Hindi News »Haryana »Bahadurgarh» ट्रैक पार करने के लिए रोज डालते हैं जान को जोखिम में

ट्रैक पार करने के लिए रोज डालते हैं जान को जोखिम में

भारतीय रेलवे की प्रशासनिक एवं सुरक्षा व्यवस्था झाड़ली रेलवे स्टेशन पर लचर दिखाई दे रही है। क्योंकि फुट ओवरब्रिज...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 09, 2018, 02:10 AM IST

भारतीय रेलवे की प्रशासनिक एवं सुरक्षा व्यवस्था झाड़ली रेलवे स्टेशन पर लचर दिखाई दे रही है। क्योंकि फुट ओवरब्रिज न होने के कारण यात्री मौत को दावत देते रोजाना ट्रैक पार करते देखे जा सकते हैं। न केवल युवा बल्कि बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक ऐसे ट्रैक पार करते हैं, जैसे सड़क पार कर रहे हो। इसमें महिलाएं भी पीछे नहीं है। ऐसा नहीं कि रेलवे प्रशासनिक अधिकारियों को इस बारे में पता नहीं, लेकिन वे जानकर भी इस तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं। ऐसे में कभी भी हादसा होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। यात्रियों का कहना है कि काफी समय से फुट ओवरब्रिज बनवाने की मांग की जा रही है। इसके बावजूद कोई सुनवाई नहीं है।

झाड़ली में रेलवे स्टेशन के पास नहीं है फुट ओवरब्रिज, काफी समय से लोग कर रहे हैं मां

साल्हावास . फुट ओवर िब्रज न होने पर इस तरह लोग लापरवाह होकर पार करते हैं रेलवे लाइन।

जब स्टेशन पर यात्री ट्रैक पार करते हैं उस समय विशेष ध्यान दिया जाता है। यात्रियों को समय-समय पर चेताया भी जाता है। फुट ओवरब्रिज के लिए उच्च अधिकारियों को अवगत करा चुके हैं। -राजेश कुमार चौधरी, स्टेशन मास्टर झाड़ली

बुजुर्ग और महिला यात्री होते हैं

सबसे ज्यादा परेशान

राेजाना ट्रैक पार करना लोगों के जीवन में शुमार हो चुका है। क्योंकि सवारी रेल से उतरने के बाद लाेगाें के लिए एक प्लेट फार्म से दूसरे प्लेटफार्म पर जाने के लिए फुट ओवरब्रिज की सुविधा नहीं है। एेसे में अधिकतर यात्री ट्रैक पार करते हैं। फुट ओवरब्रिज ने होने के कारण दैनिक यात्री को एक दूसरी रेलवे लाइन पार करने में यात्रियों को परेशानी सामना करना पड़ रहा है। बुजुर्ग महिला व बुजुर्ग पुरुषों को लाइन पार करने में मुश्किल हो जाती है। यात्रियों का कहना है कि फुट ओवरब्रिज की सुविधा नहीं है। इसलिए मजबूरी में रेलवे का ट्रैक पार करना पड़ता है। उन्होंने रेलवे प्रशासन से फुट ओवरब्रिज बनवाने की मांग की है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bahadurgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×