• Home
  • Haryana News
  • Barwala
  • चमारखेड़ा के ग्रामीणों ने खुद की जलघर के टैंकों की सफाई
--Advertisement--

चमारखेड़ा के ग्रामीणों ने खुद की जलघर के टैंकों की सफाई

गांव चमार खेड़ा जलघर के वाटर टैंकों में गंदगी भरी हुई थी। जलापूर्ति विभाग ने लंबे समय से वाटर टैंकों की सफाई नहीं...

Danik Bhaskar | May 15, 2018, 03:10 AM IST
गांव चमार खेड़ा जलघर के वाटर टैंकों में गंदगी भरी हुई थी। जलापूर्ति विभाग ने लंबे समय से वाटर टैंकों की सफाई नहीं करवाई। इससे नाराज ग्रामीणों ने एकत्रित होकर स्वयं ही वाटर टैंकों की सफाई कर दी। वहीं ग्रामीणों ने ऐलान किया है कि यदि जलापूर्ति विभाग के अधिकारियों ने भविष्य में अपना रवैया नहीं सुधारा तो वे आंदोलन करने से भी गुरेज नहीं करेंगे।

वाटर टैंकों की सफाई के लिए किसान, मजदूर व महिलाओं ने एकजुटता दिखाते हुए दिन भर टैंकों से गंदगी निकाली। अखिल भारतीय किसान सभा के तहसील प्रधान दयानंद ढुकिया व अन्य ग्रामीणों ने बताया कि जल घर के वाटर टैंकों में वर्षों से गाद जमी हुई थी।

अधिकारियों को कई बार इस बारे अवगत करवाया लेकिन कोई कदम नहीं उठाया गया। ग्रामीणों ने कहा कि उन्हें टैंकों से दूषित पानी की सप्लाई मिल रही थी। इसके कारण लोग बीमारियों के शिकार होते जा रहे हैं। विभाग द्वारा कोई कदम नहीं उठाने के चलते ग्रामीणों द्वारा खुद टैंकों की सफाई का निर्णय लेना पड़ा। ग्रामीणों ने कहा कि प्रशासनिक सिस्टम इतना कमजोर हो चुका है लोगों को अपनी बुनियादी सुविधाओं के लिए खुद कदम उठाने को मजबूर होना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने साफ तौर पर कहा है कि यदि जलापूर्ति विभाग के अधिकारियों ने अब दूषित पानी की सप्लाई की ग्रामीण धरना प्रदर्शन करने से पीछे नहीं हटेंगे।