Hindi News »Haryana »Barwala» प्लांट में झुलसे छह मजदूरों में से दो की मौत पर आक्रोश

प्लांट में झुलसे छह मजदूरों में से दो की मौत पर आक्रोश

खेदड़ स्थित राजीव गांधी थर्मल पावर प्लांट में क्लिंकर गिरने से झुलसे 6 मजदूरों में से खेदड़ निवासी विक्रम व अमित...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 10, 2018, 03:05 AM IST

प्लांट में झुलसे छह मजदूरों में से दो की मौत पर आक्रोश
खेदड़ स्थित राजीव गांधी थर्मल पावर प्लांट में क्लिंकर गिरने से झुलसे 6 मजदूरों में से खेदड़ निवासी विक्रम व अमित की उपचार के दौरान मौत हो गई। हादसे के बाद गुस्साए कर्मियों ने बुधवार को काम बंद कर रखा है। ग्रामीणों ने मजदूरों की डेडबॉडी प्लांट के गेट के बाहर रख प्रदर्शन किया। वहीं देर रात करीब एक बजे तक प्रशासनिक अधिकारियों और मामले में गठित 21 सदस्यीय संघर्ष कमेटी के बीच बातचीत के दौर चलते रहे। मांगों पर सहमति न बनने पर गुरुवार सुबह दोबारा दोनों पक्षों में फिर बातचीत होगी।

ग्रामीण बुधवार सुबह 8 बजे से ही थर्मल के गेट पर धरना लगाकर बैठ गए थे। पोस्टमार्टम के बाद शवों को लेकर परिजन दोपहर करीब ढाई बजे थर्मल के मुख्य गेट के सामने पहुंच गए। ग्रामीणों ने ऐलान किया कि जब तक मामले को लेकर थर्मल के चीफ विनोद सेठी, सुपरिटेंडेंट इंजीनियर इकबाल सिंह तथा अन्य मुख्य अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई नहीं की जाती, तब तक शवों का अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। प्रदर्शनकारियों ने पीड़ित परिवारों को 50-50 लाख का मुआवजा और परिवार के 2-2 सदस्यों को सरकारी नौकरी दिए जाने की भी मांग की।

उधर, देर रात पुलिस ने जिला प्रशासन के निर्देश पर प्लांट में कार्यरत अधीक्षक अभियंता इकबाल खान, कार्यकारी अभियंता मनोज यादव और एसडीओ विनीत शर्मा के खिलाफ भी केस दर्ज किया है। अधिकारियों पर केस दर्ज करवाने के लिए ग्रामीण सुबह से ही मांग कर रहे थे। पुलिस ने मनोज के बयान पर ईएनईआरजीओ कंपनी के लेबर ठेकेदार जिला हिसार के गांव मिंगनी खेड़ा निवासी प्रवीन व साइट इंचार्ज राजेश के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 336, 337, 338 के खिलाफ मामला दर्ज किया था। पुलिस ने राजेश को बुधवार सुबह ही गिरफ्तार कर लिया था।

(संबंधित खबर पेज- 6 पर भी)

प्रकरण

रात एक बजे तक नहीं बनी सहमति सुबह फिर होगी कमेटी से बातचीत

डेडबॉडी रखकर खेदड़ थर्मल प्लांट के बाहर डटे परिजन व ग्रामीण

थर्मल के बाहर ग्रामीण प्रशासनिक अफसरों के सामने अपनी मांगें रखते हुए।

सेफ्टी का सामान डलवाने की कोशिश करते पकड़ा

प्रबंधन ने हादसा स्थल पर बॉयलर के पास सेफ्टी का सामान डलवाने की कोशिश की। यूनियन सदस्यों को इसकी भनक लग गई। उन्होंने मौके पर सामान डालने वालों को पकड़ लिया। मामले की सूचना पुलिस के पास पहुंची। पुलिस ने मुआयना किया और जरूरी साक्ष्य जुटाए। इसके अलावा पुलिस ने कर्मचारियों के बयान भी दर्ज किए। दोपहर को सेफ्टी फायर एंड लेबर डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने जांच की।

प्रशासन के साथ कई बार वार्ता हुई। मगर मांगों पर सहमति नहीं बनी। मुआवजा और सरकारी नौकरी मिले व एसडीओ से लेकर चीफ इंजीनियर तक के अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तारी हो।’’ जोगीराम खेदड़, प्रधान 21 सदस्यीय कमेटी।

इस मामले में लापरवाही हुई है। मामले को लेकर उच्च स्तरीय जांच कमेटी का गठन किया है। कमेटी से बातचीत चल रही है। अशोक कुमार मीणा, डीसी हिसार।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Barwala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×