--Advertisement--

गेट वे आॅफ हरियाणा से शुरू हो स्टेशन के नाम

दिल्ली वाली मेट्रो बहादुरगढ़ में आने को तैयार है पर हरियाणा के बहादुरगढ़ वाली मेट्रो का अभी इंतजार है। अब हरियाणा...

Dainik Bhaskar

May 08, 2018, 02:10 AM IST
दिल्ली वाली मेट्रो बहादुरगढ़ में आने को तैयार है पर हरियाणा के बहादुरगढ़ वाली मेट्रो का अभी इंतजार है। अब हरियाणा वाली मेट्रो को लेकर शहर में अभियान शुरू हो गया है, जिसमें बहादुरगढ़ के तीन मेट्रो स्टेशनों के नाम बहादुरगढ़ से जोड़कर रखने की मांग तेज हो गई है। अब स्टेशनों के नाम एमआई, बस अड्‌डा और सिटी पार्क है। इस मामले में कुछ लोगों ने विधायक नरेश कौशिक को सरकार से इस बारे में बात करने को कहा है। ताकि बहादुरगढ़ मेट्रो की अपनी पहचान भी हो। अभी तक इसे दिल्ली वाली मेट्रो के रूप में ही जाना जा रहा है। जन कल्याण मंच के सचिव किशोरी लाल गुप्ता, अनाज मंडी प्रधान बिल्लू, व्यापार मंडल के प्रधान धनश्याम दास, शिवा मार्केट से संजीव भाटिया, नगर पार्षद पालेराम, नगर पार्षद इंद्र नागपाल, नगर पार्षद जसबीर, नगर पार्षद कविता गोयल, नगर पार्षद अलबेल, नगर पार्षद रेखा वत्स व नगर पार्षद अशोक गुप्ता आदि ने बताया कि मेट्रो स्टेशन के नामों में बहादुरगढ़ गेट वे आॅफ हरियाणा, बहादुरगढ़ या फिर अपने क्षेत्र के शहीद ब्रिगेडियर होशियार सिंह का नाम होता तो बहादुरगढ़ के लोगों को अपनी मेट्रो होने की अधिक खुशी होती। यहां की जमीन का सम्मान भी होता। चारों तरफ से उठ रही इस मांग पर विधायक कौशिक ने सीएम से मिलकर बातचीत करने का आश्वासन दिया है। यदि मेट्रो स्टेशनों के नाम बहादुरगढ़ की संस्कृति के हिसाब से हो जाए तो यहां के लोगों का सम्मान होगा।

किसी भी स्टेशन में

बहादुरगढ़ वाली बात नहीं

बहादुरगढ़ आने वाली मेट्रो के तीनों में से किसी भी मेट्रो स्टेशन में बहादुरगढ़ वाली कोई बात नहीं है। यह भी पता नहीं चलता कि कब दिल्ली सीमा समाप्त हो गई और कब हरियाणा का बहादुरगढ़ क्षेत्र शुरू हो गया। डीएमआरसी जून, 2018 के अंत तक मेट्रो बहादुरगढ़ लाने की तैयारियों में जोरशोर से जुटा है, लेकिन वास्तव में वह मेट्रो बहादुरगढ़ में आ रही है। इसका अहसास यहां के लोगों को नहीं हो रहा।

सेक्टर-6 देवीलाल पार्क बना दिया सिटी पार्क

बहादुरगढ़ सीमा में सबसे अंतिम स्टेशन सिटी पार्क है। जहां आज भी देवीलाल पार्क है। सिटी पार्क कहां है शहर के लोगों को पता भी नहीं। उसे सिटी पार्क कब बनाया गया। इसकी जानकारी भी मेट्रो अधिकारियों तक को नहीं है। क्योंकि स्थानीय लोग तो उस जगह को ताऊ देवीलाल पार्क के नाम से जानते हैं। सरकारी कागजों में भी पार्क का यहीं नाम दर्ज है। माना जा रहा है कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार को ताऊ देवीलाल नाम से एतराज रहा होगा। इस कारण इसे कागजों में सिटी पार्क बना दिया। अब इस स्टेशन का नाम शहीद ब्रिगेडियर होशियार सिंह के नाम से होना चाहिए। क्योंकि जिस जमीन पर यह स्टेशन तैयार किया गया है वह स्थान कभी सांखौल गांव की जमीन था। शहीद ब्रिगेडियर होशियार सिंह उसी गांव केथे। सांखौल के ग्रामीण लंबे समय से इस मेट्रो स्टेशन का नाम शहीद होशियार सिंह के नाम पर करने की मांग लंबे समय से उठा रहे हैं।

X

Recommended

Click to listen..