बहादुरगढ़

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Bahadurgarh
  • शीला राठी गुट के पार्षद बोले-उन्हें खरीदने की कोशिश की गई, चुनौती-इस्तीफा दे चुनाव जीतकर दिखाएं विरोधी पार्षद
--Advertisement--

शीला राठी गुट के पार्षद बोले-उन्हें खरीदने की कोशिश की गई, चुनौती-इस्तीफा दे चुनाव जीतकर दिखाएं विरोधी पार्षद

नगर परिषद में अविश्वास प्रस्ताव को लेकर नाकाम रहे विरोधियों पर चेयरपर्सन शीला राठी पक्ष ने मंगलवार को खूब चुटकी...

Dainik Bhaskar

Apr 04, 2018, 02:05 AM IST
शीला राठी गुट के पार्षद बोले-उन्हें खरीदने की कोशिश की गई, चुनौती-इस्तीफा दे चुनाव जीतकर दिखाएं विरोधी पार्षद
नगर परिषद में अविश्वास प्रस्ताव को लेकर नाकाम रहे विरोधियों पर चेयरपर्सन शीला राठी पक्ष ने मंगलवार को खूब चुटकी ली। संयुक्त प्रेस वार्ता कर चेयरपर्सन और उनके सहयोगी पार्षदों ने एक-एक करके विरोधियों के हर आरोप का जवाब दिया। चेयरपर्सन शीला ने कहा कि उन्हें अब भी इन 15 पार्षदों से कोई द्वेष नही है, लेकिन उम्मीद है कि वे अपनी नाकामी से सबक लेकर सोच को बदलेंगे और विकास के विरोधी की बजाय सहयोगी बनेंगे। नगर परिषद सभागार में नप चेयरपर्सन शीला राठी के साथ जुटे पार्षदों ने विरोधियों पर पलटवार किए। उन्होंने कहा कि जो लोग दूसरों को बार-बार बिकाऊ कह रहे हैं, वे खुद किसके हाथों बिके हुए हैं, यह अब पूरे शहर को मालूम हो गया है। वहीं, उनके समर्थक पार्षदों ने कहा कि उन्हें विरोधी गुट ने खरीदने की कोशिश की, लेकिन वे कामयाब नहीं हो सके।

इस्तीफा दें विरोधी पार्षद, जनता ने फिर चुना तो हम इस्तीफा दे देंगे : खत्री

नप के पूर्व चेयरमैन एवं पार्षद रवि खत्री ने कहा कि जो लोग दूसरों को बिकाऊ बता रहे थे, उन्होंने प्रलोभन देकर कुछ पार्षदों को खरीदने की कोशिश की थी। पार्षदों को यहां तक कहा गया कि अविश्वास प्रस्ताव में वोट के बदले सात पीढ़ी का जुगाड़ कर देंगे। इस बात से यह समझा जा सकता है कि खरीदने की कोशिश कौन कर रहा था। मगर ज्यादा पार्षदों ने सच्चाई, ईमानदारी और विकास का साथ दिया। विरोधियों में हिम्मत है तो अब नैतिकता से इस्तीफा देकर जनता के बीच जाएं। यदि इन 15 को जनता ने फिर चुना तो हम चेयरपर्सन से खुद इस्तीफा दिलवा देंगे।

भ्रष्टाचार साबित कर दें तो राजनीति छोड़ देंगे : युवराज छिल्लर

पार्षद युवराज छिल्लर ने कहा कि जो 15 पार्षद शपथ पत्र देने वाले थे, वे अपने साथ एक और सदस्य भी नहीं जोड़ पाए। सच तो यह है कि इनका कुर्सी के लिए दिमाग खराब हो गया है। इनका विकास से कोई लेना-देना नही है। हर कार्य में इन्हें भ्रष्टाचार नजर आता है। सभी कार्य ऑनलाइन हो रहे हैं। इनमें कहीं गड़बड़ी नहीं है। जिन लाइटों में घोटाला बताया जा रहा है, उसकी कोई पेमेंट ही नहीं हुई। जिस दिन शीला राठी का नाम सांसद की तरफ से फाइनल हुआ था, उसी दिन कुछ लोगों की आंखों में आंसू थे। कई दलों के गठबंधन की बात भी औचित्यहीन है। यह चुनाव कोई पाटी चिह्न पर नहीं हुआ था। भाईचारे का चुनाव था। यदि ऐसा है तो विरोधियों के पास भी कई दलों से जुड़़े पार्षद हैं, वे अपने गिरेबां में क्यों नही झांकते।

