• Hindi News
  • Haryana
  • Barwala
  • थर्मल के खाली इलाके में पेड़-पौधों में लगी आग, एक घंटे में छह गाड़ियों ने पाया काबू
--Advertisement--

थर्मल के खाली इलाके में पेड़-पौधों में लगी आग, एक घंटे में छह गाड़ियों ने पाया काबू

प्लांट के अंदर करीबन 30 एकड़ में पेड़ पौधे लगे हुए हैं। इसके चलते इस स्थान ने जंगल जैसा रूप ले रखा है। जिस समय संघर्ष...

Dainik Bhaskar

May 11, 2018, 03:10 AM IST
थर्मल के खाली इलाके में पेड़-पौधों में लगी आग, एक घंटे में छह गाड़ियों ने पाया काबू
प्लांट के अंदर करीबन 30 एकड़ में पेड़ पौधे लगे हुए हैं। इसके चलते इस स्थान ने जंगल जैसा रूप ले रखा है। जिस समय संघर्ष समिति सदस्यों व प्रशासन के बीच बातचीत चल रही थी उस दौरान करीबन ढाई बजे जंगल में अचानक आग लग गई। आग के कारण थर्मल प्लांट के अधिकारियों में हड़कंप मच गया।

आग करीबन 10-15 एकड़ में फैल गई। पेड़ पौधों के बीच पड़े सूखे पत्तों के कारण आग तेजी से चारों ओर फैल गई। आग पर काबू पाने के लिए थर्मल में मौजूद दमकल विभाग की करीबन 4 गाड़ियां जुट गई। साथ ही बरवाला से भी दमकल की दो गाडिय़ों को बुलाया गया। दमकल कर्मियों ने जंगल के चारों तरफ पहुंच कर आग पर करीबन एक घंटे में काबू पाया। आग के कारणों का पूरी तरह पता नहीं चल सका है। वहीं आशंका ये जताई जा रही है कि गुरुवार को थर्मल के मुख्य गेट से आने जाने वालों को रोकने के लिए सीआईएसएफ के जवानों द्वारा सख्ती नहीं बरती जा रही थी। ऐसे में कुछ शरारती तत्वों ने आग लगा दी। वहीं ये भी समझा जा रहा है कि दर्जनों लोग प्लांट में घुसे हुए थे किसी ने बीड़ी-सिगरेट पी होगी और जलती हुई बीड़ी सिगरेट जमीन पर गिराने से आग लग गई।

खेदड़ थर्मल पॉवर प्लांट में पेयजल व्यवस्था गड़बड़ाई

खेदड़ थर्मल पॉवर प्लांट में मंगलवार को हुए हादसे के बाद यहां कार्यरत करीबन 1400 स्थायी व कच्चे कर्मचारियों के लगातार दो दिन हड़ताल पर रहने के चलते जहां प्लांट में बिजली उत्पादन ठप होकर रह गया वहीं प्लांट में गुरुवार को पेयजल किल्लत रही व सफाई व्यवस्था भी चरमराई नजर आई। हालत ये थे कि प्लांट मैनेजमेंट की ओर से गुरुवार को उपयोग के लिए पानी के टैंकर व पेयजल के लिए बरवाला के आरओ प्लांट से पानी के कैंपर मंगवाने पड़े। थर्मल प्लांट के कई स्थानों पर सफाई व्यवस्था भी दुरुस्त नहीं थी।

कर्मचारियों की हड़ताल से अग्निशमन सेवा ठप

बरवाला | नगर पालिका के सफाई व दमकल विभाग के कर्मचारियों की हड़ताल गुरुवार को दूसरे दिन भी जारी रही। इस दौरान कर्मचारी नपा कार्यालय में एकत्रित हुए व गेट पर धरना लगाकर विरोध प्रदर्शन किया। वहीं कच्चे कर्मचारियों ने भी धरने का समर्थन करते हुए हड़ताल रखी। सफाई कर्मियों व दमकल कर्मियों ने सरकार व प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर भड़ास निकाली। प्रदर्शन की अध्यक्षता नगर पालिका कर्मचारी संघ के प्रधान सुरेश भादड़ ने की। धरने पर बैठने वालों में नपा के 37 स्थाई सफाई कर्मचारी, ठेकेदार के माध्यम से काम कर रहे 40 सफाई कर्मचारी व अग्निशमन के 19 कर्मचारी शामिल रहे। सफाई कर्मचारियों के धरने पर बैठने के चलते शहर के कई इलाकों में सफाई व्यवस्था प्रभावित हुई।

आंदोलन करने की दी चेतावनी

सर्व कर्मचारी संघ के ब्लॉक प्रधान वजीर सिंह सरोहा ने कहा कि सरकार को कर्मचारियों की मांगों पर सहानुभूति पूर्ण विचार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस बारे नगर पालिका सचिव को कई बार समस्याओं से अवगत करवाया गया है लेकिन अधिकारी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। सरोहा ने कहा कि यदि समय रहते सरकार व प्रशासन नहीं चेता तो कर्मचारियों का यह आंदोलन एक बड़े आंदोलन का रूप ले लेगा।

X
थर्मल के खाली इलाके में पेड़-पौधों में लगी आग, एक घंटे में छह गाड़ियों ने पाया काबू
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..