Hindi News »Haryana »Ambala» President Kovind To Inaugurate Six Day International Gita Mahotsav

ब्लू व्हेल जैसे मौत के खेल से गीता ही दिला सकती है छुटकारा: कोविंद

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को 6 दिवसीय अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव का शुभारंभ किया।

Bhaskar news | Last Modified - Nov 26, 2017, 05:46 AM IST

ब्लू व्हेल जैसे मौत के खेल से गीता ही दिला सकती है छुटकारा: कोविंद

कुरुक्षेत्र .राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को 6 दिवसीय अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव का शुभारंभ किया। उन्हाेंने गीता पूजन के साथ ही यज्ञ में आहूति भी डाली। कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी में अंतरराष्ट्रीय गीता सेमिनार में राष्ट्रपति ने महोत्सव में आने के दो कारण बताए। कहा, ‘मैं भगवान श्रीकृष्ण की जन्मभूमि कानपुर उत्तर प्रदेश से हूं और कुरुक्षेत्र भगवान श्रीकृष्ण की कर्मभूमि थी। इसलिए मेरा भी कुरुक्षेत्र से नाता है। दूसरा कारण हरियाणा की बेटियों को लेकर बात करना चाहता था। हरियाणा की बेटियों ने पूरे देश का गौरव बढ़ाया है। हरियाणा की बेटी सुषमा स्वराज देश की दूसरी विदेश मंत्री हैं। वहीं संतोष यादव माउंट एवरेस्ट पर दो बार तिरंगा फहराने वाली देश की पहली महिला हैं। यह गीता के कर्मयोग का उदाहरण है।


उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने भी अपनी आत्मकथा में लिखा है कि वे समस्या के समाधान के लिए गीता का सहारा लेते थे। ब्लू व्हेल जैसे मौत के खेल से भी गीता ही छुटकारा दिला सकती है।’ उन्होंने कहा, ‘गीता न्याय और नैतिकता की विजय का संदेश देती है। मैं कई बार सोचता हूं कि आखिर गीता का नाम स्त्रीलिंग में क्यों है। शायद यह मातृ शक्ति को मान्यता देने के लिए है, हालांकि इस पर शोध शोध होना चाहिए।’

सीएम बोले- डिजिटल मतलब दिल में गीता

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि डिजिटल शब्द से शुरू का डी और अंत का एल हटा दें तो जीआई टीए गीता बचता है। डी व एल को जोड़कर दिल बनता है। इस तरह डिजिटल मतलब दिल में गीता है। सीएम ने कहा कि उन्होंने स्वामी ज्ञानानंद से राजनीतिज्ञों के लिए गीता लिखने का आह्वान किया, ताकि राजनीति में स्वच्छता आ सके। स्वामी ने कहा कि केवल स्मार्ट सिटी बनाने से काम नहीं चलेगा स्मार्ट सिटीजन बनाने भी जरूरी हैं। स्मार्ट सिटीजन गीता के माध्यम से ही बनाए जा सकते हैं। अमेरिका से आए सतपाल सिंह ने कहा कि दो तिहाई दंगे धर्म व जाति के नाम पर होते हैं। गीता मानव को धर्म व जाति से ऊपर उठाने का काम करती है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ambala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×