• Home
  • Haryana News
  • Barwala
  • स्वास्थ्य विभाग की टीम को मेडिकल स्टोर पर ना रिकॉर्ड मिला और ना फार्मासिस्ट, तीन पार्टनर मकान मालिक के साथ मिल चला रहे थे कारोबार
--Advertisement--

स्वास्थ्य विभाग की टीम को मेडिकल स्टोर पर ना रिकॉर्ड मिला और ना फार्मासिस्ट, तीन पार्टनर मकान मालिक के साथ मिल चला रहे थे कारोबार

हेल्थ डिपार्टमेंट ने सोमवार को गांव ढाणी मीरदाद के बस अड्डे पर स्थित मेडिकल स्टोर पर छापा मार कर भारी संख्या में...

Danik Bhaskar | Jun 05, 2018, 03:15 AM IST
हेल्थ डिपार्टमेंट ने सोमवार को गांव ढाणी मीरदाद के बस अड्डे पर स्थित मेडिकल स्टोर पर छापा मार कर भारी संख्या में गर्भपात के लिए प्रयोग की जाने वाली एमटीपी किट व नशीली दवाइयां बरामद की। स्टोर के साथ लगते एक मकान से भी टीम को काफी संख्या में प्रतिबंधित दवाएं मिली हैं। मेडिकल स्टोर को अलग-अलग गांवों के तीन लोग मिल कर चला रहे है। तीनों ने इस काम में मकान मालिक को भी साथ मिलाया हुआ है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मौके पर पहुंची पुलिस को मेडिकल स्टोर पर मौजूद गांव खरक पूनिया निवासी संदीप पूनिया को काबू कर पुलिस के हवाले कर दिया। वहीं मेडिकल स्टोर को भी स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सील किया है।

पुलिस ने डिप्टी सिविल सर्जन डॉ.तेज पाल शर्मा की शिकायत पर संदीप पूनिया उर्फ काला, गांव किरोड़ी निवासी काली चरण, बरवाला की पासा कॉलोनी निवासी शिव कुमार व मकान मालिक ढाणी मीरदाद निवासी तिलक राज के खिलाफ एनडीपीएस, एमटीपी एक्ट व ड्रग एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम में मुख्य रूप से डिप्टी सिविल सर्जन डॉ.तेज पाल शर्मा, ड्रग कंट्रोलर डॉ.सुरेश चौधरी, डॉ.रमन श्योराण, डॉ.अनिल आहुजा आिद शामिल थे।

स्टोर के साथ वाले मकान से भी मिलीं दवाएं

एमटीपी किट समेत नशीली दवाओं का जखीरा पकड़ा

बरवाला. मेडिकल स्टोर से बरामद नशीली दवाइयां।

बरामद दवाओं को सील करतीं स्वास्थ्य विभाग की टीम।

टीम को तूडी़ वाले कमरे में मिली ंप्रतिबंधित दवाएं

डॉ.सुरेश चौधरी ने बताया कि विभाग की टीम को सूचना मिली थी कि ढाणी मीरदाद में एक मेडिकल स्टोर पर एमटीपी किट व अन्य प्रतिबंधित दवाइयां बेची जा रही हैं। सूचना के आधार पर विभाग की एक टीम का गठन किया गया। टीम में शामिल एक सदस्य को 500 रुपयों का नोट देकर एमटीपी किट फर्जी ग्राहक बनाकर एसके मेडिकोज पर भेजा गया। स्टोर पर मौजूद संदीप पूनिया ने उक्त व्यक्ति से 500 रुपये लेकर एमटीपी किट दे दी। इशारा मिलने पर छापा मार दिया। तलाशी ली गई तो 100 एमटीपी किट व प्रतिबंधित दवाइयां व इंजेक्शन मिले। पुलिस को बुलाया गया। डॉ.सुरेश चौधरी ने बताया कि जब संदीप से पूछताछ की तो उसने मेडिकल स्टोर के साथ लगते मकान के तूड़ी वाले कमरे सहित अन्य कमरों में भी दवाइयां रखी हैं। मकान की तलाशी ली तो यहां भी प्रतिबंधित दवाइयां मिलीं। मेडिकल स्टोर से 18730 एलप्राजोलम , 5370 ट्रामाडोल, 2130 लोराजिपॉम, 730 क्लोराजिपॉम, 5880 लोमोटिन सहित 22 प्रकार की अन्य दवाइयां मिली हैं।