• Hindi News
  • Haryana News
  • Bahadurgarh
  • धीमी लिफ्टिंग पर भड़के एडीसी, बोले-पहले गेहूं को गोदाम में भेजो
--Advertisement--

धीमी लिफ्टिंग पर भड़के एडीसी, बोले-पहले गेहूं को गोदाम में भेजो

अनाज मंडी में कोई शेड न होने की खबरों के बाद एडीसी सुशील सारवान ने गुरुवार को अनाज मंडी का औचक निरीक्षण किया। इस...

Dainik Bhaskar

Apr 13, 2018, 02:05 AM IST
धीमी लिफ्टिंग पर भड़के एडीसी, बोले-पहले गेहूं को गोदाम में भेजो
अनाज मंडी में कोई शेड न होने की खबरों के बाद एडीसी सुशील सारवान ने गुरुवार को अनाज मंडी का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने मंडी में आढ़तियों और किसानों की समस्याएं सुनीं। मंडी में फसल का उठान न होने पर अधिकारियों को फटकार लगाई और कर्मियों को जल्द दूर करने के आदेश दिए। उन्होंने किसानों को कहा कि वे मंडी में सूखा और साफ-सुथरा गेहूं लाएं।

किसान सूखा गेहूं मंडी में लाएं

गौरतलब है कि प्रदेश में गेहूं की सरकारी खरीद शुरू होने के बाद से ही बहादुरगढ़ की अनाज मंडी में आई फसल की लिफ्टिंग नहीं हो रही। यहां फसलों को बरसात से बचाने के लिए भी कोई शेड तक भी नहीं है। किसानों के ठहरने से लेकर पीने के पानी तक की व्यवस्था को पूरा नहीं किया गया। जिसके चलते मंडी में आने वाले किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। एडीसी ने मंडी का दौरा कर मंडी में कमियां मिलने पर अधिकारियों को फटकार लगाई और कमियों को दूर करने के आदेश दिए। मीडिया से चर्चा करते हुए एडीसी ने कहा कि मंडी में गेहूं लेकर आने वाले किसानों को किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी। इसके लिए मंडी के अधिकारियों को आदेश दिए गए हैं। इसके साथ-साथ मंडी में गेहूं लेकर आने वाले किसानों को भी अपना गेहूं सूखा और साफ-सुथरा लाने को कहा गया है। मंडी में व्यापारियों ने अधिकारी को बताया कि मंडी में अपना गेहूं लेकर आए किसानों की शिकायत रहती है कि सरकार की तरफ से कोई सुविधा नहीं दी जा रही है। किसानों के ठहरने से लेकर पीने के पानी की व्यवस्था तक नहीं है और न ही समय पर गेहूं उठाया जा रहा है। इससे उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जबकि गेहूं का सीजन शुरू होने से पहले सरकार और अधिकारियों ने किसानों के लिए बड़े-बड़े वादे किए थे।

बहादुरगढ़. अनाज मंडी में गेहूं की खरीद को लेकर अधिकारियों से जानकारी लेते अतिरिक्त उपायुक्त सुशील सारवान।

बहादुरगढ़. अनाज मंडी में गेहूं की खरीद को लेकर अधिकारियों से जानकारी लेते अतिरिक्त उपायुक्त सुशील सारवान।

किसानों ने कृषि मंत्री काे ज्ञापन देकर 40 से 50 हजार प्रति एकड़ मुअावजा मांगा

बेरी | ओलावृष्टि को लेकर किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल ने स्थानीय रेस्ट हाऊस में कृषि मंत्री ओपी धनखड़ को ज्ञापन सौंपा। इस अवसर पर हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश महासचिव प्रो. कुलताज सिंह ने कहा कि बेरी हलके के गांव माजरा-डी, बी, दूबलधन, मांगावास, पलड़ा, पहाड़ीपुर और मिलकपुर के 8 गांवों में ओलावृष्टि होने से गेहूं और अन्य फसलों को लगभग 60 से 100 प्रतिशत तक का नुकसान हुआ है। इस ओलावृष्टि से खेती बर्बाद हो गई है तथा किसानों को भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है। इसलिए इन किसानों को विशेष गिरदावरी करवाकर कम से कम 40-50 हजार रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा दिया जाए। कृषि मंत्री ने आश्वासन दिया कि वे इस संबंध में जल्द ही कार्रवाई करेंगे। इस अवसर पर निरंजन सिंह, ज्ञान सिंह, सुखबीर प्रधान, हरिओम सरपंच, संजय, दिनेश सरपंच, राजबीर नम्बरदार, नसीब सिंह, समुन्द्र, रमेश, कृष्ण, बबलू, जयभगवान, संजीव, रविन्द्र, जगत, जोशी, सतबीर, अमित चौधरी, विश्वेंद्र, साहिल, मनजीत, आनंद शर्मा, अमरेन्द्र, गौरव वाल्मीकि, पूर्व पार्षद विजय व सतपाल मौजूद रहे।

दस ट्रैक्टर-ट्राली अनाज आते ही

मंडी में लग जाता है जाम

बहादुरगढ़ | फसली सीजन के दौरान शहर के रेलवे रोड पर लगने वाले जाम की स्थिति ने न केवल किसानों बल्कि अन्य राहगीरों को भी परेशान करना शुरू कर दिया है। वहीं अनाज मंडी में दस ट्रैक्टर- ट्राली के आने के साथ ही वहां वाहनों के निकलने का मार्ग भी बंद हो गया। इसी तरह से 20 से लेकर 30 फुट तक सड़क पर बढ़े अतिक्रमण के चलते अब हालत यह हो गई है कि वाहनों का सही से निकलना तो दूर पैदल राहगीरों को निकलने के लिए सही रास्ता नहीं मिला। इसी कारण एडीसी सुशील सारवान को भी मंडी में जाने के लिए रेलवे रोड की तरफ से आने को मजबूर होना पड़ा।

किसान फंसे रहते हैं जाम में

इन दिनों फसली सीजन चल रहा है और गेहूं व अन्य फसलों को बेचने के लिए आए दिन अनाज मंडी में किसान ट्रैक्टर-ट्राली में अपनी फसलों को लेकर आ रहे हैं, लेकिन रेलवे रोड पर वेस्ट जुआ ड्रेन पुल व गांधी मार्केट की तरफ जाने वाले रास्ते की स्थिति तो यह है कि यहां पर ट्रैक्टर-ट्राली निकलने के लिए सही से रास्ता तक नहीं मिल रहा।


X
धीमी लिफ्टिंग पर भड़के एडीसी, बोले-पहले गेहूं को गोदाम में भेजो
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..