• Home
  • Haryana News
  • Barwala
  • हंगामे के बाद चेयरपर्सन ने बैठक बीच में छोड़ी
--Advertisement--

हंगामे के बाद चेयरपर्सन ने बैठक बीच में छोड़ी

वापिस मीटिंग के लिए पहुंची लेकिन तब तक अधिकतर पार्षद वहां से जा चुके थे भास्कर न्यूज | बरवाला स्थानीय नगर...

Danik Bhaskar | Mar 23, 2018, 02:10 AM IST
वापिस मीटिंग के लिए पहुंची लेकिन तब तक अधिकतर पार्षद वहां से जा चुके थे

भास्कर न्यूज | बरवाला

स्थानीय नगर पालिका पार्षदों की एक बैठक गुरुवार को नपा कार्यालय में हुई। बैठक की अध्यक्षता नपा चेयरपर्सन प्रोमिला बादल ने की व संचालन सचिव राजेंद्र कुमार ने किया। पार्षदों ने हाजिरी लगानी शुरू की। इस दौरान वार्ड 9 की पार्षद सोनिया आनंद ने अपने हस्ताक्षर के साथ एक अपनी तरफ से कुछ लिखने का प्रयास किया। इस पर चेयरपर्सन ने उन्हें ऐसा करने के लिए मना किया व कहा कि वह कार्रवाई रजिस्टर में हस्ताक्षर के अलावा अन्य कुछ भी ना लिखें। इसी दौरान नपा के वाइस चेयरमैन रामफल बंसल ने उस रजिस्टर की फोटो लेनी चाही।

इस पर भी चेयरपर्सन ने एतराज जताते हुए कहा कि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए। इस बीच सचिव व वाइस चेयरमैन के बीच नोक झोक भी हुई। बात जब बढऩे लगी तो चेयरपर्सन प्रोमिला बादल यह कहते हुए बाहर चली गई कि इस तरह के माहौल में वे मीटिंग नहीं कर सकती। इस दौरान कुछ पार्षद भी वहां से चले गए। माहौल कुछ शांत हुआ तो बाद में चेयरपर्सन वापिस मीटिंग के लिए पहुंची लेकिन तब तक अधिकतर पार्षद वहां से जा चुके थे। इसके बावजूद मीटिंग हाल में बैठे पार्षदों ने अपनी कुछ समस्याएं हाऊस के समक्ष रखी। इसमें मनोनीत पार्षद आनंद महता ने शहर में अवैध रूप से कमर्शियल भवनों का निर्माण हो रहा है। उन्होंने कहा कि शहर में नगर पालिका तक की भूमि पर अवैध रुप से भवनों का निर्माण हो रहा है। संबंधित अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे। पार्षद सोनिया आनंद ने कहा कि उनके वार्ड की अनदेखी की जा रही है। पार्षदों ने कहा कि पिछली मीटिंगों में पास हुए मुद्दों पर भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। पार्षद बिमला देवी ने सफाई व्यवस्था को लेकर अपनी समस्या रखी। उनका कहना था कि उनकी गली में ही सफाई व्यवस्था का बुरा हाल है शहर के अन्य वार्डों में सफाई व्यवस्था किस तरह की होगी इसका अंदाजा स्वयं लगाया जा सकता है। बैठक में सफाई कर्मचारियों के सही व्यवहार न करने को लेकर सभी पार्षद एकमत दिखाई दिए। पार्षदों ने कहा कि सफाई कर्मचारी अपनी ड्यूटियां ढंग से नहीं करते यदि इस बात को लेकर उनसे कुछ कहा जाता है तो कर्मचारी संतोषजनक जवाब भी नहीं देते।

शहर में स्ट्रीट लाइटों की समस्या पर भी पार्षदों ने नाराजगी जाहिर की। इस पर नपा सचिव राजेंद्र कुमार ने कहा कि सरकार की नई योजना के तहत जल्द ही शहर में नई लाइटें लगाने का कार्य शुरु होने वाला है। इसके पश्चात इस समस्या से निजात मिल जाएगी। बता दें कि नपा की यह पांचवीं बैठक है जिसमें शहर की सफाई व्यवस्था, स्ट्रीट लाईट, कर्मचारियों के व्यवहार को लेकर व नगर पालिका द्वारा शहर में अवैध रूप से हो रहे बड़े बड़े निर्माण कार्यों को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं परंतु पालिका प्रशासन द्वारा तमाम मुद्दों पर कोई ठोस कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई है। पिछली मीटिंग की तरह इस मीटिंग में भी इस तरह के सभी मुद्दों को लेकर प्रशासनिक अधिकारी केवल आश्वासन देते दिखाई दे रहे हैं।