Hindi News »Haryana »Bahadurgarh» कांग्रेस नेता मोनू की हत्या का आरोपी दिल्ली पुलिस ने मुंडका में पकड़ा

कांग्रेस नेता मोनू की हत्या का आरोपी दिल्ली पुलिस ने मुंडका में पकड़ा

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बहादुरगढ़ कांग्रेस नेता मोनू जून की हत्या में वॉन्टेड कुख्यात बदमाश को गिरफ्तार...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 05, 2018, 02:05 AM IST

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बहादुरगढ़ कांग्रेस नेता मोनू जून की हत्या में वॉन्टेड कुख्यात बदमाश को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान प्रदीप सहरावत (39) के रूप में हुई। पुलिस ने उसके पास से दो पिस्टल और छह जिंदा कारतूस बरामद किए है। आरोपी को इस केस में भगोड़ा घोषित किया जा चुका है।

ज्वाइंट सीपी आलोक कुमार ने बताया कि क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि कांग्रेस नेता के मर्डर में भगोड़ा घोषित किया गया कुख्यात बदमाश अपने किसी साथी से मिलने के लिए मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास आने वाला है। सूचना के आधार पर टीम बनाई गई व तय स्थान पर ट्रैप लगाकर आरोपी को अरेस्ट कर लिया गया। पूछताछ में प्रदीप ने एक साधारण इंसान से जरायम की दुनिया का कुख्यात बनने की पूरी कहानी बताई। उसने बताया कि प|ी की बेवफाई ने उसे अपराधी बना दिया। एक हत्या के मामले में दो साल जेल में रहने के बाद जब वह बाहर निकला तो वह अपने दूर के रिश्तेदार अनिल के संपर्क में आया जो अपना गैंग चलाता था। उसके गैंग का नाम था अनिल गंजा गैंग। इसके बाद वह इस गैंग में शामिल होकर अपराध करने लगा।सितंबर 2017 में उसने अपने साथियों सुनील, प्रवीण, राहुल राठी, टिंकू आदि के साथ मिलकर युवा कांग्रेस के नेता मोनू जून की हत्या कर दी थी। नवंबर 2017 में उसने अपने साथियों के साथ रावता मोड़ पर राजेन्द्र नामक युवक पर गोली चलाई थी। राजेन्द्र ने उनके साथी रिंकू से लिए हुए 40 हजार रुपए लौटाने से मना किया था।

हरियाणा पुलिस ने भी दिल्ली पुलिस से संपर्क साधा

मोनू जून की हत्या के आरोपी की गिरफ्तारी की खबर लगते ही बहादुरगढ़ पुलिस ने भी दिल्ली पुलिस से संपर्क शुरु कर दिया है। फिलहाल बहादुरगढ़ पुलिस ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं कि दिल्ली पुलिस की क्राइन ब्रांच ने अपनी सूचना पर आरोपी को पकड़ा है या फिर हरियाणा पुलिस की। इस बारे में एएसपी लोकेंद्र सिंह ने बताया कि यह मामला सीआईए शाखा देख रही है व वह लगातार दिल्ली पुलिस के संपर्क में है।

बैठक के बाद हुई कार्रवाई

गत दिनों गुड़गांव में आयोजित बैठक में एक राज्य में वारदात करके दूसरे राज्य में भागने वाले अपराधियों को पकड़ने व सूचना एक दूसरे को देने को कहा था। बुधवार को गुरुग्राम में चार राज्यों के आॅला अधिकारियों ने समन्वय बैठक हुई थी। बैठक में हरियाणा के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून और व्यवस्था) मोहम्मद अकील, एडीजीपी अंबाला रेंज आर सी मिश्रा, उत्तर प्रदेश के एडीजीपी (कानून और व्यवस्था, आनंद कुमार, उत्तर प्रदेश के एडीजीपी अपराध चंद्र प्रकाश, राजस्थान जयपुर रेंज एडीजीपी हेमंत प्रियदर्शी और दक्षिणी दिल्ली के विशेष पुलिस आयुक्त (कानून और व्यवस्था)पी कामराज, हरियाणा के आईजीपी सीआईडी अनिल कुमार राव भी उपस्थित थे। बैठक में फैसला हुआ था कि इसमें अंतरराज्यीय अपराध पर अंकुश लगाने के लिए चार राज्यों के इंटर स्टेट क्राइम सचिवालय का मुख्यालय गुरुग्राम में बनवाया जाएगा। इस मुख्यालय में चारों राज्यों के नोडल अधिकारी बैठेंगे, जो अपराध होने पर तत्काल अपने राज्य के जिलों की पुलिस को सूचित करेंगे और अपराधियों को पकड़ने में मदद करेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bahadurgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×