• Home
  • Haryana News
  • Bahadurgarh
  • किसानों की डीसी से गुहार, शाम 6 से सुबह 6 बजे तक न लगें बिजली कट
--Advertisement--

किसानों की डीसी से गुहार, शाम 6 से सुबह 6 बजे तक न लगें बिजली कट

इन दिनों गेहूं और सरसों की कटाई का सीजन चल रहा है। गर्मी की शुरुआत के साथ ही ग्रामीणों क्षेत्र में बिजली के अघोषित...

Danik Bhaskar | Apr 09, 2018, 02:10 AM IST
इन दिनों गेहूं और सरसों की कटाई का सीजन चल रहा है। गर्मी की शुरुआत के साथ ही ग्रामीणों क्षेत्र में बिजली के अघोषित कट लगने शुरू हो गए हैं। इससे ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोगों के कामकाज प्रभावित हो रहे हैं। इसके लिए किसानों ने बिजली पावर हाउस बहु के कर्मचारियों को जिम्मेदार ठहराया है।

उनका कहना है कि गोरिया फिटर, झाडली फिटर और बहु झोलरी फिटर के अलावा सभी फिटर में रात के समय बार-बार अघोषित कट लगाने से किसानों को रात को जागना पड़ रहा है। रात के समय मच्छर भी काटने लग जाते हैं, जिससे बीमारी बढ़ने का भी खतरा है। किसानों ने शाम 6 बजे से 6 सुबह तक कोई भी बिजली के अघोषित कट नहीं लगाने की जिला उपायुक्त से मांग की है।

न रात और न ही दिन में राहत, एक घंटा ही मिल रही बिजली

तापमान बढ़ने के बाद गावों से बिजली पूरी तरह से गायब हो रही है। न रात में ठीक से बिजली नहीं मिल रही और न दिन में। बिजली विभाग का रवैया ऐसे ही रहा तो किसानों का गुस्सा कभी भी भड़क सकता है। क्योंकि एक तो किसान पूरा दिन खेतों में काम करता है। फिर रात के समय बिजली नहीं मिलने पर इधर-उधर धूमकर गुजारनी पड़ रही है। गर्मी में बिजली न होने से उनकी दिन चर्या ही प्रभावित होने लगी है। बिजली किल्लत के चलते जहां घरेलू काम नहीं हो रहे हैं वहीं, किसानों को बिजली की दाेहरी भार झेलनी पड़ रही है। सुरेश कुमार, पवनकुमार, राजेश, सतीश का कहना है कि बिजली संकट क्षेत्र के सभी गावों में बढ़ रहा है, जो कि चिंता का विषय है। उनका कहना है। दिन में बिजली केवल एक घंटा ही मिल रही है। ऊपर से फसल सीजन का हवाला दे निगम कर्मचारी उनकी किसी शिकायत पर कार्रवाई भी नहीं करते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि बदलते मौसम में पंखें कूलर न चलने से इलाके में बीमारी भी फैलने की आशंका बनी हुई है।

पहले ये था सप्लाई शेड्यूल

बिजली निगम से सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक बिजली आती थी, जबकि शाम को 6 बजे से अगले दिन सुबह 6 बजे तक बिजली सप्लाई आती थी। अब बिजली निगम ने एक से 2 बजे तक सप्लाई का शेड्यूल बनाया है। शाम को 6 बजे से 9 बजे तक कई बार बिजली अघोषित कट लग रहे हैं, जबकि इस समय गेहूं और सरसों कटाई का कार्य चल रहा है। किसानों का कहना है कि जब से खेतों में कार्य कर अपने घर आते हैं तो घर आते ही बिजली गुल मिलती है।