• Hindi News
  • Haryana
  • Bahadurgarh
  • लुक्सर के ऑटो चालकों ने 10 से बढ़ाकर 15 रुपए किया किराया, ग्रामीणों ने पंचायत में जताया विरोध
--Advertisement--

लुक्सर के ऑटो चालकों ने 10 से बढ़ाकर 15 रुपए किया किराया, ग्रामीणों ने पंचायत में जताया विरोध

शहर से लुक्सर स्टैंड पर चलने वाले ऑटो चालकों ने 10 रुपए किराया बढ़ाकर 15 रुपए सवारी कर दिया है। इसके विरोध में लुक्सर...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:00 AM IST
लुक्सर के ऑटो चालकों ने 10 से बढ़ाकर 15 रुपए किया किराया, ग्रामीणों ने पंचायत में जताया विरोध
शहर से लुक्सर स्टैंड पर चलने वाले ऑटो चालकों ने 10 रुपए किराया बढ़ाकर 15 रुपए सवारी कर दिया है। इसके विरोध में लुक्सर बस स्टैंड पर लुक्सर की पंचायत समेत गंगड़वा और जगरतपुर के ग्रामीणों ने बुधवार शाम पंचायत कर किराया बढ़ोतरी का विरोध किया। उन्होंने कहा कि शहर से लुक्सर 13-14 किलो मीटर है। सरकारी बस एक है, जो पूरे दिन में सिर्फ तीन ही चक्कर ही लगाती है, जिससे लोगों का काम नहीं चलता। इसलिए अधिकतर लोग ऑटो का सहारा लेते हैं। ग्रामीणों ने इस संबंध में अधिकारियों से शिकायत का निर्णय लिया है। लुक्सर के रामबीर प्रधान, रामफल पंडित, अजीत, महेन्द्र पंडित, रामकिशन, राजेश प्रधान, महाबीर, जयवीर, गंगड़वा से सोमबीर, जयसिंह नम्बरदार, महाबीर और जगरतपुर समेत अन्य गांव के ग्रामीणों ने गांव के बस स्टैंड पर पंचायत कर ऑटो चालकों की ओर से बढ़ाए गए किराये का विरोध किया।

ग्रामीणों ने कहा कि एक साथ 5 रुपए किराया बढ़ाना गलत है। इससे लोगों को आर्थिक नुक्सान का सामना करना पड़ेगा। अगर ऑटो चालकों को किराया बढ़ाना है तो एक या दो रुपए प्रति सवारी बढ़ाना चाहिए। ऑटो चालकों की मनमानी से दैनिक यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। क्योंकि काफी संख्या में लोग नौकरी, बाजार में खरीदारी व अन्य कामकाज व विद्यार्थी पढ़ने के लिए विभिन्न शिक्षण संस्थाओं में आते हैं। इससे उनकी जेब पर भी काफी अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

फुल भरकर चलते हैं ऑटो

यात्रियों को जान जोखिम में डाल कर यात्रा करने पर मजबूर होना पड़ता है। क्योंकि ऑटो चालक यातायात नियमों की अनदेखी कर वाहनों में लगभग 15 से 20 सवारियां तक बैठा लेते हैं। ऑटो के अंदर 15 सवारियां, छत पर 6 से 7 व साइडों में 3 से 4 सवारियां बैठाई जाती है। जरा सी चूक बड़े हादसे का कारण बन सकती है।

बिना कागजात के दौड़ रहे हैं ऑटो

ज्यादातर ऑटो चालकों के पास न तो ड्राइविंग लाइसेंस है और न ही जरूरी कागजात। यातायात के नियमों की अनदेखी से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। पुलिस की सुस्ती के चलते ऑटो चालक सरेआम नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। मनमानी करते ड्राइविंग भी करते हैं, जिससे ट्रैफिक नियमों की भी अवेहलना हो रही है। साथ ही यात्रियों की जान भी जोखिम में रहती है।


X
लुक्सर के ऑटो चालकों ने 10 से बढ़ाकर 15 रुपए किया किराया, ग्रामीणों ने पंचायत में जताया विरोध
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..