• Home
  • Haryana News
  • Barwala
  • बिरेंद्र सिंह बोले-मैं कांग्रेस में होता तो प्रदेश में छठी कांग्रेस जींद की होती
--Advertisement--

बिरेंद्र सिंह बोले-मैं कांग्रेस में होता तो प्रदेश में छठी कांग्रेस जींद की होती

ग्राम शक्ति अभियान के तहत शनिवार को केंद्रीय इस्पात मंत्री बिरेंद्र सिंह गांव राजली पहुंचे। गांव पहुंचने पर...

Danik Bhaskar | Apr 29, 2018, 03:10 AM IST
ग्राम शक्ति अभियान के तहत शनिवार को केंद्रीय इस्पात मंत्री बिरेंद्र सिंह गांव राजली पहुंचे। गांव पहुंचने पर ग्राम पंचायत ने उन्हें सम्मान सूचक पगड़ी पहनाकर स्वागत किया। चौधरी बिरेंद्र सिंह ने अपने संबोधन में पंचायत प्रतिनिधियों व किसानों को ग्राम उत्थान हेतू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व केंद्र सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। इससे पूर्व केंद्रीय मंत्री ने गांव में बरसाती पानी के लिए बनाए गए ड्रेन का उद्घाटन किया।

बिरेंद्र सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार की योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुंच रहा है लेकिन जानकारी के अभाव के कारण किसान लाभ नहीं ले पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में हरियाणा में पांच कांग्रेस काम कर रही हैं। हिसार में कुलदीप बिश्नोई की कांग्रेस है तो रोहतक में भूपेंद्र सिंह हुड्डा की कांग्रेस है। इसी प्रकार सिरसा में अशोक तंवर की, भिवानी में किरण चौधरी की तो कैथल में रणदीप सुरजेवाला की कांग्रेस है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह तो उन्होंने सही समय पर कांग्रेस छोड़ दी वर्ना वे भी पीछे नहीं होते और छठी कांग्रेस जींद की होती। इनेलो और बसपा गठबंधन पर चुटकी लेते हुए बिरेंद्र सिंह बोले कि इनेलो और बसपा तो दोनों ऐसे हैं जो खुद ही एक-दूसरे को देखकर राजी नहीं हैं और जनता इन्हें देखकर खुश नहीं है।

उन्होंने इनेलो के गठबंधन पर कटाक्ष करते हुए कहा कि हाथी पर चश्मा नहीं टिक पाएगा। उन्होंने कहा कि देश व प्रदेश का मुखिया आमजन का भला चाहता है। उन्होंने कहा कि युवाओं को सरकारी नौकरी के बजाए निजी व्यवसाय की ओर ध्यान देना चाहिए। कार्यक्रम में गांव में दलित समाज की एक गली को पक्का करने के लिए केंद्रीय मंत्री ने अपने निजी कोष में से 10 लाख रुपए की राशि देने की घोषणा की। कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री के साथ भाजपा के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र पूनिया, जोगीराम सिहाग, सुनीता दुग्गल, निगरानी समिति के जिलाध्यक्ष मंदीप मलिक, आशा खेदड़, तहसीलदार राजेश कुमार, बीडीपीओ संजय टांक, गांव के सरपंच ओमप्रकाश व ग्रामीण मौजूद रहे।