बरवाला

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Barwala
  • किसानों की चेतावनी : सरकार मीटरों को उखाड़ना बंद करे नहीं तो कर्मचारियों को बनाएंगे बंधक
--Advertisement--

किसानों की चेतावनी : सरकार मीटरों को उखाड़ना बंद करे नहीं तो कर्मचारियों को बनाएंगे बंधक

भारतीय किसान यूनियन के नेतृत्व में शुक्रवार को रेस्ट हाउस में किसान-मजदूर महापंचायत का आयोजन हुआ। जिसमें हजारों...

Dainik Bhaskar

Feb 10, 2018, 04:05 AM IST
किसानों की चेतावनी : सरकार मीटरों को उखाड़ना बंद करे नहीं तो कर्मचारियों को बनाएंगे बंधक
भारतीय किसान यूनियन के नेतृत्व में शुक्रवार को रेस्ट हाउस में किसान-मजदूर महापंचायत का आयोजन हुआ। जिसमें हजारों की संख्या में किसानों ने पहुंचकर सरकार के खिलाफ हुंकार भरी। भाकियू ने किसानों की मांगों का पत्र एसडीएम राजेश कुमार को सौंपा। एसडीएम ने कहा कि सरकार को किसानों की मांगें भेज दी जाएंगी। भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश उपाध्यक्ष बिजेंद्र उर्फ बिल्लू ने कहा कि बिजली निगम किसानों के बिजली मीटर उखाड़ने बंद करे अन्यथा कर्मचारियों को बंधक बना लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि पहले तो बिजली निगम किसानों को अनाप शनाप बिल भेज देता है तथा बाद में उनके मीटर उखाड़ने का काम करता है जिसे किसान यूनियन कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। भारतीय किसान यूनियन की इस पंचायत में हजारों लोगों ने भाग लिया और यूनियन की मांगों को लेकर समर्थन किया। पंचायत में भले सिंह मोहिला को यूनियन का ब्लॉक प्रधान बनाने की घोषणा भी की गई। पंचायत में भाकियू के जिला महासचिव रवि आजाद ने कहा कि सरकार गांवों में जगमग योजना के नाम पर आम लोगों को गुमराह करने का काम कर रही है इसलिए समय रहते सरकार इस योजना को बंद करे। सिवानी क्षेत्र में किसानों को महीने में 15 दिनों तक नहरी पानी मुहैया करवाए तथा क्षेत्र में खाली पड़ी जमीन की गिरदावरी करवाकर किसानों को प्रति एकड़ पचास हजार रुपये के हिसाब से मुआवजा देने का काम करे। नौकरी के लिए 40 वर्ष की आयु पार कर चुके लोगों को पांच हजार प्रति महीने के हिसाब से दिया जाए।

एसडीएम खुद किसानों का ज्ञापन लेने रेस्ट हाउस पहुंचे

एसडीएम राजेश कुमार भाकियू का ज्ञापन लेने रेस्ट हाउस पहुंचे। भाकियू के पदाधिकारियों ने किसानों व मजूदरों का मांगपत्र सौंपा। एसडीएम ने कहा कि किसानों व मजदूरों की मांग को सरकार तक भेजा जाएगा। मजदूर किसान पंचायत को प्रदेश अध्यक्ष र| मान, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामफल कंडेला, जिला महासचिव रवि आजाद बहल, कांग्रेसी नेता शीशराम मेचू सहित अनेक नेताओं ने संबोधित किया।

किसानों को संबोधित करते किसान नेता रवि आजाद।

बलिदान दिवस को लेकर गांवों में दिया निमंत्रण

सुलखनी | 15 फरवरी को जींद में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रैली को लेकर जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने विरोध करते हुए जींद को चारों तरफ से घेरने की तैयारी शुरू कर दी है। शुक्रवार को जाट आरक्षण संघर्ष समिति के बरवाला अध्यक्ष एवं बुगाना गांव के पूर्व सरपंच दीपक सूरा के नेतृत्व में गांव राजली, बिछपड़ी, सरसौद, खेदड़ सहित दर्जन भर गांव का दौरा कर ग्रामीणों को जींद को चारों तरफ से घेरने का निमंत्रण दिया। वहीं इसमें प्रदेश सचिव बलवान सुंडा ने कहा कि जिस तरह से सरकार ने उनके साथ धोखा किया था उसका विरोध है अभी तक दर्ज मुकदमों में किसी एक को वापस नहीं लिया गया और इसका विरोध है उन्होंने कहा कि 15 को जींद जिले में अमित शाह की रैली है उसका पुरजोर विरोध करेंगे।

जाट आरक्षण संघर्ष समिति के सदस्य गांवों का दौरा कर बलिदान दिवस में आने का न्योता देते हुए।

X
किसानों की चेतावनी : सरकार मीटरों को उखाड़ना बंद करे नहीं तो कर्मचारियों को बनाएंगे बंधक
Click to listen..