• Hindi News
  • Haryana
  • Bahadurgarh
  • बिजली निगम का सीए निलंबित, विरोध में कर्मचारियों ने धरना देकर जताया आक्रोश
--Advertisement--

बिजली निगम का सीए निलंबित, विरोध में कर्मचारियों ने धरना देकर जताया आक्रोश

Dainik Bhaskar

Apr 13, 2018, 02:05 AM IST

Bahadurgarh News - उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम में कार्यरत सीए संजीव के निलंबन को लेकर कर्मचारियों में भारी रोष है। एचएसईबी...

बिजली निगम का सीए निलंबित, विरोध में कर्मचारियों ने धरना देकर जताया आक्रोश
उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम में कार्यरत सीए संजीव के निलंबन को लेकर कर्मचारियों में भारी रोष है। एचएसईबी वर्कर्स यूनियन ने इसको लेकर बृहस्पतिवार को निगम परिसर में धरना प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी भी की। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि द्वेष भावना के चलते सीए को निलंबित किया गया है, लेकिन इससे कर्मचारियों में भारी विरोध है। यूनियन से जुड़े नेताओं व कर्मचारियों ने तुरंत प्रभाव से निलंबन को रद्द करने व अधिकारियों की तानाशाही पर रोक लगाए जाने की पुरजोर आवाज भी उठाई।

कर्मचारियों ने की गेट मीटिंग

एचएसइबी वर्कर्स यूनियन के बैनर तले यह गेट मीटिंग कर रोष जताया गया। 2 घंटे तक कर्मचारियों ने काम छोड़कर अपना विरोध जताया। प्रदर्शन की अध्यक्षता सर्कल सचिव जयकंवार छिकारा ने की। उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने अपनी कमी एमडी से छुपाने के लिए कर्मचारी सीए पर दोष मढ़ दिया और उनका निलंबन करवा दिया। इससे कर्मचारियों में लगातार रोष बना हुआ है। उन्होंने कहा कि यदि सीए संजीव कुमार को बहाल नहीं किया जाता तो शुक्रवार को भी रोष प्रदर्शन होगा और उसके बाद भी निगम प्रशासन नहीं चेता तो तो सोमवार से मंडल कार्यालय पूर्ण रूप से बंद कर दिया जाएगा। धरने का यूनिट प्रधान बिजेंद्र फौगाट, रविंद्र देशवाल, श्याम सिंह, विश्वजीत, रामनिवास, पंकज, नरेंंद्र, राकेश, जयदेव, जयभगवान, ओमबीर, बिजेंद्र, राजकुमार, सचिन, फूलचंद, नवीन कुमार, सुरेंद्र डबास, मुकेश, उषा नांदल, अंजू रानी, मंजू रानी, भानी देवी, सुनीता के अलावा कई अन्य भी मौजूद रहे।

बहादुरगढ़. अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी करते एएचपीसीडब्लू के सदस्य।

ऑल हरियाणा पॉवर काॅरपोरेशन ने लंबित मांगों को लेकर की नारेबाजी

बहादुरगढ़ | ऑल हरियाणा पॉवर काॅरपोरेशन वर्कर यूनियन की लंबित मांगों को लेकर एक मीटिंग हुई। इसमें चारों सब यूनिटों के प्रधान की अध्यक्षता में यह हुई। इसमें कर्मचारियों ने अपनी अनदेखी किए जाने को लेकर कड़ा रोष प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शन करते हुए कर्मचारियों ने एकजुट होकर आवाज उठाने व 19 अप्रैल को एक्सईएन कार्यालय के सामने धरना के अलावा जींद में होने वाली ललकार रैली व मशाल जुलूस को लेकर भी मंथन किया। गेट मीटिंग का संचालन सब यूनिट सचिव दिनेश ने किया। इसमें मुख्य रुप से राज्य सचिव राजेंद्र जुलाना, झज्जर नगर पालिका प्रधान राजेंद्र तुषाड ने सयुंक्त रुप से कहा कि नई पेंशन स्कीम को बंद करो व पुरानी पेंशन स्कीम को लागू करने, निजीकरण आउटसोर्स नीति को बंद करने व बिजली बिल 2014 को वापस करने की मांग की। राज्य सचिव बंसीलाल, रामबीर ने कच्चे कर्मचारियों को पक्का करना, जब तक पक्का नहीं किया जाता तब तक सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार समान काम समान वेतन देने की आवाज उठाई। सर्कल सचिव रविंद्र दलाल, ब्लॉक प्रधान बिजेंद्र सैनी, यूनिट प्रधान दलबीर हुड्डा व यूनिट सचिव प्रदीप छिक्कारा ने संयुक्त रूप से कहा कि कच्चे व पक्के कर्मचारियों को 5 हजार रुपए रिस्क अलाउंस, सभी कच्चे कर्मचारियों को सभी प्रकार की छुट्टी, फ्री यूनिट, संशोधित भत्ते जनवरी 2016 से लागू करवाने, अनुबंध कर्मचारियों का 2 साल का एरियर दिलवाने की मांग भी की गई। इस विरोध प्रदर्शन में बहादुरगढ़ से सैकड़ों कर्मचारियों ने भाग लिया।

19 अप्रैल को देंगे धरना

कर्मचारी नेताओं ने कहा कि अगर केंद्र सरकार पॉवर बिल 2014 व एनपीएस में संशोधन नहीं करती है तो पूरे देश व प्रदेश का बिजली कर्मी हड़ताल पर जाने को मजबूर होगा। 19 अप्रैल को कर्मचारी कार्यकारी अभियंता के कार्यालय के सामने धरना देंगे व 15 मई को मशाल जुलूस निकाला जाएगा अगर सरकार जब भी कर्मचारियों की जायज मांगों को नहीं मानती तो 29 अप्रैल को सभी विभागों के कर्मचारी एकत्र होकर जींद में ललकार रैली में शामिल होंगे।

X
बिजली निगम का सीए निलंबित, विरोध में कर्मचारियों ने धरना देकर जताया आक्रोश
Astrology

Recommended

Click to listen..