बहादुरगढ़

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Bahadurgarh
  • आग में झुलसे किसान व जली फसल का उचित मुआवजा देने की मांग
--Advertisement--

आग में झुलसे किसान व जली फसल का उचित मुआवजा देने की मांग

गांव डाबौदा खुर्द के खेतों में लगी आग से जली फसल को बचाने के चक्कर में झुलसे किसान वीर सिंह को उचित मुआवजा देने की...

Dainik Bhaskar

Apr 23, 2018, 02:05 AM IST
आग में झुलसे किसान व जली फसल का उचित मुआवजा देने की मांग
गांव डाबौदा खुर्द के खेतों में लगी आग से जली फसल को बचाने के चक्कर में झुलसे किसान वीर सिंह को उचित मुआवजा देने की मांग की गई है। छोटूराम अखाड़े के संचालक बुल्लड़ पहलवान की अगुवाई में किसानाें ने उसकी आर्थिक मदद के लिए शहर के लोगों से आगे आने का आह्वान किया है। बुल्लड़ ने पांच हजार रुपए देकर इस मुहिम का शुभारंभ किया। पीड़ित किसान का शहर के मिशन अस्पताल में इलाज चल रहा है। किसानोें के आग्रह पर अस्पताल संचालक डॉ. अजय जैन ने भी इलाज में 60 फीसद छूट देने का आश्वासन दिया है।

बुल्लड़ पहलवान ने बताया कि गेहूं की खड़ी फसलों में रोजाना जगह-जगह आग लग रही है। यह सब सरकार की अनदेखी के कारण हो रहा है। इसलिए सरकार पीड़ित किसानों को उचित मुआवजा दें। उन्होंने हरियाणा के जिन किसानों की पट्टे पर ली हुई जमीन पर गेहूं की खड़ी फसल राख हुई है, ऐसे किसानों को 80 हजार रुपए प्रति एकड़ व जिसकी खुद की जमीन में गेहूं की फसल जली है, ऐसे किसानों को 50 हजार रुपए प्रति एकड़ का मुआवजा देने की मांग की। कहा कि अगर सरकार ने मुआवजा जल्द ही देने की घोषणा नहीं की तो किसान आंदोलन करेंगे। सरकार को इसका खामियाजा आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव में भुगतना पड़ेगा। उन्होंने पीड़ित किसानों से भी जली फसल वाले खेत को जोतने से पहले वीडियोग्राफी व फोटो लेने की प्रार्थना की है। साथ ही अपना लोकल कमीशन नियुक्त कर नुकसान हुई भूमि की पैमाइश कराने की अपील की। उन्होंने कहा कि अभी ज्वार, बाजरा व धान की फसल लगाने का समय आ रहा है। ऐसे में किसान सरकार की गिरदावरी के इंतजार में अपने खेतों को यूं का यूं नहीं रख सकते। इस मौके पर छोटूराम धर्मशाला के प्रधान सज्जन दलाल, रामफल मलिक, विपिन श्योराण, साहिल दलाल, सागर दलाल व वीर सिंह का परिवार मौजूद था।

बहादुरगढ़. डाबौदा खुर्द के किसान को सहायता रािश देते बुल्लड़ पहलवान।

X
आग में झुलसे किसान व जली फसल का उचित मुआवजा देने की मांग
Click to listen..