• Home
  • Haryana News
  • Barwala
  • सरहेड़ा-सिंघवा खास में आग ने किसानों के सपने किए राख
--Advertisement--

सरहेड़ा-सिंघवा खास में आग ने किसानों के सपने किए राख

क्षेत्र में शुक्रवार को कई स्थानों पर खेतों में आग लगने की घटनाएं हुई हैं। आग के कारण 10 से अधिक किसानों की 25 एकड़ से...

Danik Bhaskar | Apr 21, 2018, 02:05 AM IST
क्षेत्र में शुक्रवार को कई स्थानों पर खेतों में आग लगने की घटनाएं हुई हैं। आग के कारण 10 से अधिक किसानों की 25 एकड़ से अधिक में खड़ी गेहूं की फसल राख हो गई। वहीं कई स्थानों पर खेतों में पड़े तूड़े में भी आग लग गई। सबसे बड़ी आग लगने की घटना गांव सरहेड़ा में हुई यहां 7 किसानों की करीबन 19 एकड़ गेहूं की फसल जल गई। जिन किसानों के खेतों में आग लगी उनमें बलवीर की 4 एकड़, आजाद की 2, करतारा की 4, कुलदीप की एक, रामकिशन पुत्र थांबू राम की 2 व रामकिशन पुत्र मामन राम की 2 एकड़ गेहूं शामिल है। वहीं गांव भैणी बादशाहपुर में पूर्व सरपंच बलवान सिंह सिहाग की डेढ़ एकड़ में खड़ी गेहूं की फसल जल गई। आसपास के किसानों का तूड़ा आदि भी जल गया। गांव ढाणी गारण में रामबख्श की करीबन 2 एकड़ फसल जल कर राख हो गई। गांव मतलोडा में किसान सुभाष पुत्र चतर सिंह की दो एकड़ में खड़ी गेहूं की फसल जल गई। उधर, बालक चौपटा के नजदीक सड़क किनारे एक खेत में पड़ी पराली भी भेंट चढ़ गई।

दमकल गाड़ी का पूरे दिन सुनाई देता रहा सायरन

मार्केट कमेटी की दमकल की गाड़ी का सायरन सुबह से लेकर देर शाम तक शहर में बजता रहा। यहां मात्र एक गाड़ी होने के चलते शुक्रवार को किसानों व दमकल कर्मियों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। बता दें कि नगर पालिका के दमकल विaभाग के पास भी एक वाहन है। शुक्रवार को सुबह इसमें पंक्चर हो गया था। बाद में पंक्चर लगवाने के बाद यह गाड़ी टोहाना क्षेत्र के खेतों में लगी आग को बुझाने के कार्य के लिए गई थी। लेकिन देर शाम तक वापिस नहीं लौटी। यहां विभाग की दूसरी गाड़ी कंडम हालत में खड़ी है।

तहसीलदार ने दौरा कर नुकसान का लिया जायजा

क्षेत्र के गांव सरहेड़ा के खेतों में लगी आग का मुआयना करने के लिए शुक्रवार को तहसीलदार राजेश कुमार ने घटनास्थल का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने मौके की रिपोर्ट बनाई व प्रभावित किसानों से बातचीत कर उन्हें आश्वासन दिया कि रिपोर्ट बनाकर वे मुआवजे के लिए सरकार को भेजेंगे। गांव सरहेड़ा के खेतों में लगी आग की सूचना देने के लिए तुरंत किसानों ने दमकल विभाग का नंबर मिलाया। लेकिन बार बार फोन मिलाने के बाद भी यहां किसी कर्मचारी ने फोन रिसीव नहीं किया। बाद में दो तीन किसान स्वयं बरवाला पहुंचे व दमकल विभाग में मौजूद कर्मचारियों को खरी-खरी सुनाई। इसके बाद दमकल कर्मी आग बुझाने के लिए रवाना हुए। खेतों लगी आग को बुझाने के गांव सरहेड़ा के काफी संख्या में लोग खेतों की ओर निकल पड़े।

गांव सरहेड़ा के खेतों में आग के कारण राख में तब्दील हुए गेहूं की फसल के खेत।

अंधड़ के चलते खेतों में फिर लगी आग

हांसी/बास | इलाके में पूरे दिन अंधड़ के कारण खेतों में तैयार फसलों में आग लगने की घटनाएं हुईं। गेहूं के साथ साथ फाने व तूड़ी में आग लगने की घटनाएं भी सामने आई। शुक्रवार को आग लगने से सबसे ज्यादा नुकसान सिंघवा खास में हुआ।

बास क्षेत्र के सिंघवा खास के खेतों में खड़ी गेहूं की फसल में आग लग गई और करीब पांच एकड़ में खड़ी गेहूं की फसल व फाने जलकर राख हो गए। आग पर काबू पाने के लिए फायर बिग्रेड की गाड़ी मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाया। पीड़ित किसानों ने सरकार से मांग की कि सरकार उन्हें उचित मुआवजा दे। सिंघवा खास के खेतों में खड़ी गेहूं की 8 एकड़ फसल व 21 एकड़ गेहूं के फाने जलकर राख हो गए।

किसान जितेंद्र सिंह की साढ़े तीन एकड़, बलवान की दो एकड़, राकेश की एक एकड़, जोगेंद्र की एक एकड़ सुरेश व प्रद्युमन की आधा आधा एकड़ और बलवान के 11 एकड़ व जय नारायण के दस एकड़ गेहूं के फाने जलकर राख हो गए। जैसे ही किसानों ने खेतों से धुआं उठता देखा तो उन्होंने तुरंत ही दमकल विभाग व पुलिस को फोन कर सूचना दी और अपने स्तर पर आग बुझाने के प्रयास शुरू कर दिए।

आग धीरे धीरे गांव के समीप पहुंचने लगी थी। कुछ ही समय के बाद हांसी से दमकल विभाग की गाड़ी मौके पर पहुंची और उन्होंने आग पर काबू पा लिया। आग लगने की सूचना मिलते ही बास के तहसीलदार रामचंद व बास थाना प्रभारी रमेश कुमार भी मौके पर पहुंचे। किसानों ने बताया कि उनकी छह महीने की मेहनत जल कर राख हो गई है और अब परिवार का पेट भरने के लिए उनके पास एक दाना भी नहीं बचा है। इसलिए सरकार उनको मुआवजा देने की घोषणा करे।

बरवाला रो़ड पर बाईपास के समीप एक किला जमीन में खड़ी गेहूं में आ लगी। हिसार रोड पर जैन मंदिर के समीप बिजली की तार टूटने से तीन कनाल खेत में गेहूं की फसल व एक किला जमीन में फाने में आग लगी। शेखपुरा में सरकारी स्कूल के पास भी खड़ी फसल में आग लगी। पुट्‌टी मंगलखां में आग लगने की सूचना मिली।

आग लगने की घटनाएं सुबह छह बजे से शुरू हुई और देर रात तक आग लगने की छोटी-छोटी घटनाएं सामने आती रही। सुबह से ही दमकल विभाग के कर्मचारी आग बुझाने के लिए भागा दौड़ करते रहे। आग बुझाने के लिए दमकल में खड़ी सभी गाड़ियां अन्य अन्य स्थानों पर गई।

मदीना में भी गई गाड़ी

रोहतक के मदीना में खेतों में खड़ी गेहूं, प्लास्टिक पाइप में आग लगी। यहां पर रोहतक के साथ-साथ हांसी दमकल विभाग की एक गाड़ी पहुंची थी।