--Advertisement--

डीएसपी से मिले परिजन तो दर्ज हुआ केस

Dainik Bhaskar

Feb 07, 2018, 04:15 AM IST

Barwala News - दो दिनों से सोशल मीडिया पर चल रही मलेशिया गए युवकों की वीडियो का जब सुनील व प्रवीन के परिजनों को पता चला तो वे मामले...

डीएसपी से मिले परिजन तो दर्ज हुआ केस
दो दिनों से सोशल मीडिया पर चल रही मलेशिया गए युवकों की वीडियो का जब सुनील व प्रवीन के परिजनों को पता चला तो वे मामले की शिकायत लेकर स्थानीय पुलिस चौकी पहुंचे। आरोप है कि यहां उन्होंने शिकायत दे दी लेकिन कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई। मंगलवार शाम को नाराज परिजन व क्षेत्रवासी डीएसपी कार्यालय पहुंचे यहां उन्होंने डीएसपी जयपाल सिंह से मामले के संबंध में बातचीत की व आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज करने की गुहार लगाई। सुभाष, किशन लाल, जिले सिंह, बलवान, रतिराम, सुरेश, कृष्ण बलवंत ढाणी, मनोज, संजय, पवन, राजन, विकास आदि ने कहा कि वे कई बार पुलिस चौकी के चक्कर लगा चुके हैं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। पूरा मामला संज्ञान में आने के बाद डीएसपी जयपाल सिंह ने परिजनों से कहा कि उनकी शिकायत दर्ज हो रही है पुलिस स्टेशन जाकर एफआईआर की प्रति ले लो। देर शाम क्षेत्रवासी पुलिस स्टेशन पहुंचे। यहां मालूम हुआ कि मामले के संबंध में बलवंत सैन व उसके बेटे चंद्र प्रकाश के खिलाफ धारा 420, 406 व 120बी के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। परिजनों ने बताया कि चंद्र प्रकाश व बलवंत सैन से कई लोग ठगे जा चुके हैं। ये विभिन्न क्षेत्रों से करीबन 30-35 युवाओं को नौकरी के नाम पर पैंसा ऐंठ कर मलेशिया भेज चुके हैं।

-मुख्य समाचार दैनिक भास्कर में पढ़ें

शिकायत लेकर थाने पहुंचे मलेशिया में फंसे तीनों युवकों के परिजन।

45 हजार महीना नौकरी का दिया था झांसा

डीएसपी जयपाल सिंह का कहना है कि प्रवीण के परिजनों ने शिकायत दी थी। शिकायत में प्रवीण के भाई जितेंद्र ने आरोप लगाया है कि बरवाला के चंद्र प्रकाश और उसके पिता बलवंत ने मिलकर धोखाधड़ी कर ली है। विदेश में 45 हजार रुपए प्रतिमाह के हिसाब से किसी कंपनी में नौकरी दिलवाने की बात कही गई थी, लेकिन अब उसके भाई को दिहाड़ी वैगेरह के लिए छोड़ दिया गया है। पुलिस ने इस प्रकरण में धारा 420 और 120बी के तहत केस दर्ज किया गया है।

परिजन बोले: बच्चे नौकरी करने गए थे, उन्होंने बंधुआ मजदूर बनाकर छोड़ दिए

परिजनों का आरोप है कि चंद्र प्रकाश व उसके पिता बलवंत सैन ने युवकों को मानव तस्करी के तहत कंपनी में बंधुआ मजदूर बना दिया। शहर के वार्ड एक का रहने वाला सुनील पुत्र ऋषिपाल भी 7 जनवरी को जयपुर से फ्लाइट लेकर चंद्र प्रकाश के पास गया था। सुनील के चाचा राम भगत ने बताया कि सुनील के वीजा, टिकट आदि के खर्च के लिए उन्होंने बलवंत सैन को डेढ़ लाख रुपए दिए। अब जो वीडियो सामने आई है उसमें उनका बेटा सुनील बरवाला के वार्ड 2 निवासी प्रवीन व नारनौंद के सुनील के साथ तंग हालत में है। प्रवीन और जितेंद्र दो भाई हैं। नारनौंद के सुनील व सुभाष दो भाई हैं जबकि वार्ड एक का रहने वाला सुनील इकलौता है। 21 वर्षीय प्रवीन बारहवीं पास है जबकि 23 वर्षीय सुनील दसवीं व 22 वर्षीय सुनील पुत्र रिषीपाल भी बारहवीं पास है। तीनों अविवाहित हैं।

X
डीएसपी से मिले परिजन तो दर्ज हुआ केस
Astrology

Recommended

Click to listen..