--Advertisement--

तीन अौर बिजली कार्यालयों का बनाया हाउस टैक्स

10 साल से नगर परिषद और बिजली निगम में बिजली के बिल व गृहकर को लेकर चल रहे विवाद में अब नया मोड़ आ गया है। बिजली निगम ने...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:00 AM IST
तीन अौर बिजली कार्यालयों का बनाया हाउस टैक्स
10 साल से नगर परिषद और बिजली निगम में बिजली के बिल व गृहकर को लेकर चल रहे विवाद में अब नया मोड़ आ गया है।

बिजली निगम ने नगर परिषद से सख्ती कर 5.68 करोड़ रुपए का बिजली का बिल भरवा लिया। अब नगर परिषद ने बिजली निगम से अपना हाउस टैक्स भरवाने के लिए कमर कस ली है। नगर परिषद ने बिजली निगम के कार्यालयों का सर्वे कर तीन ऐसे कार्यालय निकाले, जहां हाउस टैक्स लिया ही नहीं जा रहा था। अब 9 कार्यालयों का हाउस टैक्स का बिल अब नगर परिषद ने बिजली निगम को 6 करोड़ रुपए का भेजा है। यानी लगभग बराबर। सोमवार को बिजली निगम के अधिकारी अपने 9 कार्यालयों की सूची नप को सौंपने जा रहा है, जिससे स्थिति साफ हो।

दूसरी तरफ बिजली निगम के अधिकारियों ने अन्य तीनों कार्यालय बिजली निगम की दूसरी विंग के बताते हुए तीनों कार्यालयों को अपना मानने से इनकार कर दिया है। इस बारे में सोमवार को स्थिति साफ हो जाएगी जब दोनों विभागों के अधिकारी आमने-सामने बैठकर बात करेंगे। इस मामले में दोनों विभागों के अधिकारियों ने बैठक कर अपने-अपने विभाग पर बकाया राशि देने पर सहमति कर ली है। इसके बाद शुक्रवार को नगर परिषद ने बिजली निगम का 10 साल का बकाया पांच करोड़ 68 लाख रुपए 99 हजार का चेक बिजली निगम को सौंप दिया। साथ ही नगर परिषद ने बिजलीघरों के भवनों पर लगाए गए हाउस टैक्स के रूप में 6 करोड़ रुपए तुरंत प्रभाव से जमा कराने का नोटिस भी बिजली अधिकारियों के नाम काट दिया है। इसमें 9 कार्यालय दिखाए गए हैं। जिन कार्यालयों को लेकर कुछ विरोध हैं उसमें दो एमआई क्षेत्र व एक सेक्टर दो का है।

बिजली का 5.68 लाख का बिल भरने के बाद अब नप ने हाउस टैक्स वसूलने के लिए कसी कमर

बहादुरगढ़. बकाया बिल को भरने के लिए चेक बनाते परिषद के अधिकारी।

हाउस टैक्स वसूलने के हर संभव प्रयास होंगे

नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी अपूर्व चौधरी ने बताया कि दिसंबर 2017 तक का सभी बिजली का बिल 5 करोड़ 68 लाख रुपए एकमुश्त जमा कर दिया है। अब हाउस टैक्स वसूलने के हर संभव प्रयास किए जाने हैं ताकि बिजली का बिल देने से स्ट्रीट लाइट की समस्या का स्थायी हल हो सके। अपूर्व चौधरी ने बताया कि बिजली निगम के एक्सईएन संदीप जैन ने आश्वासन दिया है कि नोटिस मिलते ही अपने मुख्यालय से पैसे की व्यवस्था के लिए प्रयास शुरू कर देंगे। सोमवार को तीनों बिजली निगम कार्यालयों की भी स्थिति साफ हो जाएगी। बकाया बिल वसूलने के लिए बिजली निगम के दबाव के बाद जब नप ने बिजली निगम को हाउस टैक्स का नोटिस भेजा तो केवल छह कार्यालयों की जानकारी बिजली निगम ने दी थी।

X
तीन अौर बिजली कार्यालयों का बनाया हाउस टैक्स
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..