Hindi News »Haryana »Bahadurgarh» सेक्टर-6 के स्कूल में गेट न होने से घूम रहे हैं बेसहारा पशु

सेक्टर-6 के स्कूल में गेट न होने से घूम रहे हैं बेसहारा पशु

बच्चों को बेहतर शिक्षा देने के लिए स्कूलों में अच्छा माहौल बनाना बहुत जरूरी है। जिसके लिए सरकार भारी भरकम बजट भी...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 06, 2018, 02:05 AM IST

सेक्टर-6 के स्कूल में गेट न होने से घूम रहे हैं बेसहारा पशु
बच्चों को बेहतर शिक्षा देने के लिए स्कूलों में अच्छा माहौल बनाना बहुत जरूरी है। जिसके लिए सरकार भारी भरकम बजट भी खर्च करती है, पर बावजूद इसके सरकारी स्कूलों की हालत दयनीय है। सेक्टर 6 में बने प्राइमरी स्कूल के अंदर बैठे पशु इस बात को साबित कर रहे है की शिक्षा विभाग का इनकी और कोई ध्यान नहीं है स्कूल समय में ही बेसहारा पशुओं स्कूल में घूमते रहते हैं। इससे स्कूल कम पशुओं का चारागाह ज्यादा नजर आता हैं। वही दूसरी और यदि कोई पशु किसी बच्चे को चोट पहुंचा देता है तो उसका जिम्मेदार कौन होगा इसका जवाब किसी के पास नहीं है पशुओ के बैठने से स्कूल की सुंदरता को ग्रहण तो लग ही रहा है, साथ में बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है।

चाहरदीवारी का कार्य अधूरा पड़ा

प्राइमरी स्कूल की चाहरदीवारी कई वर्षो से टूटी पड़ी थी पिछले दिनों प्रशासन द्वारा नई चाहरदीवारी का काम शुरू करवाया गया था। चाहरदीवारी का काम भी अब बंद पड़ा है और वही दूसरी और स्कूल पर अभी तक गेट भी नहीं लगवाया गया है जिसके चलते पशु बे रोक टोक अंदर घुस रहे है। सेक्टर 6 निवासी किशोरलाल गुप्ता ने बताया की गेट न होने के कारण स्कूल में हर समय बेसहारा पशु घूमते रहते हैं। वही स्कूल की खिड़की दरवाजे भी सब टूटे पड़े स्कूल प्रांगण में पानी भरा हुआ जिसमे मच्छर पनप रहे है जिससे बच्चे बीमार हो सकते है ।

गेट लगाने के लिए लिखा जाएगा पत्र

स्कूल का गेट जल्द से जल्द लगाया जाएगा। इसके लिए संबंधित विभाग को पत्र लिखा जाएगा। मदन चौपड़ा. खंड शिक्षा अधिकारी, बहादुरगढ़

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bahadurgarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: सेक्टर-6 के स्कूल में गेट न होने से घूम रहे हैं बेसहारा पशु
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bahadurgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×