Hindi News »Haryana »Bahadurgarh» बच्चे बोले-मां से मिलवाने की कहकर आंटी ले गई थी, आरोपी को भेजा जेल

बच्चे बोले-मां से मिलवाने की कहकर आंटी ले गई थी, आरोपी को भेजा जेल

आरोपी पड़ाेसन बोली-बिहार से लाया था अधेड़, ससुराल में मारपीट की वजह से भाग गई, ट्रेन में सुरक्षा के लिए बच्चों को ले...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:00 AM IST

बच्चे बोले-मां से मिलवाने की कहकर आंटी ले गई थी, आरोपी को भेजा जेल
आरोपी पड़ाेसन बोली-बिहार से लाया था अधेड़, ससुराल में मारपीट की वजह से भाग गई, ट्रेन में सुरक्षा के लिए बच्चों को ले गई थी साथ

भास्कर न्यूज | बहादुरगढ़

बलजीत नगर से बुधवार को दो बच्चों का अपहरण कर ले जा रही बिहार की महिला सीता को नैनीताल आरपीएफ से लेकर बहादुरगढ़ पुलिस वापस शहर पहुंची। शनिवार को उन्हें अदालत में पेश किया, जहां दोनों बच्चे अपनी मां मोनी से चिपके रहे। अदालत ने महिला को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। पुलिस पूछताछ में महिला ने बताया कि दो माह पहले उसकी शादी बहादुरगढ़ के छारा गांव निवासी ओमबीर से कराई गई थी, जो बात-बात पर मारपीट करता था। इस कारण वह बिहार भागना चाहती थी। सीता के अनुसार वह बिहार अकेले जाने से डर रही थी। इसलिए वह दोनों बच्चों को साथ ले गई ताकि उसे रास्ते में कोई सवाल नहीं पूछे। बिहार पहुुंचने के बाद दोनों बच्चों को वापस भिजवा देती। वहीं, बच्चों का कहना है कि आंटी मां से मिलवाने की कहकर हमें ले गई थी। मां बाहर काम करती है।

पहले देती मारपीट की शिकायत : थाना प्रभारी

थाना प्रभारी कुलबीर सिंह ने बताया कि यदि सीता से ससुराल वाले मारपीट करते थे तो वह पहले शिकायत देती, लेकिन अब इन बातों का कोई लाभ नहीं।

वह बच्चों को लेकर गई थी। इसके खिलाफ अपहरण का केस दर्ज है। इसके पास से दोनों बच्चों को बरामद कर लिया है। दोनों बच्चे अदालत परिसर में अपनी मां को छोड़ने को तैयार ही नहीं थे।

नैनीताल पुलिस को बताया-अधेड़ से शादी होने पर खुश नहीं थी

आरोपित महिला सीता ने नैनीताल पुलिस को भी यही बताया था कि वह बिहार के गांव नरपंतगंज जिला अररिया बिहार की स्थायी निवासी है। उसके परिजनों ने उसकी कम उम्र में छारा के ओमबीर से शादी कर दी थी। वह उससे उम्र में ज्यादा बड़ा है। उससे ससुराल में मारपीट की जाती थी। वह शादी से संतुष्ट नहीं थी। इसलिए उसने घर से भागने की योजना बनाई। महिला ने बताया कि वह 28 मार्च की शाम हरियाणा से चलकर 29 को दिल्ली पहुंची और वहां से कई ट्रेनों में बैठती हुई काशीपुर के रास्ते लालकुआं नैनीताल पहुंच गई। वहां पकड़ी गई।

बहादुरगढ़ पुलिस

महिला सीता बिहार जाना चाहती थी, लेकिन गलत ट्रेन में चढ़ने की वजह से वह नैनीताल पहुंच गई। यहां शुक्रवार को पहले से अपहरण की सूचना प्रसारित होने की वजह से उसे रेलवे पुलिस ने पकड़ लिया। बहादुरगढ़ सूचना भेजने के बाद पुलिस टीम महिला को लेकर शनिवार को बहादुरगढ़ पहुंची। उसके साथ दोनों बच्चों प्रिया (6) और प्रियांशु (7) को भी टीम ने उसकी मां के हवाले किया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bahadurgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×