--Advertisement--

बिना मान्यता वाले 3 स्कूल सील

जिले में बिना मान्यता वाले 99 स्कूलों को बंद कराने के डीसी के निर्देशों के बाद शिक्षा विभाग ने कार्यवाही शुरू कर दी...

Danik Bhaskar | Mar 08, 2018, 03:05 AM IST
जिले में बिना मान्यता वाले 99 स्कूलों को बंद कराने के डीसी के निर्देशों के बाद शिक्षा विभाग ने कार्यवाही शुरू कर दी है। इसमें बावल के ज्ञानदीप स्कूल, धारूहेड़ा के शारदा पब्लिक स्कूल व जानकी देवी पब्लिक स्कूल को बंद कर दिया गया। वहीं बाकी स्कूलों को बंद कराने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा जल्द ही कार्यवाही की जाएगी।

बुधवार को जिला उपायुक्त को दी रिपोर्ट में डीईईओ सुरेश गोरिया ने यह जानकारी दी। बता दें कि जिले में नर्सरी से पांचवीं, प्रथम से पांचवीं, प्रथम से आठवीं, नर्सरी से यूकेजी, नर्सरी से छठी, नर्सरी से चौथी, प्री-नर्सरी से नर्सरी, प्रथम से सातवीं, प्री से एलकेजी, प्री-नर्सरी से दूसरी, प्री-नर्सरी से प्रथम, प्री-नर्सरी से द्वितीय, प्री नर्सरी से तृतीय, नर्सरी से तृतीय कक्षा तक के 99 स्कूल बिना मान्यता के चलाए जा रहे हैं। डीसी ने इन स्कूलों को बंद कराने के लिए 22 फरवरी को निर्देश दिए गए थे। वहीं स्कूलों को बंद कराते समय कोई अनहोनी घटना न हो इसके लिए डीसी ने दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा- 22 व 23 में निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए जिला में पांच डयूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किए हुए हैं।

इनमें नायब तहसीलदार बावल बनवारी लाल, नायब तहसीलदार मनेठी कन्हैया लाल, नायब तहसीलदार धारूहेड़ा राजबीर सिंह, नायब तहसीलदार रेवाड़ी अजीत सिंह व मनीष कुमार तहसीलदार रेवाड़ी शामिल हैं। जबकि एसडीएम रेवाड़ी व एसडीएम बावल को पूरी कार्यवाही का ओवरऑल इंचार्ज बनाया गया है।