Hindi News »Haryana »Ambala» झंडोला में प्रशासन ने अतिक्रमण हटा खुदवाई नींव

झंडोला में प्रशासन ने अतिक्रमण हटा खुदवाई नींव

गांव झंडोला में गुरुवार को अतिक्रमण हटाने के लिए प्रशासन की ओर से अभियान चलाया गया। ग्रामीणों के विरोध को देखते...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 03:05 AM IST

गांव झंडोला में गुरुवार को अतिक्रमण हटाने के लिए प्रशासन की ओर से अभियान चलाया गया। ग्रामीणों के विरोध को देखते हुए मौके पर पुलिसकर्मी भी मौजूद रहे। हालांकि पुलिस बल को देखकर किसी भी ग्रामीण ने अतिक्रमण हटाने का विरोध नहीं किया। गौरतलब है कि ग्राम पंचायत झंडोला की चार कनाल 18 मरले पंचायती जमीन पर गांव के मलकीत सिंह, रवि प्रकाश, कुलविंद्र, सोमनाथ, पिरथी, सुनहरी देवी, सुरजीत सिंह, सुखविंद्र, हरकेश, किशना राम व विद्या देवी ने अतिक्रमण किया हुआ था। जिसके खिलाफ ग्राम पंचायत झंडोला की ओर से एसडीएम शाहाबाद की अदालत में अपील दायर की गई।

एसडीएम शाहाबाद की अदालत ने अतिक्रमण हटाने और ग्राम पंचायत को 20 मार्च तक कब्जा दिलाने का आदेश प्रशासन को दिया था। गांव की सरपंच पूजा रानी ने बताया कि सरकार ने ग्राम पंचायत झंडोला की इस चार कनाल 18 मरले पंचायती जमीन पर चारदीवारी करने के लिए एक लाख 96 हजार रुपए की अनुदान राशि भेजी गई थी। उन्होंने कहा कि जब पंचायत ने इस जमीन पर चारदीवारी करने के लिए निर्माण कार्य शुरू करना चाहा तो कब्जाधारियों ने पंचायत के काम में दोबारा बाधा डाल दी और पंचायत को निर्माण शुरू नहीं करने दिया। उन्होंने बताया कि पंचायत ने इस मामले को लेकर दोबारा उपायुक्त को गुहार लगाई थी जिसपर उपायुक्त ने ग्राम पंचायत को दोबारा पुलिस सहायता देते हुए बाबैन के नायब तहसीलदार साहब सिंह को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त कर कार्रवाई करने के आदेश जारी किए। उपायुक्त के आदेश पर गुरुवार को बाबैन के बीडीपीओ कंवरभान नरवाल, नायब तहसीलदार साहब सिंह, थाना प्रभारी छोटूराम, सरपंच पूजा रानी, एसईपीओ सुखदेव सिंह और ग्राम सचिव संदीप कुमार ने जेसीबी मशीन की मदद से कब्जों को हटाने के साथ ही दीवार बनाने के लिए नींव खोदकर निर्माण शुरू करवाया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ambala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×