Hindi News »Haryana »Barwala» आज के भारत बंद को लेकर संघर्ष समिति ने बैठक कर किया प्रदर्शन करने का ऐलान

आज के भारत बंद को लेकर संघर्ष समिति ने बैठक कर किया प्रदर्शन करने का ऐलान

वाल्मीकि धर्मशाला में बैठक करते विभिन्न समुदाय के लोग। भास्कर न्यूज| बरवाला अनुसूचित जाति व जनजाति के लोगों...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:05 AM IST

वाल्मीकि धर्मशाला में बैठक करते विभिन्न समुदाय के लोग।

भास्कर न्यूज| बरवाला

अनुसूचित जाति व जनजाति के लोगों से जुड़े मामले को लेकर सुनाए गए निर्णय को लेकर रविवार को सर्वजातिय संघर्ष समिति के बैनर तले सिविल अस्पताल मार्ग स्थित वाल्मीकि धर्मशाला में एक बैठक हुई।

बैठक की अध्यक्षता सत्यवान बालक ने की। इस दौरान उपस्थित लोगों ने निर्णय लिया कि 2 अप्रैल के भारत बंद को सफल बनाने के लिए शहर व आसपास के गांवों के लोग सुबह 9 बजे वाल्मीकि धर्मशाला में एकत्रित होंगे। यहां से प्रदर्शन करते हुए विभिन्न संगठनों के लोग एसडीएम कार्यालय पहुंचेंगे व एसडीएम को ज्ञापन देंगे। बैठक में सीपीआईएम, बसपा, कांग्रेस पार्टी व विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों ने पहुंच कर आंदोलन का समर्थन किया। रविवार को संघर्ष समिति के लोगों ने शहर में अभियान चलाकर दुकानदारों व व्यापारियों से संपर्क साध कर अपने प्रतिष्ठान 2 अप्रैल को बंद रखने की अपील की। बैठक को मुख्यरूप से बसाऊराम सिंहमार, डॉ.करतार सिंह, अश्वनी गूंदली, संजय वाल्मीकि, सुधीर नूर, साधु राम, ठाकर दास हंस, सुरेश अठवाल, धर्म सिंह लांग्यान, किसान नेता मा.महेंद्र सिंह पूनिया, सीआईटीयू के तहसील प्रधान का.राजु बरवाला, एडवोकेट राजेश श्योकंद, माटी कला बोर्ड के पूर्व चेयरमैन भूपेंद्र गंगवा, मुकेश गर्ग, रवि सरदाना, मा.ईश्वर सिंह, मा. देशराज वर्मा, राजेश मजोका आदि ने संबोधित किया। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि सरकार ने कोर्ट में मामले को लेकर सही ढंग से पैरवी नहीं की। इस फैसले के खिलाफ सरकार दोबारा से कोर्ट में याचिका दायर कर मजबूती के साथ मामले की पैरवी करे।

एससी,एसटी एक्ट के प्रभावहीन करने के विरोध में सरकार का पुतला फूंका

सरकार के पुतले की शव यात्रा निकाल प्रदर्शन करते हुए।

नारनौंद। उपमण्डल में जलघर के नजदीक स्थित बाबा रविदास मंदिर में एकत्रित होकर अनुसूचित जाति व जनजाति के लोगों ने सरकार के पुतले की एक अर्थी तैयार की। उसके बाद नारनौंद के नए बस अड्डे के सामने से अनाज मण्डी होते हुए लोगों ने नारनौंद थाना के सामने जोरदार नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया।

प्रदर्शनकारियों ने पुतले को थाने के सामने ही फूंकने की कोशिश की। रोड की व्यवस्था को देखते हुए नारनौंद थाना प्रभारी साधूराम ने उन्हें थाना के सामने पुतले को आग नहीं लगाने दी। इस अवसर पर नरेश भोला ने बताया कि 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान एक्ट को पुन: बहाल करने के लिए प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति के नाम से ज्ञापन दिया जाएगा। प्रदर्शनकारियों में एक्ट में किए गए बदलाव के प्रति इतना गुस्सा था की उन्होंने पहले शव को जूतों से पीटा और पुतला फूंकने की प्रक्रिया आरंभ की। शव यात्रा में लोगों के साथ कुछ महिलाओं ने भी भाग लिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Barwala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×