• Home
  • Haryana News
  • Bahadurgarh
  • 9 बार प्रधान रह चुके राठी के सामने पहली बार उतरी महिला उम्मीदवार, 3 में टक्कर
--Advertisement--

9 बार प्रधान रह चुके राठी के सामने पहली बार उतरी महिला उम्मीदवार, 3 में टक्कर

बार एसोसिएशन के चुनाव के लिए शुक्रवार को मतदान होगा। इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मतदान सुबह 9 बजे से...

Danik Bhaskar | Apr 06, 2018, 02:10 AM IST
बार एसोसिएशन के चुनाव के लिए शुक्रवार को मतदान होगा। इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मतदान सुबह 9 बजे से शुरू होकर शाम 4 बजे तक चलेगा। बार की चौधर का फैसला 465 मतदाता करेंगे। शाम को ही परिणाम भी घोषित होगा। चुनावी मैदान में प्रधान पद के लिए 9 बार प्रधान रह चुके विजेंद्र सिंह राठी, उर्मिला दलाल व राकेश वत्स के बीच मुकाबला है। विजेंद्र राठी जहां अनुभव के साथ मैदान में हैं, वहीं उर्मिला दलाल के रूप में पहली बार एक महिला वकील प्रधानी का चुनाव लड़ रही है। इसीलिए वे बार की महिला वकीलों के हकों की लड़ाई लडऩे के लिए मैदान में हैं। साथ ही वे वकीलों के लिए अन्य सुविधाओं मुहैया कराने का भी दावा कर रही हैं। हालांकि उर्मिला दो साल पहले उपप्रधान का चुनाव 26 वोटों से हार गई थी। तीनों उम्मीदवार मतदाताओं को रिझाने के लिए पूरा जोर लगा रहे हैं, लेकिन बार की प्रधानी का ताज किसके सिरे सजेगा यह तो शुक्रवार को मतगणना के दौरान ही पता चलेगा।

जिले के वकील अपने पदाधिकारी चुनने के लिए आज सायं 4 बजे तक करेंगे मतदान, उसके बाद देर शाम आएंगे नतीजे

चुनाव कमेटी ने ये 5 नियम बनाए

1. मतदान के दौरान बूथ में मतदाता के अलावा कोई भी सदस्य प्रवेश नहीं करेगा।

2. मतदाताओं को पिता का नाम व एनरोलमेंट नंबर वाली वोटर स्लिप लानी होगी।

3. बूथ में मोबाइल व कैमरे का प्रयोग नहीं होगा।

4. बैलेट पेपर पर पैन व पैंसिल आदि की बजाय स्टैंप ही लगानी होगी।

5. आधार कार्ड, बार एसोसिएशन व बार कौंसिल का परिचय पत्र साथ लाना होगा।

ये हैं प्रत्याशी

प्रधान : विजेंद्र राठी, उर्मिला दलाल, राकेश वत्स।

उपप्रधान : राजीव गुलिया, प्रेम प्रकाश, कुलदीप सैनी, मंजीत।

सचिव : ललित सैनी, विक्रम छिल्लर

सह सचिव : रविंद्र अहलावत, सुनील पसरीजा

झज्जर में 630 वकील चुनेंगे पदाधिकारी प्रधान पद के लिए तीन के बीच मुकाबला

भास्कर न्यूज | झज्जर

बार एसोसिएशन का चुनाव शुक्रवार को होगा। प्रधान पद पर तीन प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। प्रधान पद पर त्रिकोणिय मुकाबले की संभावना बताई जा रही है, लेकिन पूरी स्थिति वोटिंग के बाद ही स्पष्ट होगी। इसके लिए गुरुवार को जोड़तोड़ की राजनीति चली। वोटरों को अपने पक्ष में रखने के लिए उनको टेबल के आगे भी बैठाया गया और इसी बहाने से इनका रुख भी परखा गया। वोटरों को अपने पक्ष में करने के लिए अलग अलग तरीके से वकीलों को अप्रोच किया जा रहा है। इसके लिए आपसी संबंध के साथ साथ राजनीतिक संबंधों का हवाला देकर अपील की जा रही है। हालांकि कई वकीलों का कहना है कि बार के चुनाव जाति, धर्म और राजनीतिक संबंध अधिक मायने नहीं रखते। एडवोकेट कर्ण सिंह ग्रेवाल पूर्व में प्रधान भी रहे हैं, कृष्ण कादियान व वेद प्रकाश वत्स भी प्रधान पद के प्रत्याशी हंै। इससे पहले कृष्ण कादियान और वेद वत्स भी चुनाव मैदान में अपनी किस्मत आजमा चुके हैं। इस बार पूर्व प्रधान यशपाल सैनी व तत्कालीन प्रधान देवेंद्र कादियान चुनाव मैदान में नहीं हंै। उपप्रधान पद पर जितेंद्र छिक्कारा व भाववेश यादव में मुकाबला है।

सचिव पद पर नरेंद्र गुलिया, पवन सैनी व संदीप जाखड़ चुनाव मैदान में है। छह अप्रैल की चुनाव प्रक्रिया में 630 वकील हिस्सा लेंगे। शाम को नतीजे सुनाए जाएंगे। गुरुवार की शाम को सभी प्रत्याशी अपने अपने पक्ष में मतदान करने के लिए वकीलों के साथ मीटिंग करने में व रणनीति तैयार करने में मशगूल रहे।

ये प्रत्याशी मैदान मेंं

प्रधान : एडवोकेट कर्ण सिंह ग्रेवाल, कृष्ण कादियान और वेद प्रकाश।

उपप्रधान : जितेंद्र छिक्कारा और भाववेश यादव