बहादुरगढ़

  • Home
  • Haryana News
  • Bahadurgarh
  • न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिलने पर किसानों ने जलाई फसल की होली
--Advertisement--

न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिलने पर किसानों ने जलाई फसल की होली

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरसों की खरीद नहीं होने से नाराज किसानों ने अपनी फसल की होली जलाई। झज्जर रोड स्थित नई मंडी...

Danik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:00 AM IST
न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरसों की खरीद नहीं होने से नाराज किसानों ने अपनी फसल की होली जलाई। झज्जर रोड स्थित नई मंडी में विरोध-प्रदर्शन कर आक्रोश जाहिर किया। साथ ही उन्होंने कहा कि वे एमएनपी नहीं मिलने तक अपनी फसल अगले 10 दिन तक मंडियों में नहीं लाएंगे। बाजार में सरसों की भारी मांग है, लेकिन किसानों से प्रति क्विंटल 800 से 900 रुपए कम भाव पर खरीदी जा रही है। जब फसल व्यापारी के पास जाती है तो उसकी कीमत 5000 रुपए प्रति क्विंटल हो जाती है, जबकि किसानों को 3000 या 3100 रुपए प्रति क्विंटल ही मिल पाता है। यह सरकार की सोची समझी साजिश है। इसके चलते किसानों को उनकी फसल का पूरा मूल्य नहीं मिलता। रबी की फसलों में एमएसपी मापदंड पर सरकार की वायदा खिलाफी से प्रदेश के किसानों को 14474 करोड़ रुपए की आर्थिक चोट लग चुकी है। इस मौके पर लक्ष्मण सिंह, सत्यपाल सिंह, दिलबाग सिंह, प्रदीप आदि किसान मौजूद रहे।

बहादुरगढ़. न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरसों की खरीद न होने पर किसान फसल की होली जलाते हुए।

किसानों से हो रही ठगी

भूमि बचाओ संघर्ष समिति के अध्यक्ष कामरेड हंसराज ने कहा कि अकेले सरसों की खरीद पर किसानों से 450 करोड़ रुपए की लूट हो चुकी है। 90 लाख टन रिकॉर्ड सरसों उत्पादन के बाद 25 फीसदी अधिकतम सरकारी खरीद की सीमा तय करने के बावजूद सिर्फ 5 फीसदी की खरीद हुई है। उन्होंने आरोप लगाया कि 10 दिन से किसानों की फसल मंडियों में एमएसपी रेट पर खरीदार नहीं होने के कारण कम भाव में प्राइवेट खरीदारों को बेचनी पड़ रही है। प्राइवेट खरीदार किसानों से हर तरह से ठगी कर रहे हैं।

सम्मेलनों में व्यस्त हैं मंत्री, होगा आंदोलन

डॉ. शमशेर सिंह राणा ने कहा कि प्रदेश सरकार ने थोक व्यापारी की कालाबाजारी पर कोई रोकथाम नहीं लगाई। कृषि मंत्री सम्मेलनों में व्यस्त हैं। मंडियों में किसानाें को ठगा जा रहा है। किसान के मन की बात आज मंडियों में कोई सुनने वाला नहीं है। किसानों से लूट हो रही और व्यापारियों को छूट दी जा रही है। प्रदेश के किसानों ने अब सरकार के खिलाफ आंदोलन की तैयारी शुरू कर दी है।

न्याय यात्रा जारी

जय किसान आंदोलन के प्रदेश प्रचार प्रभारी रविंद्र मलिक ने बताया कि मंडियों में सरकारी वादे की हकीकत जानने के लिए 160 किसान संगठनों की एमएसपी न्याय यात्रा निकाली जा रही है। इसके तहत बहादुरगढ़ नई मंडी में कार्यालय भी खोला गया है। जहां किसान सैनिक बनाने के लिए रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है।

Click to listen..