Hindi News »Haryana »Barwala» स्वास्थ्य विभाग टीम ने मारा छापा, न रिकाॅर्ड और न फार्मासिस्ट, 101 एमटीपी किट व नशीली दवाएं बरामद

स्वास्थ्य विभाग टीम ने मारा छापा, न रिकाॅर्ड और न फार्मासिस्ट, 101 एमटीपी किट व नशीली दवाएं बरामद

भास्कर न्यूज |बरवाला/सुलखनी हेल्थ डिपार्टमेंट ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए क्षेत्र के गांव ढाणी मीरदाद...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 05, 2018, 04:10 AM IST

स्वास्थ्य विभाग टीम ने मारा छापा, न रिकाॅर्ड और न फार्मासिस्ट, 101 एमटीपी किट व नशीली दवाएं बरामद
भास्कर न्यूज |बरवाला/सुलखनी

हेल्थ डिपार्टमेंट ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए क्षेत्र के गांव ढाणी मीरदाद के बस अड्डे पर चल रहे मेडिकल स्टोर पर छापा मार कर भारी संख्या में गर्भपात के लिए प्रयोग की जाने वाली एमटीपी किट व नशीली दवाइयां बरामद की। स्टोर के साथ लगते एक मकान से भी टीम को काफी संख्या में प्रतिबंधित दवाएं मिली हैं। मेडिकल स्टोर को अलग-अलग गांवों के तीन लोग मिल कर चला रहे थे। तीनों ने इस काम में मकान मालिक को भी साथ मिलाया हुआ था। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मौके पर पहुंची पुलिस को मेडिकल स्टोर पर मौजूद गांव खरक पूनिया निवासी संदीप पूनिया को काबू कर पुलिस के हवाले कर दिया है। वहीं मेडिकल स्टोर को भी स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सील किया है।

पुलिस ने डिप्टी सिविल सर्जन डॉ.तेज पाल शर्मा की शिकायत पर संदीप पूनिया उर्फ काला, गांव किरोड़ी निवासी काली चरण, बरवाला की पासा कॉलोनी निवासी शिव कुमार व मकान मालिक ढाणी मीरदाद निवासी तिलक राज के खिलाफ एनडीपीएस, एमटीपी एक्ट व ड्रग एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम में मुख्य रूप से डिप्टी सिविल सर्जन डॉ.तेज पाल शर्मा, ड्रग कंट्रोलर डॉ.सुरेश चौधरी, डॉ.रमन श्योराण, डॉ.अनिल आहुजा सहित अन्य अधिकारी शामिल थे।

डॉ.सुरेश चौधरी ने बताया कि विभाग की टीम को सूचना मिली थी कि ढाणी मीरदाद में एक मेडिकल स्टोर पर एमपीटी किट व अन्य प्रतिबंधित दवाइयां बेची जा रही हैं। सूचना के आधार पर विभाग की एक टीम का गठन किया गया। टीम में शामिल एक सदस्य को 500 रुपयों का नोट देकर एमपीटी किट फर्जी ग्राहक बनाकर एसके मेडिकोज पर भेजा गया। स्टोर पर मौजूद संदीप पूनिया ने उक्त व्यक्ति से 500 रुपये लेकर एमपीटी किट दे दी। इशारा मिलने पर टीम ने स्टोर पर छापा मार दिया। इस दौरान जब स्टोर की तलाशी ली गई तो 100 एमपीटी किट व प्रतिबंधित दवाइयां व इंजेक्शन मिले। मामले की सूचना पुलिस को देकर मौके पर बुलाया गया। डॉ.सुरेश चौधरी ने बताया कि जब संदीप पूनिया ने पूछताछ की गई तो उसने मेडिकल स्टोर के साथ लगते मकान के तूड़ी वाले कमरे सहित अन्य कमरों में भी दवाइयां रखी हैं। टीम ने मकान की तलाशी ली तो यहां काफी संख्या में प्रतिबंधित दवाइयां बरामद हुई। स्वास्थ्य विभाग की टीम को मेडिकल स्टोर से 18730 एलप्राजोलम , 5370 ट्रामाडोल, 2130 लोराजिपॉम, 730 क्लोराजीपॉम, 5880 लोमोटिन सहित 22 प्रकार की अन्य दवाइयां मिली हैं। डॉ.तेज पाल शर्मा ने बताया कि मेडिकल स्टोर पर ना ही तो कोई लाइसेंस मिला और ना ही यहां कोई फार्मासिस्ट था। उन्होंने कहा कि एसके मेडिकोज को संदीप पूनिया, कालीचरण व शिव कुमार अपने पार्टनरशिप के लाइसेंस पर चला रहे थे। दुकान को सील कर दिया गया है व इसके लाइसेंस को रद्द करने की सिफारिश की जाएगी।

मेडिकल स्टाेर में छापेमारी के दौरान रिकाॅर्ड चेक करती स्वास्थ्य विभगा की टीम।

कई मेडिकल संचालक हो गई भूमिगत

मेडिकल स्टोर पर मारे गए छापे के दौरान क्षेत्र में हड़कंप मच गया। इस दौरान फोन से मैसेज मिल गया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम ने ढाणी मीरदाद में मेडिकल स्टोर पर छापा मारा हुआ है। कई मेडिकल स्टोर संचालक अपने मेडिकल स्टोर को बंद करके फरार हो गए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Barwala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×