• Home
  • Haryana News
  • Bahadurgarh
  • तहसीलदार की गैर मौजूदगी में गलत रजिस्ट्री मार्क की तो जिम्मेदार होगा रजिस्ट्री क्लर्क
--Advertisement--

तहसीलदार की गैर मौजूदगी में गलत रजिस्ट्री मार्क की तो जिम्मेदार होगा रजिस्ट्री क्लर्क

तहसील कार्यालय में अब डीसी की सख्ती के चलते भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जा रहा है। नए तहसीलदार ने आते ही तहसील में...

Danik Bhaskar | May 10, 2018, 02:15 AM IST
तहसील कार्यालय में अब डीसी की सख्ती के चलते भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जा रहा है। नए तहसीलदार ने आते ही तहसील में भ्रष्टाचार को रोकने के लिए कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। तहसीलदार ने बुधवार को आदेश जारी किए हैं कि नायब तहसीलदार व तहसीलदार की गैर मौजूदगी में रजिस्ट्री क्लर्क, टोकन ऑपरेटर व रजिस्ट्री ऑपरेटर यदि कोई बिना किसी अनुमति के गलत तरीके से रजिस्ट्री करते हैं तो उस रजिस्ट्री की जिम्मेदारी उक्त तीनों की होगी और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। आदेशों में स्पष्ट किया गया है कि आरसी राजस्व विभाग द्वारा जारी वैध कॉलोनियों की लिस्ट के मुताबिक ही रजिस्ट्रियां मार्क करें। साथ ही जहां खसरे नंबर दर्शाए गए हैं उन खसरा नंबर को भी क्रम वाइज मिलान करने के बाद ही रजिस्ट्री करना सुनिश्चित करें। आरसी की मार्किंग के बाद टोकन ऑपरेटर रजिस्ट्री को चेक करके टोकन काटेगा और बाद में जब यह रजिस्ट्री पंजीकृत की जाएगी उस समय कंप्यूटर आपरेटर भी यह सुनिश्चित करेगा कि यह रजिस्ट्री वैध एरिया की है या फिर अवैध की। इसके बाद भी अगर किसी अवैध कॉलोनी की रजिस्ट्री हो जाती है तो उसकी जिम्मेदारी संबंधित कर्मचारियों की होगी। आदेशों में स्पष्ट किया गया है कि तहसीलदार व नायब तहसीलदार की मौजूदगी में आरसी को रजिस्ट्री मार्क की पॉवर नहीं होगी।

गलत रजिस्ट्री होने पर होगा केस दर्ज

नवनियुक्त तहसीलदार मुख्तयार सिंह का कहना है कि जिला उपायुक्त सोनल गोयल के आदेशानुसार तहसील में भ्रष्टाचार को पनपने नहीं दिया जाएगा। उनके संज्ञान में आया है कि सरकारी ड्यूटी के चलते नायब तहसीलदार व तहसीलदार जब बाहर होते हैं तो उस समय रजिस्ट्री क्लर्क, टोकन ऑपरेटर व रजिस्ट्री ऑपरेटर गड़बड़ी कर देते हैं। ऐसे मनमानी करने वाले कर्मचारियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी रजिस्ट्रियों की जांच की जाएगी। अगर कोई गलत तरीके से की गई है तो उस पर संबंधित कर्मचारी के खिलाफ न केवल विभागीय कार्रवाई की जाएगी बल्कि उसके खिलाफ केस भी दर्ज कराया जाएगा।