Hindi News »Haryana »Bawal» कर्मियों पर लगाए मारपीट के आरोप, सीडब्ल्यूसी करेगी जांच

कर्मियों पर लगाए मारपीट के आरोप, सीडब्ल्यूसी करेगी जांच

सरकुलर रोड स्थित आस्था कुंज अनाथालय से सोमवार सुबह 5 बच्चे खिड़की का सरिया तोड़कर भाग निकले। हालांकि करीब 10 घंटे बाद...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 06, 2018, 03:05 AM IST

सरकुलर रोड स्थित आस्था कुंज अनाथालय से सोमवार सुबह 5 बच्चे खिड़की का सरिया तोड़कर भाग निकले। हालांकि करीब 10 घंटे बाद बच्चे बावल रोड स्थित भवाड़ी चौक के पास घूमते हुए मिल गए। बच्चों ने कर्मियों पर मारपीट के आरोप लगाए। आस्था कुंज में 36 बच्चे रहते हैं। सोमवार सुबह करीब 5 बजे पांच बच्चों ने खिड़की का एक सरिया की वेल्डिंग तोड़ दी तथा वहां से निकलकर भाग निकले। बच्चों का कहीं पता नहीं लगा तो पुलिस को शिकायत दी गई। गोकलगेट चौकी पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की। दोपहर करीब 3.30 बजे बावल रोड पर गांव भवाड़ी के पास घूमते हुए मिल गए। कमेटी की पूछताछ के बाद बच्चों को वापस आस्था कुंज ही छोड़ दिया गया। जो बच्चे आस्था कुंज से भागे उनके उम्र 8 से 12 साल के बीच है। इनमें से दो बच्चे तो दूसरी कक्षा में पढ़ भी रहे हैं। बाकी तीन बच्चों का स्कूल छूटा हुआ है, उन्हें आस्था कुंज में ही कोचिंग देकर पढ़ाया जाता है।

कमेटी सदस्यों के सामने आते ही रो पड़े बच्चे, की शिकायत पुलिस बयान करने के लिए चाइल्ड वेलफेयर कमेटी चेयरपर्सन नलिनी यादव, सदस्या उपासना गुप्ता व राकेश भार्गव के समक्ष बच्चों काे लेकर पहुंचे। यहां पहुंचते ही बच्चे रो पड़े। कमेटी सदस्यों ने पूछताछ की तो उन्होंंने कहा कि आस्था कुंज में उनके साथ मारपीट की जाती है। चेयरपर्सन ने कहा कि मामले की जांच की जाएगी। जांच के आधार पर ही आगे की कार्रवाई होगी। लापरवाही मिली तो कर्मचारियों पर एक्शन लेंगे।

मारपीट की बात गलत पूरी देखभाल कर रहे

बच्चों से मारपीट किए जाने की बात गलत है। आस्था कुंज में उन्हें पूरी देखभाल के साथ रखा जाता है। उनकी पढ़ाई भी कराई जाती है। हो सकता है कि भागने पर डांट के डर से बच्चों ने इमोशनल होकर ऐसा बोला हो। फिर भी वे खुद अपने स्तर पर भी बच्चों से पूछताछ करेंगी, किसी कर्मी द्वारा मारपीट की गई होगी तो कार्रवाई होगी। - मुग्धा यादव, अधीक्षक, आस्था कुंज।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bawal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×