• Hindi News
  • Haryana News
  • Barwala
  • मनाने पहुंचे एसडीओ व तहसीलदार से पार्षद बोले- समाधान कराओ, धरना खुद उठा लेंगे
--Advertisement--

मनाने पहुंचे एसडीओ व तहसीलदार से पार्षद बोले- समाधान कराओ, धरना खुद उठा लेंगे

सीवर सिस्टम व पेयजल सप्लाई को दुरुस्त किए जाने की मांग को लेकर नगर पालिका के पार्षदों व शहर के विभिन्न वार्डों के...

Dainik Bhaskar

Apr 24, 2018, 03:05 AM IST
सीवर सिस्टम व पेयजल सप्लाई को दुरुस्त किए जाने की मांग को लेकर नगर पालिका के पार्षदों व शहर के विभिन्न वार्डों के लोगों ने जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग के कार्यालय के समक्ष सोमवार को अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया। इस दौरान पार्षदों व क्षेत्रवासियों ने ऐलान किया है कि जब तक सभी समस्याओं का समाधान नहीं हो जाता उनका धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। धरने को समर्थन देने के लिए विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी भी पहुंचे। धरने पर महिलाएं भी काफी संख्या में पहुंची।

धरने पर बैठे लोगों से बातचीत करने के लिए जलापूर्ति विभाग के एसडीओ बलवंत पूनिया व तहसीलदार राजेश कुमार भी पहुंचे। लेकिन धरनारत क्षेत्रवासियों ने कहा कि समस्याओं के समाधान की तरफ कदम बढ़ाओ वे धरना समाप्त कर देंगे। धरने पर नगर पालिका के 19 पार्षदों में से 4 पार्षद नहीं पहुंचे। नपा चेयरपर्सन पंकज बादल भी धरने पर बैठे पार्षदों का समर्थन करने पहुंचे। जिन संगठनों ने धरने का समर्थन दिया उनमें मुख्य रूप से कांग्रेस के पूर्व विधायक रामनिवास घोड़ेला, हाउसिंग बोर्ड के चेयरमैन जोगीराम सिहाग, सीपीआईएम के तहसील सचिव रोहतास राजली, किसान सभा के उपप्रधान महेंद्र पूनिया, मुकेश गर्ग, राजा महता, मुनीश गुप्ता, अनिल गर्ग आदि शामिल हैं। पार्षद कालू राम, धर्म सिंह लांग्यान, अनिल संदूजा, पूजा गूंदली, पुनीत जावा, जगदीश गुलाटी, अश्वनी गूंदली, मोनू संदूजा, तारा चंद नलवा, बलजीत सैनी, संजीव कुमार, रामकेश बंसल, दर्शन प्रजापति, राहुल, सतीश मित्तल आदि ने कहा कि शहर के दर्जनों स्थानों पर सीवर सिस्टम फेल है। पेयजल सप्लाई की लाइनें काफी पुरानी हो चुकी हैं। इनमें रिसाव के चलते क्षेत्रवासियों के मकानों को नुकसान पहुंच रहा है और लोगों को दूषित पानी की सप्लाई मिल रही है। पार्षदों ने कहा कि पुराने जलघर के वाटर टैंक कई वर्षों पुराने हैं। इनकी ना ही तो मरम्मत हुई है और ना ही इनकी कभी साफ सफाई ही की गई। पार्षदों ने कहा कि जलघर के फिल्टर भी इन दिनों बंद हैं। पेयजल सप्लाई के दौरान विभाग द्वारा ब्लीचिंग पाउडर भी नहीं डाला जा रहा है। जनसंख्या के आधार पर शहर में पेयजल के लिए पाइप लाईन व सीवर लाईन बिछाई जाए। अग्रसेन धर्मशाला की तरफ दूषित पानी के नाले के स्थान पर सीवर लाईन डाली जाए।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..