• Home
  • Haryana News
  • Barwala
  • परिजन बोले- गिरफ्तारी तक गांव में तैनात रहे पुलिस
--Advertisement--

परिजन बोले- गिरफ्तारी तक गांव में तैनात रहे पुलिस

बरवाला | गांव ढाणी खानबहादुर में 15 अप्रैल को शराब ठेकेदारों द्वारा किरयाणे की दुकान के संचालक भले राम की गांव में...

Danik Bhaskar | Apr 30, 2018, 03:05 AM IST
बरवाला | गांव ढाणी खानबहादुर में 15 अप्रैल को शराब ठेकेदारों द्वारा किरयाणे की दुकान के संचालक भले राम की गांव में शराब का ठेका चलाने वालों ने अपहरण कर उसकी पिटाई कर हत्या कर दी थी। भले राम के परिजनों ने मामले के सभी आरोपितों को गिरफ्तार किए जाने की मांग की है। परिजनों ने बताया कि पुलिस ने अभी तक 3 आरोपितों को ही गिरफ्तार किया है। वहीं शुक्रवार से गांव में तैनात पुलिस की पीसीआर को भी वापस बुला लिया गया है। परिजनों का कहना है कि जब तक मामले के सभी आरोपितों को गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता तब तक गांव में पुलिस की तैनाती रहनी चाहिए। वहीं बताया जा रहा है कि पुलिस ने मामले से जुड़े एक-दो व्यक्तियों को राउंडअप किया है। बता दें कि 15 अप्रैल की देर शाम को भले राम गांव में अपने घर में बनी किरयाणे की दुकान में था। इस दौरान दो कारों व बाइक पर सवार होकर करीबन 10-12 लोग जो शराब ठेकेदार व उसके कारिंदे थे भले राम की दुकान में आ घुसे। आरोप है कि कारों में सवार होकर आए युवक भले राम को कार में डाल कर ले गए व उसकी पिटाई कर वापिस छोड़ गए। परिजन भले राम को अस्पताल में ले गए यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। मामले में पुलिस ने गांव सरसौद निवासी मनजीत, गांव बधावड़ निवासी शरणदीप उर्फ कालू व दिलबाग उर्फ अज्जु को वारदात के अगले दिन गिरफ्तार किया था। परिजन अब अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।

इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में जतिंद्र पाल का नाम दर्ज

हांसी| लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में 8 बार व एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में तीन बार अपना नाम दर्ज करवा चुके शहर के जतिंद्र पाल सिंह ने नया कीर्तिमान बनाया है। 19 नंबर की सुई के छेद में 26 हजार 700 धागे डालकर नया कीर्तिमान बनाया। इसके लिए उनका नाम इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज किया गया। सरदार जतिंद्र पाल सिंह ने बताया कि उन्होंने दो घंटे में 26 हजार 700 धागे 19 नंबर सुई में डाले। इसके लिए उन्होंने किसी तरह के लैंस का उपयोग भी नहीं किया। इससे पहले 7 नंबर सुई में उनके नाम 2035 धागे डालने का रिकॉर्ड भी दर्ज हो चुका है। उन्होंने चावल के दाने पर 118 देशों के राष्ट्रीय ध्वज बनाने, सबसे छोटा पैन, छोटा हनुमान चालीसा, चरखा, शतरंज इत्यादि के लिए रिकॉर्ड दर्ज करवा चुके हैं। वे आरपीएस स्कूल में आर्ट टीचर हैं व सूक्ष्म कला अनेक कृतियां बना चुके हैं।