बल्लबगढ़

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Ballabgarh
  • चंदावली बनेगा स्मार्ट गांव, पर्यटक ले सकेंगे बोटिंग का आनंद
--Advertisement--

चंदावली बनेगा स्मार्ट गांव, पर्यटक ले सकेंगे बोटिंग का आनंद

इंडस्ट्रियल मॉडल टाउन (आईएमटी) के बीच बसे चंदावली गांव में भी लोग पर्यटन का मजा ले सकेंगे। इस गांव को पर्यटन केंद्र...

Dainik Bhaskar

Jun 22, 2018, 02:00 AM IST
इंडस्ट्रियल मॉडल टाउन (आईएमटी) के बीच बसे चंदावली गांव में भी लोग पर्यटन का मजा ले सकेंगे। इस गांव को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा। यहां मौजूद जोहड़ को झील का रूप देकर उसे पर्यटन केंद्र बनाया जाएगा। पर्यटन केंद्र विकसित करने की योजना को सरकार से मंजूरी मिल गई है। योजना के तहत काम की शुरुआत भी कर दी गई है। गांव की सरपंच अंजू रानी अपनी देखरेख में काम करा रही हैं।

डेढ़ करोड़ से विकसित होगा

हरियाणा राज्य औद्योगिक संरचना विकास निगम (एचएसआईआईडीसी) ने आईएमटी विकसित करने के लिए चंदावली गांव के आसपास मुजेड़ी, नवादा, मच्छगर और सोतई की 1832 एकड़ भूमि अधिग्रहण की है। चंदावली ऐसा गांव है, जिसकी जमीन पूरी तरह से अधिग्रहण की जा चुकी है। खंड कार्यालय ने चंदावली को स्मार्ट गांव बनाने के लिए योजना तैयार की है। योजना के तहत गांव में एक बड़ा जोहड़ है। पहले इसे थ्री पौंड सिस्टम के रूप में विकसित किया गया था। गांव का सारा पानी जोहड़ में आता था।

अब गांव की नालियों के गंदे पानी को आईएमटी की सीवर लाइन में डाल दिया गया है। जिससे जोहड़ अब पूरी तरह से सूख चुका है। 6 माह पूर्व पंचायत ने इस जोहड़ को एक झील के रूप में तैयार करने व आसपास के एरिया को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने के लिए डेढ़ करोड़ रुपए की एक विस्तारित योजना खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी के साथ मिलकर बनाई।

खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी ने योजना को डीसी के पास भेजा। उन्होंने योजना की मंजूरी के लिए फाइल चंडीगढ़ भेज दी। हाल ही में योजना को मंजूरी मिल गई। इसके बाद यहां काम शुरू कर दिया गया।

गांव बनेगा लोगों के लिए मिसाल

चंदावली गांव की सरपंच अंजू रानी ने बताया कि चंदावली को स्मार्ट गांव व पर्यटन केंद्र बनाने के लिए डेढ़ करोड़ रुपए की योजना बनाकर भेजी गई थी। जिसे मंजूरी मिल गई है। योजना पर काम भी शुरू कर दिया गया है। यहां जोहड़ को एक झील के रूप में पंचायत की तरफ से तैयार कर पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित किया जा रहा है।

झील में नौका भी चलाई जाएगी। पार्क का निर्माण किया जाएगा व फूड सेंटर व झूले आदि लगाए जाएंगे।

डेढ़ करोड़ की लागत से गांव को पर्यटन केंद्र के रूप में किया जा रहा है विकसित, सरपंच की देख-रेख में हो रहा है काम

पर्यटक ले सकेंगे बोटिंग का आनंद

जोहड़ को सबसे पहले झील का रूप दिया जाएगा। इसमें बारिश का साफ पानी एकत्र किया जाएगा। इस तरह से जहां वर्ष जल का संरक्षण होगा, वहीं यहां सुंदर झील बन जाएगी। झील में नौका विहार की भी व्यवस्था की जाएगी। लोग अपनी छुट्टी मनाने के लिए यहां आ सकेंगे। झील के अंदर नौका विहार का आनंद ले सकेंगे। यहां भोजन और फास्ट फूड सेंटर भी विकसित किए जाएंगे। इसके अलावा बच्चों के लिए आधुनिक झूले भी लगाए जाएंगे। यहां नजदीक ही मौजूद राजा नाहर सिंह की एक ऐतिहासिक इमारत भी है। उसका भी जीर्णोद्धार कर पर्यटकों को यहां आकर्षित किया जाएगा।

X
Click to listen..