• Hindi News
  • Haryana
  • Bawal
  • सालभर से बंद बावल स्टेडियम में शुरू होगा खो खो का सेंटर
--Advertisement--

सालभर से बंद बावल स्टेडियम में शुरू होगा खो-खो का सेंटर

Bawal News - दिल्ली रोड स्थित राव तुलाराम स्टेडियम में खो-खो ट्रेनिंग की शुरूआत के बाद अब बावल के मिनी खेल स्टेडियम में भी...

Dainik Bhaskar

Mar 26, 2018, 03:05 AM IST
सालभर से बंद बावल स्टेडियम में शुरू होगा खो-खो का सेंटर
दिल्ली रोड स्थित राव तुलाराम स्टेडियम में खो-खो ट्रेनिंग की शुरूआत के बाद अब बावल के मिनी खेल स्टेडियम में भी बच्चों को इस खेल में पारंगत किया जाएगा।

इसके लिए खेल विभाग की ओर से कोच रतन कुमार की यहां ड्यूटी लगाई गई है। बावल में बच्चों को इस खेल का सप्ताह में तीन दिन प्रशिक्षण मिलेगा। ट्रेनिंग शुरू करने के लिए स्टेडियम में पोल लगवा दिए गए हैं और मैदान की सफाई भी की जा चुकी है। एक अप्रैल से खेल का प्रशिक्षण शुरू कर दिया जाएगा। बावल कस्बे में खेल विभाग की ओर से एक साल पहले लगभग साढ़े 4 एकड़ में मिनी खेल स्टेडियम का निर्माण कराया गया था। इसमें 92 लाख रुपए की लागत आई थी और इसमें खेल के लिए बास्केटबॉल कोर्ट, एथलेटिक्स ट्रैक व अन्य मैदान बनाए गए थे, लेकिन देखरेख न होने से इसकी हालत खस्ता होने लगी थी। बास्केटबॉल कोर्ट में लगी जालियां तक गायब हो गई। कई जगह इस कोर्ट में दरार भी पड़नी शुरू हो गई है। लेकिन अब कोच के लगने से इस मैदान की दशा सुधरने की उम्मीद है।

खेल -खिलाड़ी

रेवाड़ी के बाद खुल रहा है सेंटर, सप्ताह में तीन दिन प्रतिभाओं को मिलेगी खो-खो की ट्रेनिंग

रेवाड़ी. बावल स्थित राजीव गांधी खेल स्टेडियम।

बावल क्षेत्र के बच्चों को मिलेगा फायदा: खेल परिसर में कोच की नियुक्ति होने से बावल क्षेत्र के विभिन्न स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को फायदा मिलेगा। वे इस परंपरागत खेल में पारंगत हो सकेंगे। अभी इस क्षेत्र के बच्चों को खेलों में प्रशिक्षण लेने के लिए रेवाड़ी आना पड़ता था, लेकिन अब उनको घर के निकट ही ट्रेनिंग मिल सकेगी। खो-खो कोच के लगने से वहां दूसरे खेलों के बच्चे भी ट्रेनिंग कर सकेंगे।

ये बनाया गया शेड्यूल

कोच रतन कुमार ने बताया कि सोमवार, मंगलवार व बुधवार को रेवाड़ी राव तुलाराम स्टेडियम में खो-खो की ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके बाद गुरुवार, शुक्रवार व शनिवार को बावल के मिनी खेल परिसर में बच्चों को इस खेल में प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि स्कूल खुलने के बाद 1 अप्रैल से प्रशिक्षण शुरू हो जाएगा। रेवाड़ी में उनके पास अभी 25 बच्चे आ रहे हैं।

चौकीदार व ग्राउंड टेकर नहीं

बावल के मिनी स्टेडियम में अभी न तो कोई चौकीदार है और न ही कोई ग्राउंड टेकर है। ऐसे में स्टेडियम की हालत खस्ता हो चली है। अब यहां चौकीदार व ग्राउंड टेकर लगाने के लिए भी खेल विभाग को लिखा गया है।

X
सालभर से बंद बावल स्टेडियम में शुरू होगा खो-खो का सेंटर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..