• Home
  • Haryana News
  • Barwala
  • प्रशासन के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने धरना किया समाप्त, शाम 6 बजे हुआ दाह संस्कार
--Advertisement--

प्रशासन के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने धरना किया समाप्त, शाम 6 बजे हुआ दाह संस्कार

गांव ढाणी खानबहादुर के 58 वर्षीय भले राम की शराब ठेकेदारों द्वारा हत्या किए जाने के आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग...

Danik Bhaskar | Apr 18, 2018, 03:10 AM IST
गांव ढाणी खानबहादुर के 58 वर्षीय भले राम की शराब ठेकेदारों द्वारा हत्या किए जाने के आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शव के अंतिम संस्कार नहीं करने पर अड़े ग्रामीणों ने मंगलवार को धरना समाप्त कर दिया। करीबन शाम 6 बजे ग्रामीणों व परिजनों ने एसडीएम पृथ्वी सिंह के आश्वासन के बाद भले राम का परिजनों ने अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस ने 3 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इनमें में सरसौद निवासी मनजीत, गांव बधावड़ निवासी शरणदीप उर्फ कालू व दिलबाग उर्फ अज्जू शामिल हैं।पिछले दो दिन से पुलिस अधिकारी लगातार परिजनों को शव का अंतिम संस्कार किए जाने के लिए राजी कर रहे थे लेकिन ग्रामीण मामले के सभी आरोपितों की गिरफ्तारी, मृतक के बेटे को सरकारी नौकरी दिए जाने जैसी मांगों को लेकर धरने पर बैठे थे। मंगलवार को डीएसपी जयपाल सिंह व थाना प्रभारी देवेंद्र कुमार ने ग्रामीणों से धरना समाप्त करने की बात कही लेकिन ग्रामीण नहीं माने। बाद में पुलिस अधिकारियों ने मौके पर एसडीएम पृथ्वी सिंह को बुलाया। यहां ग्रामीणों द्वारा बनाई गई संघर्ष समिति के सदस्यों से एसडीएम व डीएसपी ने कई देर तक चर्चा की। इसके बाद प्रशासन के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने अंतिम संस्कार किए जाने का निर्णय लिया।ग्रामीणों द्वारा गांव की फिरनी पर भले राम के घर के नजदीक लगाए गए धरना स्थल पर मंगलवार को कई राजनीतिक व सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी पहुंचे व पीडि़त परिवार के लोगों को ढांढस बंधाया। धरने में पहुंचने वालों में इनेलो विधायक वेद नारंग, रणवीर गंगवा, पूर्व विधायक रामनिवास घोड़ेला, भूपेंद्र गंगवा, अधिवक्ता लाल बहादुर खोवाल, हनुमान वर्मा के अलावा आसपास के क्षेत्र के कई लोग भले राम के अंतिम संस्कार के समय व धरना स्थल पर पहुंचे।

बैठक में निकला समाधान

धरना स्थल पर सुबह से ही गांव ढाणी खानबहादुर व आस पास के क्षेत्र से काफी संख्या में महिलाएं व पुरुष धरना स्थल पर भारी संख्या में जुटने शुरू हो गए थे। एसडीएम पृथ्वी सिंह मौके पर पहुंचे व भलेराम संघर्ष समिति के सदस्यों में से 5 लोगों के साथ अधिकारियों ने मीटिंग की। दोपहर बाद हुई इस मीटिंग में एसडीएम पृथ्वी सिंह, डीएसपी जयपाल सिंह, थाना प्रभारी देवेंद्र कुमार, तहसीलदार राजेश कुमार, बीडीपीओ संजय टाक व मृतक भले राम के परिवार के सदस्य सहित गांव के गणमान्य लोग शामिल थे। करीबन डेढ़ घंटा चली मीटिंग के बाद दोनों पक्षों में सहमति बन पाई।

भले राम की हत्या के बाद आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं होने के चलते नाराज ग्रामीणों ने रविवार रात को गांव के नजदीक खेतों में बने शराब के ठेके में तोड़ फोड़ की थी। भड़के ग्रामीणों के गुस्से को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने पिछले दो दिनों से गांव के आसपास अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की हुई थी।

गांव में नहीं रहेगा अब शराब का ठेका, बेटे को डीसी रेट पर नौकरी दिलाने का मिला आश्वासन

गांव ढाणी खानबहादुर में धरने पर बैठे लोगों को प्रशासन द्वारा लिए गए निर्णयों की जानकारी देते एसडीएम पृथ्वी सिंह।

तैनात रहेगी गांव में पीसीआर

एसडीएम पृथ्वी सिंह व डीएसपी जयपाल सिंह ने धरने पर बैठे ग्रामीणों को आश्वासन दिया है कि भले राम की हत्या के सभी आरोपितों को एक सप्ताह के भीतर गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वहीं अब भविष्य में शराब का ठेका नहीं रहेगा। परिवार को एक लाख रुपए की राशि व परिवार के एक सदस्य को डीसी रेट पर नौकरी देने की सिफारिश की जाएगी। परिवार के तीन लोगों के शस्त्र लाइसेंस बनाए जाएंगे। गांव में पुलिस की पीसीआर तैनात रहेगी।