सरपंचों आंदोलन के दौरान जेल में गए युवा रैली स्थल पर धरने पर बैठ गए। तनाव को देखते हुए मौके पर पुलिसबल तैनात किया गया। तैयारियों का जायजा लेने आए यशपाल मलिक के सामने भी धरना जारी रहा। पुलिस के कहने पर देर रात धरना उठा लिया। लेकिन कहा कि सुबह फिर धरना देंगे।

- दोनों कार्यक्रमों को देखते हुए 25 और 26 नवंबर के लिए पूरे झज्जर जिले में धारा 144 लगाने के आदेश दिए गए हैं। जिला न्यायधीश एवं उपायुक्त सोनल गोयल ने आदेश जारी कर कहा कि इस दौरान अग्नि शस्त्र, तलवार,लाठी, बरछी, कुल्हाड़ी, जेली, गंडासा चाकू सरीखे हथियार लेकर चलने पर पूरी तरह से पाबंदी रहेगी। आदेशों की अवहेलना करने वाले के खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई होगी।