Hindi News »Haryana »Ballabgarh» गर्मी का सब्जी पर असर, सप्ताह भर में 30% बढ़े रेट, टमाटर 10 से 40 रुपए किलो पहुंचा

गर्मी का सब्जी पर असर, सप्ताह भर में 30% बढ़े रेट, टमाटर 10 से 40 रुपए किलो पहुंचा

43 डिग्री तापमान सब्जी की फसल पर भी भारी पड़ रहा है। तेज धूप के प्रभाव से सब्जियों की फसलें मुरझा गई हैं। इससे सब्जी की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 24, 2018, 02:00 AM IST

गर्मी का सब्जी पर असर, सप्ताह भर में 30% बढ़े रेट, टमाटर 10 से 40 रुपए किलो पहुंचा
43 डिग्री तापमान सब्जी की फसल पर भी भारी पड़ रहा है। तेज धूप के प्रभाव से सब्जियों की फसलें मुरझा गई हैं। इससे सब्जी की आवक पर असर पड़ना शुरू हो गया है। मंडी आढ़ती के मुताबिक सब्जी के रेट में करीब 30 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हो गई है। अगले 15 दिन में सब्जी के दामों में और बढ़ोत्तरी होने की संभावना है। किसानों का कहना है कि तेज गर्मी के कारण खेतों में बोई हुई सब्जी की करीब 20 से 30 प्रतिशत पौध बर्बाद हो गई है। जिले में करीब 6 हजार हेक्टेयर में सब्जी की फसल बोई गई है।

एक सप्ताह में बढ़े दाम

भीषण गर्मी के बीच पिछले सप्ताह तक मंडी में बिक रहा 10 रुपए किलो का टमाटर चार गुना की छलांग लगाकर अब सीधा 40 रुपए किलो तक पहुंच गया है। अन्य सब्जियों के दाम भी 30 प्रतिशत तक बक गए हैं। इससे लोगों की रसोई का बजट बिगड़ गया है। असल में सब्जियों की कीमत में नरमी अप्रैल व मई माह का मौसम सही रहने व कुछ इलाके में हुई बारिश का नतीजा था। इससे ज्यादातर सब्जियों का उत्पादन अच्छा हुआ। मंडी में सप्लाई बढ़ गई। अब लगातार बढ़ रही तपिश से आगे की फसल झुलस गई है। इससे सब्जी की कीमतें अचानक से तेजी से बढ़ गई हैं। किसानों का कहना है कि खेतों में बोई हुई सब्जियों की फसल गर्मी के कारण करीब 30 से 40 प्रतिशत बर्बाद हो गई हैं।

6 हजार हेक्टेयर में होती है खेती

उपमंडल के 20 से भी ज्यादा ग्रामीण इलाकों में इस समय विभिन्न प्रकार की सब्जियों की खेती की जा रही है । कृषि विभाग के मुताबिक यहां करीब 6 हजार हेक्टेयर भूमि में इस समय सब्जी की खेती की जा रही है। उपमंडल के ऊंचा गांव , सुनपेड़, फतेहपुर, गांव मोहना, छांयसा, मोठूका, मंझावली, फज्जूपुरा, बेला, इमामुदीनपुर ,गुड़ासर, बागपुर और शाहजहां पुर आदि क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर सब्जियों की खेती की जा रही है। गर्मी के इस मौसम में किसानों ने अपने खेतों में घीया, तोरई,पेठा, खीरा, ककड़ी, भिंडी, गोभी , बैंगन, धनिया, हरी मिर्च व टमाटर आदि बोई हुई हैं। जिले में पैदा की जाने वाली सब्जियों की एनसीआर क्षेत्र में भी डिमांड है। यहां से बड़े पैमाने पर सब्जी की सप्लाई एनसीआर की विभिन्न मंडियों में की जाती है।

पड़ रहा गर्मी का असर

सब्जी की पैदावर करने वाले सुनपेड़ गांव के किसान बिजेंद्र का कहना है कि तापमान अधिक होने के कारण सब्जली के पौधे लगातार मुरझा रहे हैं। गांव छांयसा के किसान राजाराम, सोमेश, हरिराम व राधेश्याम ने बताया कि सूरज की तपती किरणें आम आदमी के जीवन पर ही प्रभाव नहीं डाल रही। बल्कि इस भीषण गर्मी ने सब्जियों की हालत भी खस्ता कर दी है। सब्जी के पौधे मुरझाने के कारण उनकी मेहनत के साथ बीजों के लिए खर्च किया गया हजारों रुपए भी गर्मी की भेंट चढ़ गया है।

बचाव के उपाय

कृषि विज्ञान केंद्र भूपानी के वरिष्ठ समन्वयक एवं पौध संरक्षण विशेषज्ञ डॉ. बीके शर्मा का कहना है कि किसानों को सब्जियों की फसलों को गर्मी की मार से बचाने के लिए अत्याधिक मात्रा में रसायनिक खादों का प्रयोग नहीं करना चाहिए। पौधों को केवल सुबह व शाम के समय ही पानी दें। दोपहर को पानी देने से पौधे झुलस जाएंगे।

फरीदाबाद. ओल्ड फरीदाबाद की मंडी लगी फल व सब्जियों की दुकान।

दामों में तेजी रहेगी बरकरार

बल्लभगढ़ मंडी के आढ़ती उमेश कुमार गोयल व मुरारी लाल ने बताया कि सब्जी के दामों में 20 प्रतिशत तक की बढ़ोत्तरी हो गई है। अगले 10 दिन बाद सभी सब्जियों के दाम दोगुने स्तर पर पहुंचने की संभावना है। जो झुलसाने वाली गर्मी पड़ रही है, उससे पैदावार काफी घट गई है। सप्लाई में अब लगातार गिरावट आ रही है।

एक सप्ताह मेंे बढ़े सब्जी के रेट

सब्जी पिछले सप्ताह अब

टमाटर - 10 रुपए 40 रुपए

आलू - 15 रुपए 20 रुपए

प्याज - 15 रुपए 25 रुपए

शिमला मिर्च - 30 रुपए 50 रुपए

हरी मिर्च - 20 रुपए 25 रुपए

नींबू - 100 रुपए 120 रुपए

करेला - 20 रुपए 30 रुपए

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ballabgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×