बहादुरगढ़. अविश्वास प्रस्ताव विफल होने पर खुशी जतातीं नप चेयरपर्सन शीला राठी व पार्षद।

इन पार्षदों ने

किया था विरोध

वार्ड पार्षद

1 संदीप

2 प्रेमचंद

3 राममूर्ति

9 विमला हुड्‌डा

6 लक्ष्मी सहवाग

13 सीमा राठी

15 मोनिका राठी

16 गुरुदेव राठी

17 रमिता चुघ

25 रमन यादव

29 मोनिका गर्ग

30 नीना राठी

31 शशि

मुझे खरीदने की कोशिश की, रिकार्डिंग एडिट कर वायरल की : प्रवीण

पार्षद प्रवीण छिल्लर ने कहा कि मुझ पर 4 पार्षदों के बदले चार करोड़ मांगने का आरोप लगाया जा रहा है। पहली बात तो विरोधियों ने ही मुझे खरीदने की कोशिश की थी। कई बार मेरे पास एक परिचित को भेजा गया, लेकिन मैंने इंकार कर दिया था। फोन पर जो बात हुई वह 17 मिनट से ज्यादा की थी। मगर उसमें कांट-छांट करके सिर्फ उन्हीं बातों की रिकाॅर्डिंग वायरल की गई, जो मैंने हंसी-मजाक में कही थी। बिकाऊ लोग ही इस तरह से दूसरों को खरीदने की कोशिश करते हैं और न मानने पर बदनाम करते हैं। मैंने जब हर तरह के प्रलोभन को नकार दिया तो मेरे खिलाफ दुष्प्रचार करके विकास विरोधियों ने अपनी नाकामी को छिपाने का प्रयास किया है।

मेरे खिलाफ प्रस्ताव और मुझसे ही

मांग रहे थे वोट : विनोद कुमार

नप के वाइस चेयरमैन विनोद कुमार ने कहा कि विकास विरोधी लोगों की इससे बड़ी बेवकूफी और क्या होगी कि वे मेरे ही खिलाफ प्रस्ताव लाने और मेरी कुर्सी जाने का दावा करके भी मुझसे ही अपने लिए वोट मांग रहे थे। मुझे बरगला रहे थे कि तुझे क्या मिलता है। तेरे हाथ से ही भ्रष्टाचार करवा रहे हैं। इन बातों से स्पष्ट होता है कि पार्षदों को खरीदने की कोशिश कौन कर रहा था। यह भी स्पष्ट हो गया है कि जो बिकाऊ थे, वे 15 इकट्ठे हो गए और जो नहीं थे, वे हमारे साथ खड़े हो गए।

यह भी रहे मौजूद

पार्षद अशोक राठी, पार्षद पति राजेश तंवर, पार्षद पति राजेश खत्री, पार्षद सत्यप्रकाश छिकारा, रवींद्र जाखड़, मनोनीत पार्षद इंद्र नागपाल व संदीप राठी मौजूद रहे।

21 का चाहिए था साथ

सोमवार को पेश किए अविश्वास प्रस्ताव में 31 में से 21 पार्षदों के वोट चाहिए थे, लेकिन 15 ही विरोधी पार्षद इकट्ठा हुए।

X
शीला राठी गुट के पार्षद बोले-उन्हें खरीदने की कोशिश की गई, चुनौती-इस्तीफा दे चुनाव जीतकर दिखाएं विरोधी पार्षद
Click to listen..